होशियारपुर में संत पर हुए हमले का संप्रदायिकता से कोई संबंध नही है |

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

महाराष्ट्र के पालघर में एक ७० वर्षीय भिक्षु सहित तीन लोगों को बाल अपचारी और चोर होने के संदेह में मार डाला गया था | इसीके बाद सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें एक संत को घायल देखा जा सकता है। इस वीडियो के माध्यम से दावा किया जा रहा है कि पंजाब के होशियारपुर में संत पुष्पेंद्र स्वरूप पर एक विशेष समुदाय के लोगों ने हमला किया |

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि “पालघर की तर्ज पर पंजाब के होशियार पुर में संत पुष्पेंद्र स्वरूप जी महाराज पर शांतिदूतों ने हमला किया है, जब वो घर पर बेटे के साथ थे!! आखिर ये साधु संत की हत्या कांग्रेस शासित राज्यो में ही क्यों हो रही है??”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

इस वीडियो को फेसबुक पर काफी तेजी से फैलाया जा रहा है |

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जाँच की शुरुवात फैक्ट क्रेसेंडो ने होशियारपुर थाने के प्रभारी गोविंदर कुमार से बात करने से की, उन्होंने हमें बताया कि “यह चोरी और लूटपाट का मामला था | स्वामी पुष्पेंद्र स्वरूप जी अपने आश्रम में रहते हैं और लूटपाट के मकसद से दो लोगों ने उन पर हमला किया | लूटेरों ने स्वामी जी से पैसा छीनने की कोशिश की और इस दौरान स्वामी जी को कुछ चोटें आई | स्वामी जी को अस्पताल में चिकित्सा के बाद उन्हें उसी दिन घर भेज दिया गया | अब वह पूरी तरह से स्वस्थ हैं | होशियारपुर पुलिस ने इस मामले में शिकायत दर्ज की है और इस मामले पर जांच शुरू की जा रही है | इस मामले के साथ संप्रदायिकता का कोई संबंध नही है | इस खबर को सांप्रदायिक रंग देकर फ़ैलाने वालों पर पुलिस कारवाई करेगी |”

पुलिस ने फैक्ट क्रेसेंडो को यह भी बताया कि इस घटना के चलते अब तक कोई भी पुख्ता गिरफ़्तारी नही हुई है हालाँकि शक के आधार पर चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है और विवेचना जारी है |

इस मामले पर होशियारपुर पुलिस ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट द्वारा एक ट्वीट जारी किया है | इस ट्वीट के साथ एक वीडियो संग्लित किया गया है जहाँ स्वामी पुष्पेंद्र स्वरूप को बात करते हुए सुना जा सकता है | वीडियो में वह कहते है कि “मैं स्वामी पुष्पेंद्र स्वरूप हूं। आप सभी जानते हैं कि एक-दो दिन पहले मुझ पर हमला हुआ है। इस हमले को ड्रग एडिक्ट लूटेरों ने अंजाम दिया है। मुझ पर हमला किया गया क्योंकि मैंने उनके मुखौटे को हटाने की कोशिश की है। स्वाभाविक था कि उन्होंने मुझ पर हमला किया होगा | हालाँकि, हमला किसी भी तरह की राजनीति से नहीं जुड़ा है क्योंकि यहाँ राजनीतिक कोण शामिल होने की कोई संभावना नहीं है | वे दो लड़के थे और वे पैसे मांग रहे थे और पैसे न देने पर उन्होंने जबरदस्ती पैसे छीन लिए और भाग गए | पुलिस मेरा बहुत सहयोग कर रही है, वे मामले की सही तरीके से जांच कर रहे हैं और मैं संतुष्ट हूं | मैं आपसे शांति बनाए रखने और पुलिस का सहयोग करने की अपील करता हूं। |” इस ट्वीट को पंजाब पुलिस ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से रीट्वीट किया |

आर्काइव लिंक

आर्काइव लिंक 

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | पंजाब के होशियारपुर में संत पुष्पेंद्र स्वरूप पर हुआ हमला लूटपाट और चोरी की घटना से जुड़ा हुआ जिसे सोशल मीडिया पर सांप्रदायिक और राजनीतिक रंग दे फैलाया जा रहा है | 

Avatar

Title:होशियारपुर में संत पर हुए हमले का संप्रदायिकता से कोई संबंध नही है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •