समकालीन अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन को खरी-खोटी सुना रहे पूर्व सैनिक का वीडियो वर्ष २०२० से है।

False International Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

वर्ष 2001 से चल रहे अमेरिका- अफगानिस्तान युद्ध को इस वर्ष 31 अगस्त तक खत्म करने का निर्णय अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने लिया है। इसी पृष्ठ भूमि को लेकर के सोशल मंचों पर एक वीडियो काफी वायरल हो रहा है जिसमें आप राष्ट्रपति बाइडेन को कई लोगों की भीड़ में एक शख्स से बात करते हुये देख सकते है। इस वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि अमेरिका- अफगानिस्तान युद्ध को खत्म करने की खुशी में जो बाइडेन द्वारा एक डिनर पार्टी रखी गयी व वहां एक सैनिक ने उन्हें खुब खरी-खोटी सुनायी। वीडियो में आप सुन सकते है कि वह शख्स राष्ट्रपति बाइडेन को अफगानिस्तान व इराक युद्ध का ज़िम्मेदार ठहरा रहा है व युद्ध में अपने दोस्तों को खोने की बात कह रहा है व पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से राष्ट्रपति बाइडेन की तुलना कर रहा है।

वायरल हो रहे पोस्ट के शीर्षक में लिखा है, 

अफगानिस्तान से लौटे अमरीकी सैनिकों ने एक कार्यकम के दौरान राष्ट्रपति जो बाईडन को सुनाई खूब खरी खोटी, भागा जो बाईडनअफ़ग़ानिस्तान से लौटे अमेरिकी वायु सेना के एक अधिकारी ने डिनर पार्टी में अमेरिकी राष्ट्रपति की सवालों से धुलाई कर दी। यह तुम्हारा युद्ध था। यह सब ग़लत था। आपने अफ़ग़ानिस्तान और इराक में निर्दोष नागरिकों को मार डाला। आपने हमारे हज़ारों सैनिकों को मार डाला। आप उन्हें मारने के लिए ज़िम्मेदार हैं। आप अक्षम, अक्षम, अक्षम हैं, अमेरिकी राष्ट्रपति कार्यक्रम में सवालों से भागने में कामयाब रहे।“

फेसबुक | आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान पाया कि वायरल हो रहा वीडियो वर्ष 2020 का है जब जो बाइडेन अमेरिका के राष्ट्रपति पद के उम्मीद्वार थे उसी दौरान एक पूर्व सैनिक ने उन्हें अमेरिका-अफगानिस्तान व इराक युद्ध के सम्बन्ध में खरी-खोटी सुनाई थी। इस वीडियो का वर्तमान से कोई सम्बन्ध नहीं है।

जाँच की शुरुवात हमने वायरल हो रहे दावे को गूगल पर कीवर्ड सर्च कर की, परंतु हमें ऐसा कोई विश्वसनीय समाचार लेख नहीं मिला जो इस बात की पुष्टि करता हो कि वर्तमान में अमेरिकी सैनिकों के अफगानिस्तान युद्ध से लौटने पर राष्ट्रपति जो बाइडेन ने एक डिनर पार्टी का आयोजन किया, जिसमें एक सैनिक ने उन्हें खरी खोटी सुनाई।

इसके बाद हमने वायरल हो रहे वीडियो की जाँच इनवीड-वी वैरिफाइ टूल के माध्यम से छोटे कीफ्रेम्स में काटकर गूगल रिवर्स इमेज सर्च किया, परिणाम में हमें यही वीडियो 6 मार्च 2020 को जिल स्टेन नामक एक कार्यकर्ता व ग्रीन पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार (2012 और 2016) के आधिकरिक फेसबुक पेज पर प्रसारित किया हुआ मिला। इस पोस्ट के शीर्षक में लिखा है, “इराक के दिग्गजों से बिडेन का सामना। इराक युद्ध के लिए उनके समर्थन के बारे में दिग्गजों ने बिडेन का सामना किया: “हमारे दोस्त मर चुके हैं। उनका खून के लिये आप जिम्मेदार है।” जो ने उनसे मुंह मोड़ लिया। यही कारण है कि बिल क्रिस्टोल, डेविड फ्रुम और कार्ल रोव जैसे नियोकॉन वार्मॉन्गर्स जो के पीछे खड़े हैं – और लाखों अमेरिकी ऐसा क्यों नहीं करेंगे।

फेसबुक | आर्काइव लिंक

उपरोक्त पोस्ट से हमें यह समझ आया कि वायरल हो रहा वीडियो वर्तमान का नहीं है व इसका वर्तमान में अफगानिस्तान से लौट रहे सैनिकों से कोई सम्बन्ध नहीं है। 

इसके बाद फेसबुक पोस्ट में दी गयी जानकारी को ध्यान में रखते हुये हमने यूट्यूब पर कीवर्ड सर्च किया, परिणाम में हमें टी.आर.टी वर्ल्ड द्वारा उनके आधिकारिक चैनल पर 4 मार्च 2020 को यह वीडियो प्रसारित किया हुआ मिला। 

इस वीडियो के शीर्षक में लिखा है, “युद्ध का समर्थन करने के उनके रिकॉर्ड को लेकर अमेरिकी दिग्गजों ने जो बिडेन का सामना किया व इसके नीचे दी गयी जानकारी में लिखा है, ““आपने उस युद्ध को सक्षम किया। इराक में लाखों लोग मारे गए हैं। उनका खून तुम्हारे हाथों पर है!” कैलिफोर्निया में एक अभियान के ठहराव के दौरान इराक और अफगानिस्तान में युद्ध का समर्थन करने के अपने रिकॉर्ड को लेकर दो दिग्गजों ने अमेरिकी राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बिडेन का सामना किया।

आर्काइव लिंक

तदनंतर इस वीडियो के बारे में अधिक जानकारी हासिल करने हेतु हमने गूगल पर अधिक कीवर्ड सर्च किया, नतीजन हमें 5 मार्च 2020 को इंडिपेंडेंट द्वारा प्रकाशित किया हुआ एक समाचार लेख मिला। इस लेख अनुसार,

3 मार्च 2020 को अमेरिका में स्थित कैलिफोर्निया के ओकलैंड में एक अभियान कार्यक्रम के दौरान, माइकल थुरमन नामक एक पूर्व सैनिक, जो अबाउट फेस: वेटरन्स अगेंस्ट द वॉर के सदस्य हैं, उन्होंने इराक युद्ध के लिए समर्थन देने के लिये पूर्व उपराष्ट्रपति रह चुके जो बाइडेन का सामना किया। थुरमन ने बाइडेन से पूछा कि, “हम बस सोच रहे हैं कि हमें किसी ऐसे व्यक्ति को वोट क्यों देना चाहिए जिसने युद्ध के लिए मतदान किया और एक युद्ध को सक्षम किया जिसने हमारे हजारों भाइयों और बहनों व अनगिनत इराकी नागरिकों को मार डाला।”

इसके बाद थुरमन ने बाइडेन को पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश को 2018 में वयोवृद्ध दिवस पर लिबर्टी मेडल से सम्मानित करने के लिये भी आलोचना की, जिन्होंने अपने दो कार्यकाल के राष्ट्रपति पद के दौरान युद्ध के प्रयास का नेतृत्व किया था।

आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल हो रहे वीडियो के साथ जो दावा वायरल  हो रहा है वह गलत है। वायरल हो रहा वीडियो वर्ष 2020 का है जब जो बाइडेन अमेरिका के राष्ट्रपति पद के उम्मीद्वार थे उसी दौरान एक पूर्व सैनिक ने उन्हें अमेरिका-अफगानिस्तान व इराक युद्ध के सम्बन्ध में खरी-खोटी सुनाई। इस वीडियो का वर्तमान से कोई सम्बन्ध नहीं है।

फैक्ट क्रेसेंडो द्वारा किये गये अन्य फैक्ट चेक पढ़ने के लिए क्लिक करें :

१. वर्तमान में कोरोना प्रोटोकॉल के चलते बाबा बैद्यनाथ (बाबाधाम) को आम जन के दर्शनों के लिए नहीं खोला गया है..

२. क्या प्रधानमंत्री मोदी के अरबों के बंगले पर रेड पड़ी है? क्या इस खबर का खुलासा पुण्य प्रसून बाजपाई कर रहे है? जानिये सच…

३. उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत का भा.ज.पा से बगावत कर कांग्रेस में शामिल होने की ख़बर फर्जी है|

Avatar

Title:समकालीन अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन को खरी-खोटी सुना रहे पूर्व सैनिक का वीडियो वर्ष २०२० से है।

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply