घर से भागे हुए बच्चों को बच्चा चोर गिरोह द्वारा अगुवा करने की आशंका जताकर फैलाया जा रहा है |

False National Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

१३ अगस्त २०१९ को फेसबुक के ‘Himachal Diya Ronka’ नामक एक पेज पर साझा पोस्ट मे पांच नाबालिग बच्चों की तस्वीरें उनके आधार कार्ड के साथ दी गयी है और यह दावा किया जा रहा है किनालागढ़ में एक ही परिवार के 5 बच्चे गायब. बच्चा चोर गिरोह पर शक |” क्या सच में ऐसा है ? आइये जानते है इस पोस्ट के दावे की सच्चाई |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:  

FacebookPost | ARCHIVED LINK

अनुसंधान से पता चलता है कि…

हमने सबसे पहले उपरोक्त पोस्ट मे दिए गए दावे को गूगल पर ‘5 Missing Kids in Solan’ की-वर्ड्स से ढूंढा, तो हमें तीन समाचार वेबसाइट द्वारा प्रसारित एक ख़बर मिली | इस ख़बर के मुताबिक सोलन जिले के नालागढ़ गांव में एक परिवार शिव मंदिर में माथा टेकने गया था, और तभी से बच्चे गायब हैं | उनका शक बच्चा चोर गिरोह पर है | खबर में यह भी कहा गया है कि, इस बात की पुलिस में शिकायत भी की गयी है और नालागढ़ के इंस्पेक्टर राजकुमार ने कहा है कि पुलिस इस मामले में जांच कर रही है | प्रसारित ख़बरों को पूरा पढने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें |

HimachalnownewsPost | ArchivedLinkNewschhattisgarhPost | ArchivedLinkHindi.news18Post | ArchivedLink

जब हमने इस बारे में जानकारी के लिए नालागढ़ पुलिस थाने के इंस्पेक्टर राजकुमार से संपर्क साधा, तो उन्होंने बताया कि, “यह महज़ एक अफवाह थी कि इन बच्चों का शायद बच्चा चोर के गिरोह ने अपहरण कर लिया है | यह बच्चे बड़ों से डांट खाकर पास के मंदिर में भाग गए थे | इस बारे में कोई भी लिखित रिपोर्ट दर्ज नहीं की गयी थी | उन बच्चों के माँ-बाप पुलिस थाने में आकर मौखिक शिकायत की थी कि बच्चे गायब है और उनको मदद चाहिए | मगर उनके बच्चे तीन दिन के बाद मिल गए थे |”

सोपान जिले के SP मधुसुदन शर्मा से संपर्क साधा, तो उन्होंने हमें बद्दी के SP से संपर्क करने की सलाह दी | नालागढ़ गांव बद्दी शहर में स्थित है और वहां के Additional SP N. K. Sharma से संपर्क साधा | उन्होंने हमें बतायाकि, “यह बात सरासर झूठ है | हमारे जिले में कोई भी बच्चा चोरी की घटना हाल में नहीं घटी है | ऐसी सारी अफवाहें चल रही है, जहां लोग संदेह में आकर बेगुनाह लोगों के साथ मार-पीट करते हैं या थाने ले आते हैं अथवा अफवाह फैला देते हैं कि, यह बच्चा चोर | यह घटना ९ अगस्त की है, जब घर से डांट खाकर बच्चे ९ अगस्त २०१९ को घर से भाग गए थे और मंदिर में लंगर का खाना खाकर वहीँ सो गये थे, फिर दुसरे दिन ये बच्चे अपने घर गये थे व वहां जाकर उन्होंने कुछ पैसे चुराए व वापस भाग गए थे, और तीसरे दिन ये बच्चे मंदिर से ही बरामद हुये थे|” 

इन अनुसन्धान से यह पता चलता है कि, यह पांच बच्चे अपने घर से डांट खाने के बाद भाग गए थे और तीन दिन तक मंदिर में ही रहे | तीन दिन के बाद ये बच्चे मंदिर में मिल जाने के बाद अपने घर वापस आ गए थे | इस घटना को संदेहजनक बच्चा चोर गिरोह द्वारा अपहरण किये जाने की घटना बताकर लोगों में डर और भ्रम पैदा किया जा रहा है |

जांच का परिणाम : इस संशोधन से यह स्पष्ट होता है कि, उपरोक्त पोस्ट में किया गया दावा की, “नालागढ़ में एक ही परिवार के 5 बच्चे गायब. बच्चा चोर गिरोह पर शक |” ग़लत है | 

Avatar

Title:घर से भागे हुए बच्चों को बच्चा चोर गिरोह द्वारा अगुवा करने की आशंका जताकर फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Natasha Vivian 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •