एक असंबंधित तस्वीर को एडिट कर पाकिस्तानी मंत्री शहरयार अफरीदी के वर्तमान अमेरिकी दौरे का बता वायरल किया जा रहा है|

False International

पाकिस्तानी प्रधान मंत्री इमरान खान द्वारा पाकिस्तानी संसदीय समिति (कश्मीर) के अध्यक्ष शहरयार अफरीदी को अमेरिका महासभा में हिस्सा लेने न्यूयॉर्क भेजा गया था| वह १५  सितंबर, २०२१ को अमेरिका पहुंचे थे | ख़बरों  के अनुसार सेकेंडरी स्क्रीनिंग के लिए न्यूयॉर्क के जे.ऍफ़.के  हवाई अड्डे पर कुछ समय के लिए रोका गया था जिसके कुछ समय बाद उन्हें अमेरिका में प्रवेश करने की अनुमति दी गई थी |

इसी घटना के चलते सोशल मीडिया पर एअरपोर्ट में नग्न खड़े एक व्यक्ति की तस्वीरों को फैलाते हुए यह दावा किया जा रहा है कि शहरयार अफरीदी को जे.ऍफ़.के एअरपोर्ट में सबके सामने नग्न कर उनकी सुरक्षा जाँच की गई| 

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे पोस्ट के कैप्शन में लिखा गया है कि 

“ट्रम्प तो दुश्मन था…बाइडन तो दोस्त है..मगर वो दोस्त हो कर भी पाकिस्तान को नंगा करने में नहीं हिचक रहा…अब पाकिस्तान के कैबिनेट मंत्री शहरयार अफरीदी को नंगा करके 2 घण्टे का इंटरव्यू करवा दिया…वैसे यही एक काम है जो अमेरिका पूरी ईमानदारी से करता है…”

(शब्दशः)

फेसबुक पोस्ट 

अनुसंधान से पता चलता है कि

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान पाया कि वायरल हो रही तस्वीर एडिटेड है | यह घटना २०१२ में पोर्टलैंड इंटरनेशनल एअरपोर्ट के अंदर घटी थी जब एक व्यक्ति एअरपोर्ट सुरक्षा प्रतिक्रियाओं का विरोध कर सिक्यूरिटी गेट पर नग्न पहुंचा था | 

जाँच की शुरुवात हमने इन तस्वीरों को गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च करने से की, जिसके परिणाम से हमें यह पता चला कि तस्वीर में दिख रही घटना २०१२ की है, जब एक व्यक्ति जिनकी पहचान जॉन ई. ब्रेनन के रूप में हुई थी ने पोर्टलैंड अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर अतिरिक्त स्क्रीनिंग उपायों का विरोध करने के लिए अपने कपड़े उतार दिए थे।

उस समय इस घटना को कई अंतरराष्ट्रीय मीडिया संगठनों ने कवर किया था | इन न्यूज़ रिपोर्टों में छापी गई तस्वीर को ध्यान से देखने पर हमें पता चलता है कि वर्तमान में सोशल मीडिया पर वायरल हो रही तस्वीर को फोटोशोप के माध्यम से एडिट किया गया है | वायरल हो रही तस्वीर में हम नग्न व्यक्ति का आधा चेहरा देख सकते है जिससे वे अफ्र्दी जैसे नज़र आते है | परंतु मूल तस्वीर से हमें पता चलता है कि वायरल तस्वीर में अफरीदी की शकल को एडिट कर जोड़ा गया है |  मूल तस्वीर में हम किसी और व्यक्ति को नग्न देख सकते है |

नीचे आप वायरल हो रहे तस्वीर और मूल तस्वीर की तुलना देख सकते है |

पोर्टलैंड अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर अप्रैल २०१२ को घटी इस घटना के बारे में जानकारी प्राप्त करते हुए हमें पता चला कि जॉन ब्रेनन ओरेगन के निवासी हैं जिन्होंने पोर्टलैंड इंटरनेशनल एअरपोर्ट के सिक्यूरिटी चेकिंग के गेट पर नग्न होकर अपना विरोध दर्ज किया था | वह एयरपोर्ट सुरक्षा प्रक्रियाओं का विरोध कर रहे थे | इस घटना के चलते पोर्ट ऑफ पोर्टलैंड पुलिस ने ब्रेनन को गिरफ्तार कर लिया था और उसे मुल्नोमाह काउंटी जेल ले गई थी | 

इसके आलावा फैक्ट क्रेसेंडो ने पाकिस्तान स्थित पत्रकार इज्हरुल्लाह से संपर्क किया जिन्होंने इस दावे को फर्जी बताते हुए हमें कहा कि अगर इस तरह की कोई घटना वास्तव में घटती तो वो ज़रूर मीडिया द्वारा कवर की जाती | 

 इस पोस्ट के वायरल होने के एक दिन बाद शहरयार अफरीदी ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से एक बयान जारी करते हुए लिखा कि “मैं न्यूयॉर्क में कश्मीर मामले के बारें में विश्व को बताने के लिए पहुंचा | मुझे पुरी दुनिया के सामने यह दिखाना था कि किस तरह से भारतीय सेना कश्मीर पर अवैध रूप से कब्ज़ा कर बैठे है और वहां बसे हुए कश्मीरियों का नरसंहार कर रहे है | परंतु इस बीच पाकिस्तान में प्रो इंडिया लॉबी के समर्थक मेरे बारें में अफवाएं फ़ैलाने में व्यस्त है |

निष्कर्ष:

तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट के माध्यम से किये हुए दावे को गलत पाया है | सोशल मीडिया पर वायरल हो रही तस्वीर एक असंबंधित व पुरानी घटना की है जिसे एडिट कर मूल तस्वीर में दिख रहे नग्न व्यक्ति के चेहरे के बदले अफरीदी के चेहरे को जोड़ा गया है | यह घटना २०१२ की है जब पोर्टलैंड इंटरनेशनल एअरपोर्ट के सिक्यूरिटी गेट पर एक व्यक्ति ने नग्न होते हुए अपना विरोध दर्ज किया था |

फैक्ट क्रेसेंडो द्वारा किये गये अन्य फैक्ट चेक पढ़ने के लिए क्लिक करें :

१. असम के एक पानी पूरी विक्रेता द्वारा पानी में मूत्र मिलाने के प्रकरण को फर्जी सांप्रदायिक रंग दे सोशल मंचों पर फैलाया जा रहा है।

२. पूर्व न्यायाधीश रंजन गोगोई ने नाम से फिरसे बना फर्जी अकाउंट जिससे सांप्रदायिक ट्वीट किये गये|

३. बिहार के कटिहार में मुर्हरम जुलूस के दौरान घटी मारपीट की घटना को हिन्दू-मुस्लिम कोण दे सांप्रदायिकता से जोड़ साझा किया जा रहा है|

Avatar

Title:एक असंबंधित तस्वीर को एडिट कर पाकिस्तानी मंत्री शहरयार अफरीदी के वर्तमान अमेरिकी दौरे का बता वायरल किया जा रहा है|

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •