महाराष्ट्र के हिंगोली जिले में दो समुदाय के बीच हुए विवाद को जयपुर की घटना बताकर फैलाया जा रहा है |

False National Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

१७ अगस्त २०१९ को फेसबुक पर ‘Babu Lal’ नामक फेसबुक यूजर ने एक वीडियो साझा किया है, इस वीडियो में मुस्लिम समुदाय के युवक पत्थरबाज़ी करते हुए नज़र आ रहें है | वीडियो देखने से लगता है कि किसी प्रकार का विरोध हो रहा है | इस पोस्ट के विवरण में लिखा है कि, “जयपुर के ताजा समाचार ।” इस पोस्ट के माध्यम से यह दावा किया जा रहा है कि, ‘यह वीडियो वर्तमान में जयपुर शहर में मुस्लिम समुदाय द्वारा किये गए विरोध का है |’

क्या सच में ऐसा है ? आइये जानते है इस पोस्ट के दावे की सच्चाई |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:

FacebookPost | ArchivedLink

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जब हमने उपरोक्त वीडियो को देखा तो कई जगह पर हमें यह वीडियो जयपुर का नहीं होने के संकेत दिखे | आइये इन सबूतों पर गौर करते हैं |

वीडीयो से लिये गये स्क्रीनशॉटस को आप नीचे देख सकते हैं|

पहला स्क्रीनशॉट : समय – ०:३२ : शहर के नाम का बोर्ड जिसपर हिंगोली लिखा हुआ है |

दूसरा स्क्रीनशॉट : समय – ०:४२ : पोस्टर पर कावड़ लिखा हुआ है |

तीसरा स्क्रीनशॉट : समय – ०१:१४ : दीवार पर ‘Omprakash Deora Peoples Co-op Bank Ltd, Hingoli’ लिखा हुआ है |

स्क्रीनशॉटस में मिले परिणामों के चलते हमने इस घटना के बारे में जानकारी लेने के लिए १९ अगस्त २०१९ को हिंगोली के SP योगेश कुमार (IPS) से संपर्क साधा तो उन्होंने कहा कि यह घटना १२ अगस्त २०१९ को यानी बकरी ईद के दिन घटित हुई थी | अधिक जानकारी के लिए उन्होंने वहाँ के पुलिस इंस्पेक्टर अशोक घोरबंद से हमारी बात करवाई |

PI अशोक घोरबंद ने हमें बताया कि, “उपरोक्त वीडियो में दिखायी गयी घटना बकरी ईद के दिन यानी १२ अगस्त २०१९ को सुबह की है | एक तरफ मुस्लिम समुदाय के लोग ईद की नमाज़ पढ रहे थे व दूसरी ओर से श्रावण मास का आखरी सोमवार होने के कारण कावड़ यात्रा का दल कलमनूरी तालुका पहुँचने के लिए मस्जिद के समीप से गुज़र रहा था | ईद के नमाज़ के दौरान ‘बम भोले नाथ’, ‘हर हर महादेव’ व जोर से बजते लाउडस्पीकर इत्यादि के शोर से असंतुष्ट होकर मस्जिद में से किसीने कावड़ियों के खिलाफ अभद्र टिपण्णी की व ऐसा करने पर दोनों समुदाय के नौजवानों के बीच झड़प हो गयी | हमारा पुलिस दल वही मौजूद था हालात बिगड़ने के पहले हमने इस परिस्थिति को नियंत्रित कर लिया था | इस बारे में उचित कार्यवाही की जा रही है |”

इस घटना पर हमें YouTube पर दो अलग दृष्टीकोण वाले वीडियो भी मिले |

वीडियो 1 : १३ अगस्त २०१९ : SaamanaOnline

वीडियो 2 : १३ अगस्त २०१९ : Bhagwat shirfule

इन वीडियो के अलावा हमें इस प्रकरण पर ‘TribuneIndia’ व ‘TOI’ द्वारा प्रसारित ख़बर भी मिली | पूरी ख़बर को पढने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें |

१३ अगस्त २०१९ : TribuneIndiaPost : ArchivedLink

१७ अगस्त २०१९ : TOIPost : ArchivedLink

इस अनुसंधान से यह बात स्पष्ट होती है कि पोस्ट में साझा वीडियो १२ अगस्त २०१९ को महाराष्ट्र के हिंगोली जिले का है जब कांवड़ियों और मुस्लिम समुदाय के लोगों के बीच अभद्र टिपण्णी के चलते झड़प हो गयी थी | जयपुर से इस वीडियो का कोई संबंध नहीं है | यह वीडियो गलत विवरण के साथ लोगों को भ्रमित करने के उद्देश्य से फैलाया जा रहा है |

जांच का परिणाम :  उपरोक्त पोस्ट मे किया गया दावा ‘यह वीडियो वर्तमान में जयपुर शहर में मुस्लिम समुदाय द्वारा किये गए विरोध का है |’ ग़लत है |

Avatar

Title:महाराष्ट्र के हिंगोली जिले में दो समुदाय के बीच हुए विवाद को जयपुर की घटना बताकर फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Natasha Vivian 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •