क्या ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा सेल्फी के लिए ना करना बनी के.पी.यादव के गुना से जितने की वजह? जानिये सच |

False National Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

१६ मई २०१९ को फेसबुक पर Hardik Savani नामक एक यूजर द्वारा एक पोस्ट साझा किया गया है | पोस्ट में दिए चित्र मे गुना के नवनिर्वाचित लोकसभा सदस्य के. पी. यादव को ज्योतिरादित्य सिंधिया के सामने सेल्फी लेते देखा जा सकता है | पोस्ट का विवरण इस प्रकार है – चाणक्य नीति … !! .. (इस चुनाव का एक अजीब किस्सा) एक युवक “के पी यादव” अमित शाह के पास आया और उनसे कहा मैं कांग्रेस का सक्रिय कार्यकर्ता हूं कांग्रेस में जिला लेवल पर कई पदों पर रहा हूं लेकिन मैं ज्योतिरादित्य सिंधिया के खिलाफ चुनाव लड़ना चाहता हूं चाहे वह ग्वालियर से लड़े या “गुना” से जुड़े |
अमित शाह चौक उठे बोले क्यों आप सिंधिया के खिलाफ लड़ना चाहते हैं उस युवक के पी यादव ने उन्हें मोबाइल कीएक सेल्फी दिखाई और बोला सर मैंने 20 साल कांग्रेस के लिए काम किया । .. मैंने ज्योतिराज सिंधिया से एक सेल्फी के लिए रिक्वेस्ट किया तब उन्होंने मुझे डांट कर भगा दिया और गाड़ी का दरवाजा तक नहीं खोला .. देखो..यह वही सेल्फी है (नीचे दी गई फ़ोटो) | अमित शाह के अंदर के चाणक्य बुद्धि जाग गई उन्हें लगा कि ये मेरे लिए चंद्रगुप्त साबित होगा उन्होंने सोचा ज्योतिरादित्य सिंधिया तो अजेय है चलो प्रतिशोध की आग में जल रहे इस कांग्रेसी युवा पर जुआ खेला जाए और उन्होंने उस केपी यादव को टिकट दिया और नतीजा यह कि पिछले 3 सालों में के पी यादव ने इतना मेहनत किया था कि उसने महाराजा ज्योतिरादित्य सिंधिया को हरा दिया .. !!!!!!

इस पोस्ट द्वारा यह दावा किया जा रहा है कि के.पी. यादव ने कांग्रेस छोड़कर बीजेपी से इसीलिए जुड़े क्योंकि उनको ज्योतिरादित्य सिंधिया ने उनके साथ एक सेल्फी के लिए मना कर दिया था | क्या सच में ऐसा है ? आइये जानते है इस पोस्ट के दावे की सच्चाई |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:  

FacebookPost | ARCHIVED LINK

संशोधन से पता चलता है कि…

हमने सबसे पहले उपरोक्त पोस्ट मे दी गयी तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज मे ढूंढा, तो हमें जो परिणाम मिले वह आप नीचे देख सकते है |

Timesnownews’ (२३ मई २०१९) द्वारा दी गयी ख़बर से हमें पता चला कि, के. पी. यादव ने कांग्रेस के लिए कड़ी मेहनत करने के बावजूद भी पार्टी ने पिछले चुनाव मे उसे टिकट नहीं दिया था | इस बात से वह काफ़ी नाराज़ हो गए थे और इसी कारण कांग्रेस को छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए थे |

TimesnownewsPost | ArchivedLink

फिर हमने उपरोक्त चित्र के बारे मे जानने की कोशिश की, तब ‘news24online’ द्वारा दी गयी ख़बर से हमें पता चला कि उपरोक्त चित्र ज्योतिरादित्य सिंधिया की पत्नी प्रियदर्शीनी सिंधिया ने साझा किया था | जब के. पी. यादव बीजेपी से चुनाव लड़ने के लिए नामांकन दाखिल किया, तब व्यंग करने के लिए प्रियदर्शीनी ने इस चित्र को साझा किया था यह कहकर कि “के. पी. यादव, जो हमेशा महाराजा के साथ सेल्फी लेने के लिए लाइन में दिखते थे, आज उसे भाजपा ने उम्मीदवार के रूप में चुना है |”

News24onlinePost | ArchivedLink

इस संशोधन से हमें पता चलता है कि, उपरोक्त पोस्ट में किया गया दावा ग़लत वर्णन से साझा किया जा रहा है |

जांच का परिणाम : इस संशोधन से यह स्पष्ट होता है कि, उपरोक्त पोस्ट में किया गया दावा की, “के. पी. यादव कांग्रेस छोड़कर बीजेपी से इसीलिए जुड़े क्योंकि उनको ज्योतिरादित्य सिंधिया ने उनके साथ एक सेल्फी के लिए मना कर दिया था |” ग़लत है | पिछले चुनाव मे टिकट ना मिलने पर निराश होकर वह कांग्रेस छोड़कर बीजेपी के साथ जुड़े |

Avatar

Title:क्या ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा सेल्फी के लिए ना करना बनी के.पी.यादव के गुना से जितने की वजह? जानिये सच |

Fact Check By: Nita Rao 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •