२०१७ में कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा जोधपुर एअरपोर्ट पर रामदेव बाबा के विरोध के वीडियो को वर्तमान में वायरल किया जा रहा है |

Missing Context National

सोशल मीडिया पर योग गुरु बाबा रामदेव का एक वीडियो वायरल हो रहा है | इस वीडियो में एक एअरपोर्ट पर बाबा रामदेव का विरोध होते देखा जा सकता है , इस वीडियो के माध्यम से ये दावा किया जा रहा है कि यह घटना राजस्थान के जोधपुर एअरपोर्ट से है जहाँ भीड़ द्वारा बाबा का विरोध करने पर बाबा को एअरपोर्ट से वापस लौटना पड़ा |

पोस्ट के कैप्शन में लिखा गया है कि 

जोधपुर में बाबा के खिलाफ लगे नारे अब क्यों नहीं बोलते कालेधन और महंगाई के खिलाफ, UPA के टाइम पर कालेधन के खिलाफ रामदेव बाबा ने बेडा उठाया था, रामदेव को एयरपोर्ट से ही वापिस लौटना पड़ा | 

(शब्दशः)

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच कर पाया कि वायरल हो रहे वीडियो को सन्दर्भ के बहार फैलाया जा रहा है | यह वीडियो २०१७ की है जब रामदेव बाबा का विरोध जोधपुर के एअरपोर्ट पर किया गया था हालांकि ये विरोध कोंग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा किया गया था और बाबा रामदेव के एअरपोर्ट से वापस लौटने की ख़बर गलत है |

जाँच की शुरुआत हमने इस वीडियो को इन्विड टूल की मदद से गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च करने से की, जिसके परिणाम से हमें यह वीडियो यूट्यूब पर १ अक्टूबर २०१७ को अपलोड किया हुआ मिला | इस वीडियो के कैप्शन में लिखा गया है कि रामदेव बाबा का जोधपुर में विरोध किया गया, लोगों ने काले धन को वापस करने की मांग की |

आगे हमने गूगल पर कीवर्ड सर्च किया जिसके परिणाम से सिआसत द्वारा प्रकाशित न्यूज़ रिपोर्ट का आर्काइव वर्शन मिला | इस रिपोर्ट में हम वायरल वीडियो को एक दुसरे एंगल से देख सकते है| रिपोर्ट के अनुसार पतंजलि कंपनी के संस्थापक रामदेव बाबा का जोधपुर एअरपोर्ट में भीड़ द्वारा विरोध किया गया | रामदेव बाबा उस समय राजस्थान के अलवर में पतंजलि विलेज इंडस्ट्री का उद्घाटन करने के लिए आये थे | वह जैसे ही एअरपोर्ट से बहार निकले उन्हें भीड़ का सामना करना पड़ा जिन्होंने उन्हें काला धन वापस लाने के लिए कहा |

२८ सितंबर २०१७ को प्रकाशित अमर उजाला की खबर के अनुसार जोधपुर एअरपोर्ट में बाबा रामदेव का विरोध करनेवाले लोग कांग्रेस के कार्यकर्ता थे जिन्होंने बाबा रामदेव को देखकर काले धन को वापस लाने सहित कुछ मुद्दों पर सवाल उठाए और नारेबाजी शुरू कर दी, बाबा रामदेव ने इस विरोध के बाबजूद अपने तयशुदा कार्यक्रम में शिरकत की थी।

निष्कर्ष:

तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को सन्दर्भ के बहार फैलाते हुए पाया है | सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो वर्तमान का नही है बल्कि २०१७ का है | यह वीडियो २०१७ का राजस्थान से है जब रामदेव बाबा जोधपुर एअरपोर्ट में पतंजलि विलेज इंडस्ट्री का उद्घाटन करने आये थे |

Avatar

Title:२०१७ में कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा जोधपुर एअरपोर्ट पर रामदेव बाबा के विरोध के वीडियो को वर्तमान में वायरल किया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: Missing Context

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply