क्या राजस्थान के जयपुर में एनएच ११ पर बच्चा चोर गैंग पकड़ा गया ?

False National Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

१९ अगस्त २०१९ को फेसबुक पर ‘Ashok Gupta’ नामक एक यूजर ने एक पोस्ट साझा किया है | पोस्ट में चार तस्वीरें साझा की गई है | तस्वीरों में भीड़ एक कार को घेरकर खड़ी दिखाई दे रही है | एक तस्वीर में साधू जैसी वेशभूषा में एक व्यक्ति दिखाई देता है | वही व्यक्ति एक गाड़ी में बैठा हुआ दूसरी तस्वीर में दिखाई देता है | तीसरी तस्वीर में सड़क किनारे किसी गोडाउन के पास लोगों का हुजूम दिखाई देता है | चौथी तस्वीर में एक कार की डिक्की में तीन बच्चे दिखाई दे रहे है |        

पोस्ट के विवरण में लिखा गया है कि, 

जयपुर मैं प्रेम नगर पुलिया बाल्टी फैक्ट्री के पास में एनएच 11 पर बच्चों को ले जाते हुए पकड़े गए | सावधान जयपुर

इस पोस्ट व्दारा किया यह दावा किया जा रहा है कि, राजस्थान के जयपुर शहर में कार में बिठाकर बच्चों की चोरी कर भागते हुए कुछ लोग पकडे गए | इन दिनों बच्चा चोर गैंग होने का दावा करते हुए कई असम्बद्ध विडियो और तस्वीरें साझा हो रही है | तो आइये जानते है इन तस्वीरों व दावे की सच्चाई |

मूल पोस्ट यहाँ देखें – ‘Ashok Gupta’ | ARCHIVE POST

अनुसंधान से पता चलता है कि…

सबसे पहले हमने इस तस्वीरों को रिवर्स इमेज सर्च किया | साधू जैसी वेशभूषा वाला व्यक्ति और वह गाड़ी में बैठे हुए इन दोनों तस्वीर के सर्च से हमें कोई खास परिणाम नहीं मिले | इसके बाद हमने बाकि दो तस्वीरों को रिवर्स इमेज सर्च किया | भीड़ की तस्वीर को सर्च करने से हमें जो परिणाम मिले, वह आप नीचे देख सकते है |

इस परिणाम से हमें ‘पंजाब केसरी’ द्वारा १४ अगस्त २०१९ को प्रसारित एक खबर मिली | खबर में एक विडियो दिया है साथ ही उपरोक्त पोस्ट में साझा दो तस्वीरें भी दी गई है | खबर में कहा गया है कि, एक परिवार हरिद्वार से पिंडदान कर लौट रहा था | कुरुक्षेत्र के लाडवा स्थल पर ट्राफिक में कार रुकते ही लोगों को डिक्की में बैठे बच्चे दिखे तो उन्होंने परिवार को बच्चे चुराने वाली गैंग समझ लिया | आखिर उनको पुलिस थाने लाया गया | पुलिस ने पूछताछ कर तसल्ली कर ली तथा सबको जाने दिया |

पूरी खबर यहाँ पढ़ें – ‘पंजाब केसरी’ | ARCHIVE NEWS

इसी सर्च से हमें ‘panipatlive.com’ समाचार वेबसाइट द्वारा १३ अगस्त २०१९ प्रसारित इसी तरह की एक और खबर मिली | इस खबर में भी वही वाकया लिखा है, जो ‘पंजाब केसरी’ ने बयां किया है |

पूरी खबर यहाँ पढ़ें – panipatlive.com | ARCHIVE NEWS

इसके बाद हमने कार की डिक्की में बैठे बच्चों की तस्वीर को रिवर्स इमेज सर्च किया तो परिणाम से हमें समाचार वेबसाइट ‘circle.page’ द्वारा १४ अगस्त २०१९ को प्रसारित एक खबर मिली | इस खबर में कहा गया है कि, बच्चा चोर समझकर जिस परिवार को लोगों ने पुलिस के हवाले किया था, उनको खासी जहमत उठानी पड़ी तथा बच्चे भी सहमे हुए थे |

पूरी खबर यहाँ पढ़ें – circle.page | ARCHIVE NEWS

इस शोध से हमें यह पता चला कि, उपरोक्त घटना जयपुर की नहीं, बल्कि हरयाणा राज्य के कुरुक्षेत्र में स्थित लाडवा शहर की है | यह पता चलने के बाद हमने लाडवा पुलिस थाने से २४ अगस्त २०१९ को दोपहर संपर्क किया | थाने के SHO पुलिस निरीक्षक ओम प्रकाश ने हमें बताया की “जिला हिसार के गांव सहलपुर के सुरेंद्र कुमार व सुनील मंगलवार को हरिद्वार से अपने किसी परिजन का पिंडदान कराकर परिवार सहित वापस गांव जा रहे थे। उन्होंने बच्चों को कार की डिक्की में बैठा रखा था। डिक्की का लॉक भी नहीं लगा था। जहां भी गाड़ी धीमी होती थी या रुकती थी तो बच्चे डिक्की खोल लेते थे। कार सुबह के समय जब लाडवा के इंद्री चौक पहुंची तो वहां जाम में फंस गई | इस दौरान बच्चों ने फिर डिक्की को ऊपर उठा दिया। लोगों ने डिक्की में बच्चों को बैठा देखकर बच्चा चोर गिरोह समझ लिया और शोर मचा दिया। इसके बाद उन्हें लाडवा थाने लाया गया | पुलिस ने उनसे अच्छी तरह पूछताछ की | उनके पहचान पत्र देखे | तसल्ली हो जाने के बाद उन्हें जाने दिया गया | यह बच्चा चोर गैंग होने की बात बिलकुल कोरी अफवाह है |”  

अतः यह स्पष्ट होता है कि, यह घटना राजस्थान के जयपुर शहर की नहीं, बल्कि हरयाणा के कुरुक्षेत्र की है | साथ ही, कार की डिक्की में बैठे बच्चे उसी परिवार का हिस्सा थे, जो हरिद्वार से पिंडदान कर लौट रहे थे |       

जांच का परिणाम :  इस अनुसंधान से यह स्पष्ट होता है कि, उपरोक्त पोस्ट में साझा तस्वीरों के साथ किया गया दावा कि, “जयपुर मैं प्रेम नगर पुलिया बाल्टी फैक्ट्री के पास में एनएच 11 पर बच्चों को ले जाते हुए पकड़े गए |” सरासर गलत है | यह घटना राजस्थान के जयपुर शहर की नहीं, बल्कि हरयाणा के कुरुक्षेत्र की है | साथ ही, कार की डिक्की में बैठे बच्चे उसी परिवार का हिस्सा थे, जो हरिद्वार से लौट रहे थे | 

अपहरण को लेकर अधिक फैक्ट चेक पढने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करे-

1. इस मानसिक रूप से अस्वस्थ व्यक्ति का विडियो बच्चा चोर के नाम से सोशल मीडिया पर फैलाया जा रहा है |

2. वीडियो में इस युवक के मुंह से जबरन बच्चा चोर होने की बात कहलवाई गई है |

3. इन लोगों को बच्चा चोर होने के शक में पीटा गया है |

Avatar

Title:क्या राजस्थान के जयपुर में एनएच ११ पर बच्चा चोर गैंग पकड़ा गया ?

Fact Check By: R Pillai 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply