भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) द्वारा कोरोनावायरस से बचने के लिये जारी ये दिशानिर्देश फर्जी हैं |

Coronavirus False
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सोशल मीडिया पर कुछ नियमों की एक सूची को काफी तेजी से फैलाया जा रहा है | सोशल मीडिया पर वायरल पोस्ट के माध्यम से दावा किया जा रहा है कि तस्वीर में लिखे गये निर्देश भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) द्वारा जारी किया गया एक सार्वजनिक नोटिस है जिसके अनुसार सभी देशवासियों को कोरोनावायरस महामारी के चलते कुछ दिशानिर्देशों के पालन करने की आवश्यकता है | इस नोटिस में लगभग २० बिंदुओं पर अमल करने की हिदायत दी गई है, जिसमें मुख्य तौर पर अंतर्राष्ट्रीय यात्रा पर 2 साल की रोक, 1 साल के लिए बाहर के खाने की रोक, शाकाहारी व्यंजन खाने आदि जैसे कई नियम लिखे गये है |

पोस्ट में लिखा गया है कि,

.

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक  

आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जाँच की शुरुवात हमने उपरोक्त निर्देशों की सूची को भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) की वेबसाइट पर ढूँढा जिसके परिणाम में हमें हाल फिलहाल में ऐसी कोई अधिसूचना उनकी वेबसाइट पर उपलब्ध नहीं मिली | इस वेबसाइट के अनुसार आखिरी प्रेस रिलीज़ 8 सितम्बर २०२० को किया गया था |  

फैक्ट क्रेसेंडो ने तद्पश्चात आईसीएमआर के पॉलिसी प्लानिंग की प्रमुख डॉ रजनी कांत से संपर्क किया जिन्होंने हमें बताया कि “सोशल मीडिया पर वायरल नोटिस आईसीएमआर द्वारा प्रकाशित नही किया गया है | उनके द्वारा अपलोड किये गये सारे प्रेस रिलीज़ भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) की वेबसाइट पर उपलब्ध है | यह नोटिस फर्जी है |”

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | सोशल मीडिया पर वायरल अधिसूचना को आईसीएम्आर द्वारा जारी नही किया गया है | 

Avatar

Title:भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) द्वारा कोरोनावायरस से बचने के लिये जारी ये दिशानिर्देश फर्जी हैं |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply