क्या पुलवामा हमले का दोषी आतंकवादी पकड़ा गया ?

False National Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२४ जून २०१९ को फेसबुक के Face The सच’ नामक एक पेज पर एक पोस्ट साझा किया गया है | पोस्ट में एक विडियो साझा किया गया है | विडियो में ABP News की एक खबर है | खबर में कहा गया है कि, जम्मू-कश्मीर में पहली बार एक गैर कश्मीरी आतंकवादी को गिरफ्तार किया गया है | यह आतंकवादी उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर का रहनेवाला है | वह जम्मू-कश्मीर के लश्कर-ए-तय्यबा इस आतंकवादी संघटन के लिए काम कर रहा था |   

पोस्ट के विवरण में लिखा गया है कि, 

वो गद्दार पकडा गया भाईयों जिसने 44 जवानों का सौदा किया था
नाम है संदीप शर्मा

इस पोस्ट व्दारा किया यह दावा किया जा रहा है कि, इस वर्ष १४ फरवरी को हुए पुलवामा हमले का दोषी आतंकवादी पकड़ा गया है | इस हमले में हमारे ४० से ज्यादा जवान शहीद हुए थे | तो आइये जानते है इस विडियो व दावे की सच्चाई |

मूल पोस्ट यहाँ देखें – Face The सच’  | ARCHIVE POST

संशोधन से पता चलता है कि…

सबसे पहले हमने पोस्ट में साझा विडियो को इन्विड टूल का इस्तेमाल करते हुए छोटे फ्रेम्स में तोडा और उन टुकड़ों को रिवर्स इमेज सर्च किया | इस सर्च से हमें कुछ भी पुख्ता परिणाम नहीं मिले | 

इसके बाद हमने दावे को ‘Terrorist Sandeep Kumar Sharma from UP arrested in Kashmir’ इन की वर्ड्स से यू-ट्यूब पर सर्च किया तो हमें ABP News द्वारा अपलोड वही विडियो मिला, जो उपरोक्त पोस्ट में साझा किया गया है | यह खबर वास्तव में दो वर्ष पहले यानि १० जुलाई २०१७ को प्रसारित की गई थी | विडियो की हैडलाइन में लिखा है कि, ‘Jammu Kashmir: Non-Kashmiri Hindu terrorist caught; IG calls it an eye-opener’ | आप यह मूल विडियो नीचे देख सकते है |

इसके बाद हमने ‘LeT terrorist Sandeep Kumar Sharma from UP arrested in Kashmir’ इन की वर्ड्स के साथ गूगल सर्च किया तो हमें इसकी और ख़बरें भी मिली |

हमें १० जुलाई २०१७ को ‘इंडिया टुडे’ द्वारा प्रसारित एक खबर मिली | इस खबर में जो तस्वीर इस्तेमाल की गई है, उसमे वही आतंकवादी दिखाई देता है | खबर में कहा गया है कि, अनंतनाग जिले के एक एनकाउंटर स्थल से संदीप शर्मा नामक आतंकवादी को गिरफ्तार किया गया है, जो उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर का रहनेवाला है और लश्कर-ए-तैयबा के लिए काम कर रहा था | 

पूरी खबर यहाँ पढ़ें – ‘इंडिया टुडे’ | ARCHIVE NEWS

यही खबर ‘हिंदुस्तान टाइम्स’ द्वारा भी ११ जुलाई २०१७ को प्रसारित की गई थी | इस खबर में कहा गया है कि, उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर का रहनेवाला संदीप शर्मा २०१२ में कश्मीर गया था | आर्मी के साथ जम्मू-कश्मीर पुलिस पर भी हमला करने की साजिशों में वह शामिल था |

पूरी खबर यहाँ पढ़ें – ‘हिंदुस्तान टाइम्स’ | ARCHIVE NEWS

इस संशोधन से यह बात साफ़ होती है कि, पुलवामा हमला होने से काफी पहले ही संदीप शर्मा की गिरफ़्तारी हुई थी | 

इसके बाद हमने यह ढूंढा कि, क्या पुलवामा हमला मामले में किसी को गिरफ्तार किया गया है | हमने ‘terrorist arrested in pulwama attack case’ इन की वर्ड्स के साथ गूगल पर सर्च किया तो हमें कुछ खबरे मिली |

हमें ‘द इकनोमिक टाइम्स’ द्वारा २२ मार्च २०१९ को प्रसारित एक खबर मिली | इस खबर में कहा गया है कि, पुलवामा हमले का सरगना मुदस्सिर का करीबी साथी तथा जैश-ए-महम्मद का आतंकवादी सज्जाद खान को गिरफ्तार किया गया है | २७ वर्षीय सज्जाद खान पुलवामा का रहनेवाला है |

पूरी खबर यहाँ पढ़ें – ‘द इकनोमिक टाइम्स’ | ARCHIVE NEWS

‘इंडिया टुडे’ द्वारा भी यही खबर २२ मार्च २०१९ को प्रसारित की गई है | खबर में कहा गया है कि, पुलवामा हमले का सरगना मुदस्सिर का करीबी साथी तथा जैश-ए-महम्मद का आतंकवादी सज्जाद खान को गिरफ्तार किया गया है | NIA द्वारा उसकी पूछताछ की जाएगी |

पूरी खबर यहाँ पढ़ें – ‘इंडिया टुडे’ | ARCHIVE NEWS

इस संशोधन से यह बात साफ़ होती है कि, पुलवामा हमले के सन्दर्भ में अबतक एक ही गिरफ़्तारी हुई है, तथा गिरफ्तार किये गए आतंकवादी का नाम है सज्जाद खान | 

अतः इस संशोधन से यह पुख्ता तौर पर स्पष्ट होता है कि, जिस सज्जाद के गिरफ़्तारी का दावा उपरोक्त पोस्ट में किया गया है, वह पुलवामा हमले के सन्दर्भ में गिरफ्तार नहीं हुआ है, बल्कि उसकी गिरफ़्तारी २०१७ में हुई थी और वह लश्कर-ए-तय्यबा के लिए काम करता था | पुलवामा हमले की जिम्मेदारी जैश-ए-मोहम्मद में ली है, तथा इस सन्दर्भ में गिरफ्तार किये गए आतंकवादी का नाम है सज्जाद खान | लेकिन २०१७ के विडियो को साझा कर संदीप शर्मा का पुलवामा हमले के सन्दर्भ में की गई गिरफ़्तारी से जोड़ना गलत है | भ्रम पैदा करने के लिए यह दावा किया गया है |   

जांच का परिणाम :  इस संशोधन से यह स्पष्ट होता है कि, उपरोक्त पोस्ट में साझा विडियो के साथ किया गया दावा कि, “वो गद्दार पकडा गया भाईयों जिसने 44 जवानों का सौदा किया था | नाम है संदीप शर्मा |” सरासर गलत है | यह विडियो २०१७ की खबर का है, जिसमे गिरफ्तार आतंकवादी संदीप शर्मा का पुलवामा हमले से सम्बन्ध नहीं है | 

Avatar

Title:क्या पुलवामा हमले का दोषी आतंकवादी पकड़ा गया ?

Fact Check By: R Pillai 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •