क्या प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंदिर में जूते पहेनकर प्रवेश किया?

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

८ जून २०१९ को निलोत्पाल शुक्ला नामक फेसबुक यूजर ने एक तस्वीर पोस्ट की | तस्वीर के शीर्षक में लिखा गया है कि कहते हैं कुछ मुसलमानों को मंदिर में जूते पहनकर जाना मना होता है नहीं मालूम रहता..” | तस्वीर में हम प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को कुछ धार्मिक व्यक्तियों के साथ कहीं जाते हुए देख सकते है | नरेन्द्र मोदी के पैर में उनका जूता नज़र आ रहा है जबकि बाकी सारे लोग बिना जूते के चल रहे हैं | इस तस्वीर के माध्यम से दावा किया जा रहा है कि एकमात्र नरेन्द्र मोदी  मंदिर के अंदर जूते पहनकर गए थे | यह तस्वीर सोशल मीडिया में काफ़ी चर्चा में है | फैक्ट चेक किये जाने तक इस तस्वीर ने लगभग ३० प्रतिक्रियाएं प्राप्त की थी |

आर्काइव लिंक

क्या वास्तव मे नरेन्द्र मोदी मंदिर के अंदर जूते पहनकर गए थे जब बाकी सारे लोग नंगे पाँव गए थे | हमने इस तस्वीर की सच्चाई जानने की कोशिश की |

संशोधन से पता चलता है कि..

जांच की शुरुआत हमने इस तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज सर्च मे ढूंढ कर की | परिणाम से हमें ८ जून २०१९ को मातृभूमि द्वारा प्रकाशित खबर मिली | खबर के अनुसार नरेन्द्र मोदी उस दिन केरला के गुरुवायुर मंदिर में दर्शन के लिए गए थे | इस खबर के साथ वायरल तस्वीर भी संलग्न किया गया है | इस तस्वीर में हम नरेन्द्र मोदी को जूते पहने हुए देख सकते है |

आर्काइव लिंक

इसके पश्चात हमने यूट्यूब पर इस खबर के विडियो को कीवर्ड्स के माध्यम से ढूंढा | हमें परिणाम से मातृभूमि न्यूज़ द्वारा प्रकाशित विडियो मिला | विडियो के शीर्षक मे लिखा गया है कि “प्रधानमंत्री ने गुरुवायुर मंदिर में तुलाभारम व पूजा-अर्चना की |

इस विडियो को हमने watchframebyframe पर बारीकी से जांच की | हमने पाया कि १ मिनट ५७ सेकंड के फ्रेम में हम कुछ क्षण के लिए प्रधानमंत्री के पैर देख सकते है | हमने देखा कि वे जब मंदिर में प्रवेश कर रहे थे तब उनके पैरों में जूते नहीं थे | उन्होंने मंदिर में बिना जूतों के प्रवेश किया था |

इसी विडियो में ३ मिनट ९ सेकंड के फ्रेम में वे वापस बिना जूते के नज़र आते हैं | जब वे मंदिर के गर्ब गृह में प्रवेश करते है तो हम उन्हें बिना जूते के देख सकते है | इसका मतलब यह है कि उन्होंने अपने जूते प्रवेश करने से पहले निकाल दिया था |

हमें दूरदर्शन द्वारा प्रकाशित यूट्यूब विडियो मिला | उन्होंने नरेन्द्र मोदी के पुरे दर्शन को प्रसारित किया है | यह विडियो २६ मिनट ५९ सेकंड का है | इस विडियो में हम प्रधानमंत्री को उनके गेस्ट हाउस से निकलते वक्त से – उनके मंदिर के अंदर प्रदेश करते वक़्त व गेस्ट हाउस मे वापस आते वक्त की पुरी घटना को देख सकते है |

हमने इस विडियो को भी watchframebyframe का इस्तेमाल करके देखा | ३ मिनट ४९ सेकंड में हम प्रधानमंत्री को मंदिर में प्रवेश करने से पहले रूककर उनके जूते निकलते हुए देख सकते हैं |

इसके पश्चात १८ मिनट ४३ सेकंड पर हम मोदी जी को मंदिर मे तुलभारम नामक अनुष्ठान को पालन करते हुए देख सकते है | इस वक्त भी हमें उनके पैर पर जूते नहीं दिखे | यह अनुष्ठान मंदिर के अंदर हुआ था | उन्होंने मंदिर में तुलभारम अनुष्ठान करते हुए १११ किलोग्राम कमल के फूल का उपयोग किया | ‘तुलभारम’ एक ऐसा अनुष्ठान है जिसमे मंदिर के अंदर रखे एक बड़े तराज़ू के एक पल्ले में व्यक्ति को बिठाया जाता है और दुसरे पल्ले में उस व्यक्ति के वज़न के बराबर फूल, फल, अनाज आदि मांपा जाता हैं और फिर यह वास्तु देवता को चढ़ाया जाता है |

इसके पश्चात हम विडियो में पूजा ख़तम होने के पश्चात उनको मंदिर के बहार आते हुए देख सकते हैं | विडियो में २३ मिनट ४७ सेकंड में हम मोदी जी को मंदिर के बहार निकलते हुए व जूते पहनते हुए देख सकते है | इसके पश्चात वे अपने गेस्ट हाउस की तरफ आगे बढ़ते है |

इसके पश्चात हमने प्रधानमंत्री को वहां उपस्थित लोगों को नमस्कार करते हुए उनके गेस्ट हाउस के तरफ बढते हुए देखा | watchframebyframe में २३ मिनट ५६ सेकंड पर हम इस दृश को देख सकते हैं |

इसके पश्चात हमने मोदी जी के गेस्ट हाउस की तरफ जाने का दृश और वायरल तस्वीर के दृश की तुलना की | इससे हमने पाया कि वायरल तस्वीर असल में मोदी जी की मंदिर के बहार निकलने के बाद की है जिस वजह से उनके पैरों पर हम जूते देख सकते है | आप नीचे तुलना देख सकते है |

निष्कर्ष: तथ्यों के जांच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | मोदी जी मंदिर के अंदर जूते पहन के नहीं गए थे, उन्होंने मंदिर के बहार ही उनके जूते उतारे थे | वायरल तस्वीर उनके मंदिर से बहार निकलके गेस्ट हाउस के तरफ जाते वक़्त खींची गयी है |

Avatar

Title:क्या प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंदिर में जूते पहेनकर प्रवेश किया?

Fact Check By: Drabanti Ghosh 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •