क्या बंगाल में मुसलमान समूह हिन्दुओं को भगाते हुए दिख रहे है?

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

१७ मई २०१९ को विपिन खुराना सावरकर नामक एक फेसबुक यूजर ने एक विडियो पोस्ट किया | विडियो के शीर्षक में लिखा गया कि कश्मीर की तरह, बंगाल से हिन्दुओ को भगाते मुस्लिम |
भागते हिन्दू, लाचार पुलिस जलते मकान देखलो | जिसने कश्मीर न देख हो वो बंगाल देख लो | #सबका_साथ_सबका_विकास |” विडियो हम मुसलमान लोगों के एक समूह को दुसरे लोगों पर पत्थर फेंकते हुए देख सकते है | विडियो के माध्यम से यह दावा किया जा रहा है कि यह दृश्य बंगाल का है जहाँ मुसलमान हिन्दुओं पर इस तरह अत्याचार करते है | साथ ही उनका घर भी जला देते है | यह विडियो सोशल मीडिया पर काफ़ी चर्चा में है |

आर्काइव लिंक

यह विडियो ऐसे समय में आया है जब हाल ही में कोलकाता में भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह के एक रोड शो के दौरान हिंसक विरोध प्रदर्शन के बाद पश्चिम बंगाल में तनाव का माहोल है | जिस वजह से आजकल कई पुरानी और असंबंधित तस्वीरें व विडियो को बंगाल के संदर्भ में साझा किया जा रहा है | इसीलिए हमने इस विडियो की सच्चाई जानने की कोशिश की |

संशोधन से पता चलता है कि..

जांच की शुरुआत हमने इस विडियो का स्क्रीनशॉट लेकर गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने से की | परिणाम से हमें फेसबुक फ़िल्टर नामक यू-ट्यूब यूजर द्वारा अपलोड किया गया विडियो मिला |

यह विडियो १ दिसंबर २०१८ को अपलोड किया गया था और इसके शीर्षक में लिखा गया है कि “तोंगी तब्लीगी जमात से दुखी साहेब तब्लीक्स १ दिसंबर भाग-३” | बता दें कि, तोंगी बांग्लादेश में स्थित एक शहर का नाम है | इससे हम स्पष्ट हो सकते है कि यह घटना बांग्लादेश में हुई थी |

इसके पश्चात हमने इस हैडलाइन से जुडी खबरें ढूँढने की कोशिश की | १ दिसंबर २०१८ को ढाका ट्रिब्यून द्वारा प्रकाशित खबर के अनुसर बिश्वा इज्तेमा (ग्लोबल कांग्रेजेशन) के समय तब्लीगी जमात के दो गुटों के बीच झड़पें हुए, जिसमें एक आदमी की जान चली गई और २०० से ज्यादा लोग घायल हो गए | बिश्वा इज्तेमा बांग्लादेश के टोंगी में मुसलमानों का एक गैर-राजनीतिक वार्षिक सभा का नाम है | प्रार्थना सभा तीन दिन तक चलती है, जहाँ दुनिया भर के मुसलमानों को बांग्लादेश के टोंगी शहर में आते हुए देखा जा सकता है | तब्लीग पर बांग्लादेश के अध्याय के दो समूहों में विभाजित होने के बाद से इस तरह की झड़पें हो रही थीं | यह झड़पें जमात के शीर्ष नेताओं के बीच मतभेदों को लेकर थीं |

आर्काइव लिंक

इन झड़पों को लेकर अधिक जानकारी प्राप्त करने लिए २ दिसंबर २०१८ को ढाका ट्रिब्यून द्वारा प्रकाशित खबर पर क्लिक करे |

आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों की जांच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | यह विडियो २०१८ का है और बांग्लादेश में दो समुदाय के बीच हुए संघर्ष का विडियो है | इस विडियो के साथ बंगाल का कोई संबंध नहीं है |

Avatar

Title:क्या बंगाल में मुसलमान समूह हिन्दुओं को भगाते हुए दिख रहे है?

Fact Check By: Drabanti Ghosh 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •