क्या गुजरात के एक मस्जिद से बरामद हुआ हथियारों का जखीरा? जानिये सच |

False National Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२४ जुलाई २०१९ को फेसबुक पर ‘Gunjesh Singh’ नामक एक फेसबुक यूजर द्वारा कुछ तस्वीरें पोस्ट की गयी हैं, पोस्ट के विवरण में लिखा है – “अब #गुजरात की एक #मज्जिद में #हथियारों का #जखीरा मिला…. इन #शांतिदूतों द्वारा #कुछ तो जरूर #साजिश #रची जा रही है , भारत की #सुरक्षा_एजेंसियों को #सतर्क रहना होगा | #देश के प्रत्येक #मज्जिद या #मदरसों की #गहन #जांच की #जरूरत है अन्यथा बहुत बडी़ #साजीस को #अंजाम दिया जा सकता है !!!” इस पोस्ट के द्वारा यह दावा किया जा रहा है कि ‘गुजरात के एक मस्जिद से हथियारों का जखीरा बरामद हुआ है |” क्या सच में ऐसा है ? आइये जानते है इस पोस्ट के दावे की सच्चाई |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:

FacebookPost | ArchivedLink

संशोधन से पता चलता है कि…हमने सबसे पहले उपरोक्त पोस्ट में दी गयीं तस्वीरों को गूगल रिवेर्स इमेज सर्च में ढूंढा | हमें मिले परिणाम आप नीचे देख सकतें हैं |

इस संशोधन में हमें AajTak द्वारा प्रकाशित ५ मार्च २०१६ की एक ख़बर मिली, जिसके अनुसार दोपहर ०१:५७ को राजकोट में इंडियन पैलेस होटल के स्टोर से २५७ हथियार बरामद किये गए थे |

Aajtak.intodayPost | ArchivedLink

इसके बाद हमने इस बारे में अधिक जानकारी के लिए गूगल पर ‘weapons seized in indian palace hotel store rajkot’ कीवर्ड्स से ढूंढा, जिसमे हमें इस बारे में कई समाचार प्राप्त हुए |

1 . DeshGujarat.com – ५ मार्च २०१६

ArchivedLink

2. TOI – ६ मार्च २०१६

ArchivedLink

3. GujaratHeadline.com – ५ मार्च २०१६

ArchivedLink

प्राप्त समाचारों से यह पता चलता है कि राजकोट में चटोला जिले के कुछियादाद गांव के पास इंडियन पैलेस नामक एक होटल के दूकान से २५७ हथियार बरामद हुए | इस मामले में होटल के प्रबंधक को मिलकर कुल ५ लोगों को गिरफ़्तार किया गया है | पुलिस को राजकोट-अहमदाबाद राजमार्ग पर स्थित इस होटल मे अवैध हथियार के बेचे जाने की ख़बर मिलने पर Rajkot detection of crime branch (DCB) के साथ कुवाडवा रोड चौकी की पुलिस ने इस होटल पर छापा मारा और २५७ अवैध हथियारों के साथ ५ लोगों को गिरफ़्तार किया | उपरोक्त पोस्ट में दी गयी तस्वीरें इन सभी समाचारों में भी दी गयी है, जिससे इस बात की पुष्टि होती है कि यह २०१६ की तस्वीरें हैं और वर्तमान में इन तस्वीरों को गलत विवरण के साथ भ्रम पैदा करने के लिए फैलाया जा रहा है | 

इस संशोधन से यह बात साफ़ पता चलती है कि यह घटना २०१६ की थी और यह हथियार राजकोट-अहमदाबाद राजमार्ग पर स्थित एक होटल के दूकान से बरामद हुई थी, किसी मस्जिद से नहीं |   

जांच का परिणाम :  उपरोक्त पोस्ट मे किया गया दावा ‘गुजरात के एक मस्जिद से हथियारों का जखीरा बरामद हुआ है |’ ग़लत है |

Avatar

Title:क्या गुजरात के एक मस्जिद से बरामद हुआ हथियारों का जखीरा? जानिये सच |

Fact Check By: Natasha Vivian 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •