राजस्थान की पुरानी घटना को वर्तमान में गुजरात में हिंदुओं की भीड़ द्वारा मुस्लिम व्यक्ति को मारने के रूप में फैलाया जा रहा है।

False National Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२२ जुलाई २०१९ को Mohd Shameem Manihar नामक एक फेसबुक यूजर ने एक विडियो इस दावे के साथ पोस्ट किया कि  मोदी के गुजरात में भगवा आतंकवादियों का आतंकी | बरोडा के आजवा चौकड़ी का मामला, कल दोपहर 3 बजे एक मुस्लिम युवक को हिंदू आतंकवादियों ने रस्सी से बाँध कर बुरी तरह पीटा | #IndiaGovtWithLynchTerror |  

इस विडियो में एक आदमी को भीड़ पीट रही है, साथ ही उसे रस्सी से जकड़ा हुआ है | इस वीडियो को सोशल मीडिया इस दावे  के साथ फैलाया जा रहा है कि यह घटना दिनांक २१ जुलाई २०१९ को गुजरात के बड़ोदरा शहर की है, जहा एक मुस्लिम युवक को हिंदुओं की भीड़ ने रस्सी से बाँध कर बुरी तरह से पीटा | इस घटना को मोब लिंचिंग की घटना कहा जा रहा है | यह विडियो अलग अलग सोशल मंचों पर  बड़ी तेजी से फैलाया जा रहा है | फैक्ट चेक किये जाने तक यह पोस्ट ४०० से ज्यादा प्रतिक्रियाएं प्राप्त कर चुका था।

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव विडियो 

संशोधन से पता चलता है कि…

जांच की शुरुआत हमने इस विडियो को इनविड टूल का इस्तेमाल करते हुए छोटे छोटे कीफ्रेम्स में तोडा व गूगल रिवर्स इमेज सर्च किया जिसके परिणाम से हमें आज तक पर एक खबर मिली | 

५ अगस्त २०१७ को आज तक द्वारा प्रकाशित खबर के अनुसार राजस्थान के भरतपुर जिले में लोगों ने एक मंदबुद्धि युवक को चोटी काटने वाला समझकर बेरहमी से पीट डाला | मामला भरतपुर के सीकरी थाना क्षेत्र का है, पीड़ित का नाम मुकीम है व वह एक मानसिक रूप से कमजोर व्यक्ति है जो कि कंगला थाना छेत्र का निवासी है, घटना के समय मुकीम एक दूसरे गांव में घूम रहा था, वहां के कुछ लोगों ने उसे चोटी काटने वाला समझकर पकड़ लिया। इसके बाद लोगों ने उसे रस्सी से बांधकर बेरहमी से पीटना शुरू कर दिया। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और पीड़ित युवक को अपने साथ ले गई, पुलिस को पूछताछ में पता चला की पीड़ित एक मंदबुद्धि है और इस वजह से वह कुछ बोल नहीं पाया था।

आज तक | आर्काइव लिंक 

५ अगस्त २०१७ को न्यूज़ 18 ने भी इस खबर को प्रकाशित किया था, खबर के अनुसार यह घटना राजस्थान के भरतपुर में सिकरी की  है | लिखा गया है कि चोटी काटने के शक में सीकरी इलाके के गांव कंगनावास में एक विक्षिप्त युवक की रस्सियों से बांधकर पिटाई की गई | इस मामले में पुलिस ने ९ आरोपियों को गिरफ्तार किया है | इस खबर के साथ वर्तमान के दावे का विडियो भी संग्लित है और साथ ही सीकरी पुलिस स्टेशन और घटना के आरोप में गिरफ्तार किये गए लोगों को भी देखा जा सकता है। इससे हम स्पष्ट हो सकते है कि इस घटना का सांप्रदायिकता से कोई सम्बंध नहीं है |

आर्काइव लिंक 

 इसके पश्चात हमने बड़ोदरा (गुजरात) के कमिश्नर, अनुपम सिंह गहलोत से बात की, उन्होंने हमें बताया कि गुजरात में ऐसी कोई घटना नही हुई है और यह विडियो गुजरात के बड़ोदरा शहर का बिलकुल नहीं है, ऐसी कोई मोब लिंचिंग की  घटना अजवा चौक में नही हुई है। वह जनता से आग्रह करते है कि ऐसी गलत ख़बरों से बचें व  इन्हें आगे न बढ़ाये |

निष्कर्ष: तथ्यों के जांच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | यह घटना गुजरात का नहीं है बल्कि यह वीडीयो दो साल पुराना राजस्थान की घटना का है | इस घटना से साथ कोई भी सांप्रदायिक रंग नहीं जुड़ा हुआ है | इस लड़के को चोटी काटने के शक में  रस्सियों से बांधकर पीटा गया था | 

Avatar

Title:राजस्थान की पुरानी घटना को वर्तमान में गुजरात में हिंदुओं की भीड़ द्वारा मुस्लिम व्यक्ति को मारने के रूप में फैलाया जा रहा है।

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •