नाबालिक के साथ अभद्रता करने वाले व्यक्ति की गिरफ्तारी को बच्चा चोर की घटना कहकर फैलाया जा रहा है |

False National Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

बच्चा उठाने वालों लो ले कर आज कल सोशल मीडिया में कई दावे वाइरल हो रहे हैं, अकसर ऐसे मामलों में लोग ग़लतफ़हमी का शिकार बन वृद्ध, ग़रीब या मानसिक रूप से अस्वस्थ लोगों को बच्चा-चोर समझ लेते हैं, हमारे द्वारा ऐसे ही कई दावे हाल ही में ग़लत पाए गए व एक ऐसा ही एक दावा वीडियो के माध्यम से १२ अक्टूबर २०१९ को फेसबुक पर ‘Raaz Barle’ नामक फेसबुक यूजर ने दो वीडियो व एक तस्वीर पोस्ट कर के किया है, जिसमें कहा जा रहा है कि वीडियो में दिख रहा व्यक्ति बच्चा चोर हैं जिन्हें भीड़ द्वारा पकड़ा गया है, और इनको पुलिस पकड़ कर ले जा रही है। पोस्ट के विवरण में लिखा है जिला से दूर 17 किलोमीटर ग्राम राका में आज बच्चा चोर पकड़ाया गया कृपया सजग रहे और अपने बच्चों का देखभाल सावधानी से करें |’ क्या सच में ऐसा है ? आइये जानते है इस पोस्ट के दावे की सच्चाई |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:

FacebookPost | ArchivedLink

अनुसंधान से पता चलता है कि…

उपरोक्त पोस्ट मे साझा दोनों वीडियो को देखने पर दो अलग अलग गाड़ी का नंबर दिखाई देता है | 

पहली गाड़ी : CG03 6417

दूसरी गाड़ी : CG03 5679

इसके अलावा हमने जगह के नाम का एक बोर्ड भी पाया, जिसमे झलमला लिखा हुआ था |

संसोधन की शुरुवात हमने झलमला के नज़दीकी पुलिस थाने बालोड के इंस्पेक्टर गेंद सिंह ठाकुर से इस घटना के बारे में जानकारी के लिए संपर्क कर के की | वीडियो को देखने पर उन्होंने हमें बताया की दावे के दूसरे वीडियो में दिखने वाले पुलिस अधिकारी Dy.SP राजीव शर्मा है और फिर उनसे हमारा संपर्क करवाया | जब हमने Dy.SP राजीव शर्मा से संपर्क किया, तो वीडियो देखने पर उन्होंने हमें बताया कि, “यह घटना इसी महीने की है और राका नामक गांव की है | दोनों वीडियो में अलग-अलग गाड़ी इसलिए हैं क्योंकि एक गाड़ी (CG03 5679) मेरी है और दूसरी गाड़ी (CG03 6417) बेमेतरा के इंस्पेक्टर की है | साथ में 108 की गाड़ी भी आई थी | वीडियो में दिखने वाले व्यक्ति को गिरफ़्तार इसीलिए किया गया था क्योंकि उसने एक नाबलिका के साथ अभद्र व्यवहार किया और जब वह नाबालिका रोने लगी, तो गांव वालों ने इस व्यक्ति को पकड़ा और पुलिस को ख़बर दी | मगर यह घटना कतई बच्चा चोरी का नहीं है | इस व्यक्ति को धारा 354 व POCSO के तहत गिरफ़्तार किया गया है और कार्र्यवाही चल रही है | पीड़िता नाबालिक होने के कारण हम उसकी पहचान को गोपनीय रखेंगे |”

इसके बाद हमने बेमेतरा पुलिस थाना के जन संपर्क अधिकारी राजेश मिश्रा से संपर्क किया तो हमें अपराधी का नाम शत्रु जेथू यादव, घटना पर दर्ज की गयी प्राथमिकी का क्रमांक – 549/19 और घटना दिनांक – 12-October-2019 की बतायी गई| यह घटना झलमला के पास राका नामक एक गांव में हुई थी |

इन अनुसंधानों से यह बात स्पष्ट होती है कि पोस्ट में दर्शाया गया युवक बच्चा चोर नहीं है, बल्कि उसे नाबालिक लड़की के साथ अभद्रता करने के वजह से गिरफ़्तार किया गया था | इस घटना को बच्चा चोरी के गलत विवरण से लोगों को भ्रमित करने के लिए फैलाया जा रहा है |

जांच का परिणाम :  उपरोक्त पोस्ट मे किया गया दावा ‘वीडियो में दिखाया गया युवक बच्चा चोर है |’ ग़लत है |

Avatar

Title:नाबालिक के साथ अभद्रता करने वाले व्यक्ति की गिरफ्तारी को बच्चा चोर की घटना कहकर फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Natasha Vivian 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply