एस.पी पटियाला के नाम से फर्जी विवादित बयान हुआ वायरल |

False National Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२६ नवम्बर २०१९ को “Aimim Baikunthpur” नामक फेसबुक पेज ने एक तस्वीर पोस्ट की थी, जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “एस.पी साब सच बोलने के लिए आपको सलाम करता हूँ |” तस्वीर एक पुलिस अधिअकरी का है जिनका नाम “हरमीत सिंह, एस.पी पटियाला” लिखा गया है | साथ ही तस्वीर के ऊपर उनके द्वारा दी गयी एक बयान भी साझा किया गया है | बयान में लिखा गया है कि “जहाँ मुसलामन ज्यादा है हमने कभी नही देखा वहां भीड़ ने किसी हिन्दू को मार दिया लेकिन जहाँ हिन्दुओं की संख्यां ज्यादा है वहां हर रोज़ मुसलमानों को मारा जाता है |” इस तस्वीर को सोशल मीडिया पर साझा करते हुए दावा किया जा रहा है कि उपरोक्त बयान तस्वीर में देखे गये पटियाला के एस.पी हरमीत सिंह ने दिया है | 

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जाँच की शुरुआत हमने इस तस्वीर का स्क्रीनग्रैब लेकर गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने से की जिसके परिणाम से हमें २१ अक्टूबर २०१७ को ANI के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट द्वारा किया गया एक ट्वीट मिला | ट्वीट में इस तस्वीर का इस्तेमाल करते हुए लिखा गया है कि “प्राथमिकी कल दर्ज की गई है | १२ लोगों की पहचान सोशल मीडिया पर घटना के वीडियो से हुई | उनमें से कुछ पथराव में शामिल थे- एस.एस.पी सोपोर” | इस ट्वीट के अनुसार तस्वीर में हम जम्मू और कश्मीर में सोपोर के एस.एस.पी को देख सकते है |

आर्काइव लिंक 

इसके पश्चात हमने उपरोक्त तस्वीर को ध्यान से देखा तो पाया कि पुलिस अधिकारी के पीछे “J&K Police” लिखा हुआ है | इससे हमें यह स्पष्ट होता है कि यह पुलिस अधिकारी जम्मू और कश्मीर से जुड़े हुए है | 

इसके पश्चात हमने सोपोर के एस.एस.पी के बारें में जानकारी प्राप्त करने की कोशिश की, जिसके परिणाम से हमें पता चला कि सोपोर के पूर्व एस.एस.पी का नाम हरमित सिंह मेहता था जो वर्तमान में किश्तवाड़ के एस.एस.पी है | 

इसके पश्चात हमने किश्तवाड़ के एस.एस.पी, हरमित सिंह मेहता से संपर्क किया, उन्होंने हमें बताया कि “यह तस्वीर सोशल मीडिया पर पिछले २ साल से अलग अलग अंतराल में फैलाया जा रहा है | यह तस्वीर मेरी है परंतु यह बयान मैंने नही दिया है | यह तस्वीर २०१७ में मेरे द्वारा किये गये एक प्रेस सम्मलेन से ली गई है | उस वक़्त मैं सोपोर में एस.एस.पी के पद पर कार्यरत था परंतु अभी वर्तमान में मैं किश्तवाड़ में एस.एस.पी के पद में हूँ | मैंने ऐसा बयान कभी नही दिया है | इस पोस्ट के साथ बयान को गलत तरीके से जोड़ा गया है |”  

इसके पश्चात हमने यह ढूँढा की क्या पटियाला में हरमित सिंह नाम से कोई एस.पी है या नही, इसके परिणाम से हमने पाया कि पटियाला के एस.पी इन्वेस्टीगेशन का नाम हरमित सिंह हुंदल है | 

हमने पटियाला के एस.पी इन्वेस्टीगेशन, हरमित सिंह हुंदल से बात की जिन्होंने हमें बताया कि “यह तस्वीर मेरी नही है, ना ही मैंने कभी ऐसा कोई बयान दिया है | इस तस्वीर को सोशल मीडिया पर कई सालों से फैलाया जा रहा है | इस तस्वीर के साथ मेरा कोई संबंध नही है ना ही मैं कभी जम्मू और कश्मीर में नियुक्ति पर नहीं था | यह केवल एक फर्जी तस्वीर है |”

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | यह तस्वीर किश्तवाड़ के एस.एस.पी, हरमित सिंह मेहता की है जिन्होंने ऐसा कोई बयान नही दिया है | पटियाला के एस.पी इन्वेस्टीगेशन, हरमित सिंह हुंदल ने भी कभी ऐसा कोई बयान नही दिया है | इस तस्वीर को फोटोशोप के माध्यम उत्पन्न किया गया है | 

Avatar

Title:एस.पी पटियाला के नाम से फर्जी विवादित बयान हुआ वायरल |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply