मानसिक रूप से अस्वस्थ व्यक्ति को बच्चा चोर बताया जा रहा है |

False Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

१ अगस्त २०१९ को ठा. रामू राजा रानापुरा नामक एक फेसबुक यूजर द्वारा एक विडियो पोस्ट किया था, जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि चौका गांव के बगल में खिलाया गांव है जहां बच्चा पकड़ने वाले आए थे उनमें से एक पकड़ गया और बकाया चार लोग भाग गए वह पकड़ नहीं आए और 2 स्कूल के बच्चों को पकड़ने जा रहे थे तो उसमें से एक बच्चा पकड़ा एकदम भागा तो वह जाकर मास्टर को बताया उसने कि हमको वहां कोई पकड़ रहा था तो मास्टर ने गांव में जाकर बताया तो गांव वाली दौड़े तो दौड़े उसको पकड़ने के लिए तो वह भागा भागते भागते उसको जाकर जंगल किनारे पकड़ लिया उसने बताया है अभी दो बच्चे मऊरानीपुर की सुबह पकड़े थे तो वह गाड़ी में है वह गाड़ी उज्जैन निकल चुकी है कृपया अपने बच्चों का ज्यादा से ज्यादा ध्यान रखें |” 

इस विडियो के माध्यम से दावा किया जा रहा है कि विडियो में दर्शाया गया व्यक्ति एक बच्चा चोर है जिसने मौरानीपुर से दो बच्चों का अपहरण करके उन्हें गाड़ी में उज्जैन भेज दिया |

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव विडियो 
अनुसंधान से पता चलता है कि..

जाँच के शुरुआत हमने उत्तर प्रदेश के झांसी जिले में मौरानीपुर के डीएसपी हिमांशु गौरव से संपर्क किया, उन्होंने हमें बताया कि “वह व्यक्ति बच्चा चोर नहीं है, वह एक मानसिक रूप से अस्वस्थ  व्यक्ति है जिसे बच्चा-चोर होने के संदेह में पीटा गया था | यह घटना कम से कम १०-१५ दिन पुरानी है | सोशल मीडिया पर किये गए दावे गलत है” | 

इसके पश्चात हमने मौरानीपुर के पुलिस स्टेशन से संपर्क किया, उन्होंने हमें बताया कि “विडियो  में दर्शाया गया व्यक्ति मानसिक रूप से अस्वस्थ है और युवक का नाम गजेंद्र सिंह है | वह मध्य प्रदेश के रूठियाई ग्राम से हैं और ग्वालियर में अपनी मानसिक बीमारी का इलाज करवा रहा है | उन्होंने एक स्टेशन पर अपना रास्ता खो दिया और मौरानीपुर में भटक गए, जहां स्थानीय लोगों को वे एक बच्चा अपहरनकर्ता समझते हुए उसे पीटने लगे | एक मनोविज्ञान परीक्षण से हमें यह निर्धारित करने में मदद मिली कि युवक मानसिक रूप से अस्थिर था | उनके माता-पिता  को मौरानीपुर बुलाया गया जिन्होंने बताया कि उनका बेटा इंजीनियरिंग का छात्र हुआ करता था |”

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | विडियो में दर्शाया गया  व्यक्ति मानसिक रूप से अस्वस्थ है जिस पर बच्चा चोर होने का गलत आरोप लगाया गया है | 

बच्चा चोरी पर अन्य फैक्टचेक 

1. इस मानसिक रूप से अस्वस्थ व्यक्ति का विडियो बच्चा चोर के नाम से सोशल मीडिया पर फैलाया जा रहा है |
2. वीडियो में इस युवक के मुंह से जबरन बच्चा चोर होने की बात कहलवाई गई है |
3. इन लोगों को बच्चा चोर होने के शक में पीटा गया है |

Avatar

Title:मानसिक रूप से अस्वस्थ व्यक्ति को बच्चा चोर बताया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •