कालिख पोतने का यह वीडियो २०१८ से है और इसका CAA से कोई सम्बन्ध नहीं है |

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नागरिकता संशोधन अधिनियम(CAA) का विरोध भारत के कई हिस्सों में व्यापक रूप से हो रहा है, इन विरोधों अलग अलग जगहों में पिछले कई दिनों से लगातार २४x७ प्रदर्शन चल रहा है | कई जगहों पर इस अधिनियम का विरोध प्रदर्शन चल रहा है जबकि दूसरी ओर इस कानून के समर्थन में प्रदर्शन निकाले जा रहे है | इन्ही प्रदर्शनों के सन्दर्भ में सोशल मीडिया पर कई फर्जी व पुराने वीडियो और तस्वीरें वायरल हो रही है | ऐसे ही एक वीडियो के माध्यम से दावा किया जा रहा है कि CAA-NRC-NPR का खुला समर्थन करने की वजह से इंदौर में भाजपा नेता तथा हज कमेटी के पूर्व चेयरमैन इनायत हुसैन के चेहरे पर कालिख पोती गयी |

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि “ये क्या हो रहा है? खबर आ रही है कि CAA-NRC-NPR का खुला समर्थन करने की वजह से इंदौर में भाजपा नेता तथा हज कमेटी के पूर्व चेयरमैन इनायत हुसैन के चेहरे पर पोती गई स्याही, चप्पलों से हुई पिटाई… हम इसकी कड़े शब्दों में निंदा करते हैं |”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

यह वीडियो फेसबुक पर भी काफी तेजी से साझा किया जा रहा है |

अनुसंधान से पता चलता है कि..

जाँच की शुरुवात इस वीडियो को इन्विड टूल के मदद से गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने से की, जिसके परिणाम में हमें १२ मार्च २०१८ को स्पेशल न्यूज़ ऑफ़ इंडिया नामक यूट्यूब चैनल द्वारा अपलोड किया गया वीडियो मिला | इस वीडियो के शीर्षक में लिखा गया है कि “अजमेर शरीफ दरगाह में एक खादिम की जमकर पिटाई, सचिव को लेकर हुआ था हंगामा |”

वीडियो के विवरण में लिखा गया है कि “अजमेर शरीफ दरगाह में एक खादिम की जमकर पिटाई की गई | दरअसल खादिमों की संस्था अंजुमन शेखजादगान के सचिव को लेकर हंगामा हुआ | शेख बंटी नाम के एक खादिम ने दूसरे खादिम के दफ्तर में घुसकर तत्कालीन सचिव अब्दुल माजिद चिश्ती का मुंह काला किया और उनकी चप्पलों से पिटाई की |

पूरी खबर पढ़ने के लिये पत्रिका की खबर पढ़े

इससे ये स्पष्ट होता है कि यह वीडियो वर्तमान में चल रहे NRC और CAA विरोध या समर्थन के प्रदर्शन से कोई संबंध नही रखता है और न ही ये वीडियो इनायत हुसैन से सम्बन्ध रखता है वीडियो में पिट रहे व्यक्ति अब्दुल माजिद चिश्ती हैं और यह वीडियो इन्टरनेट पर २०१८ से उपलब्ध है |


इस वीडियो के संबंधित ख़बरों को कीवर्ड्स के माध्यम से ढूँढने पर हमें १३ मार्च २०१८ को न्यूज़ १८ द्वारा प्रकाशित खबर मिली, जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “अजमेर दरगाह के खादिम के मुंह पर कालिख पोती, चप्पल से पिटाई |”

खबर के अनुसार इस वीडियो में शेख बंटी नाम का एक खादिम उनके दफ्तर में पहुंच कर खादिमों की संस्था अंजुमन शैख़ज़ादगान के सचिव अब्दुल माजिद चिश्ती के मुंह पर न सिर्फ कालिख पोती बल्कि उनकी चप्पल से धुनाई भी की | 

न्यूज़ नेशन ने भी इस खबर को १३ मार्च २०१८ को प्रसारित किया था |

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | यह वीडियो २०१८ का राजस्थान से है | इस वीडियो का NRC और CAA के विरोध या समर्थन में चलते प्रदर्शनों के साथ कोई संबंध नही है | यह घटना अजमेर दरगाह की है जहाँ खादिमों की संस्था अंजुमन शैख़ज़ादगान के सचिव अब्दुल माजिद चिश्ती के मुंह पर एक खादिम शेख बंटी के हाथों कालिख पोती गयी थी| 

Avatar

Title:कालिख पोतने का यह वीडियो २०१८ से है और इसका CAA से कोई सम्बन्ध नहीं है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply