काल्पनिक भाजपा विधायक अनिल उपाध्याय की वापसी इस बार CAA के खिलाफ प्रचार करते हुए |

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

विधायक अनिल उपाध्याय सोशल मंच पर एक वो नाम है जिसे अलग अलग समयों पर अलग अलग राजनीतिक पार्टियों के साथ सुविधा अनुसार जोड़ भ्रामक दावे पेश किये जाते रहें हैं, हालाँकि विधायक अनिल उपाध्याय एक काल्पनिक पात्र हैं, वर्तमान में एक बहुचर्चित वीडियो जिसमे हम इस कथित कल्पित भाजपा विधायक अनिल उपाध्याय को प्रधानमंत्री मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और CAA के खिलाफ बयान देते हुए सुन सकते है को सोशल मंचो पर काफी प्रतिक्रियायें प्राप्त हो रहीं है |

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है की..

जाँच की शुरूवात हमने अनिल उपाध्याय नामक भाजपा विधायक को ढूँढने से की | गूगल पर सर्च करने से हमें MyNeta.info की वेबसाइट का लिंक मिला | हमने MyNeta डेटाबेस पर खोजा तो पाया की अनिल उपाध्याय नाम का कोई भाजपा विधायक नहीं है | इसी नाम से दो व्यक्तियों का प्रोफाइल हमें मिला | पहला- जोधपुर के एक बीएसपी नेता डॉ अनिल उपाध्याय, जिन्होंने २०१८ में राजस्थान से चुनाव लड़ा | दूसरा प्रोफाइल लखनऊ से निर्दलीय उम्मीदवार अनिल कुमार उपाध्याय, जिन्होंने २००७ और २०१२ में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव लड़ा था |

आर्काइव लिंक | आर्काइव लिंक | आर्काइव लिंक

फिर हमने इस वीडियो को इन्विड टूल के मदद से यांडेक्स रिवर्स इमेज सर्च किया, जिसके परिणाम में हमें ९ दिसंबर २०१९ को ऑनलाइन न्यूज़ इंडिया द्वारा अपलोड किया गया एक वीडियो मिला | इस वीडियो के शीर्षक में लिखा गया है कि “Citizenship Amendment Bill 2019 | वो बात जो देश के लोगों के लिए जाननी जरूरी है | BJP | Amit Shah |” इस वीडियो में हम रिपोर्टर को इंटरव्यू की शुरुवात में वक्ता का परिचय भूपेंदर रावत, सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में करते देख सकते हैं |

नीचे दिए गये वीडियो में आप साफ़ साफ़ यह देख सुन सकते है कि इस इंटरव्यू के शुरूवात में वक्ता का परिचय भूपेंदर रावत के रूप में दिया गया है |

तद्पश्चात फैक्ट क्रेस्सन्डो ने भूपेंदर रावत से संपर्क किया, उन्होंने हमें बताया कि “वायरल वीडियो मेरा है जिसे सोशल मीडिया पर गलत नाम से प्रसारित किया जा रहा है | मेरा नाम भूपेंदर रावत है और मैं किसी अनिल उपाध्याय को नहीं जनता हूँ, ना ही मैं कोई विधायक हूँ या भाजपा पार्टी से कोई संबंध रखता हूँ | यह इंटरव्यू मैंने ऑनलाइन न्यूज़ इंडिया को दिया था, मेरे वीडियो को किसी और के नाम से वायरल किया जा रहा है जो कि अत्यंत ही निंदनीय है |”

भूपेंदर रावत के एक दुसरे इंटरव्यू को आप नीचे देख सकते है | 

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है |विधायक अनिल उपाध्याय केवल एक काल्पनिक चरित्र है जिसे अलग अलग समय पर सोशल मीडिया पर कांग्रेस या भाजपा के विधायक के नाम से वायरल किया जाता है | वीडियो में दिखाए गये व्यक्ति सामाजिक कार्यकर्ता भूपेंदर रावत है | इनका भाजपा से कोई संबंध नही है | 

Avatar

Title:काल्पनिक भाजपा विधायक अनिल उपाध्याय की वापसी इस बार CAA के खिलाफ प्रचार करते हुए |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply