कुल्लू में बस कंडक्टर को बच्चा चोर समझते हुए पीट डाला |

False Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

१ सितम्बर २०१९ को “Aah Chakk” नामक एक फेसबुक पेज ने एक तस्वीर पोस्ट की थी, जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “बच्चा चोर समझकर पीटा कंडक्टर kullu#hp# Kid thief gang rumor | कुल्लू: बच्चा चोर गिरोह की अफवाह से लोगों में दहशत का माहौल है। इसी के चलते कुल्लू में बच्चा चोर का आदमी समझकर लोगों ने एक ट्रक कंडक्टर को पीट डाला। यह घाटना रविवार सुबह की है। वहीं इस मामले में एसपी कहना है कि अफवाह फैलाने वालों पर व आरोपियों पर कार्रवाई की जाएगी |” 

इस तस्वीर को सोशल मीडिया मंचों पर साझा करते हुए दावा किया जा रहा है कि तस्वीर में दर्शाया गया व्यक्ति कुल्लू में एक बस कंडक्टर है जिसे वहां किसी बच्ची के अपहरण करने की कोशिश के  जिसके चलते लोगों ने खूब पीटा | हमारे फैक्ट चेकिंग टीम ने इस तस्वीर के माध्यम से किये गए दावों की सच्चाई जानने की कोशिश की | 

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि… 

जाँच की शुरुआत हमने इस घटना से जुड़े खबरों को “बस कंडक्टर किडनेपर कुल्लू” जैसे कीवर्ड्स का इस्तेमाल करते हुए ढूँढा, जिसके परिणाम से हमें १ सितम्बर २०१९ को पंजाब केसरी द्वारा प्रकाशित खबर मिली | खबर के शीर्षक में लिखा गया है कि “बच्चा चोर समझकर पीट डाला ट्रक का परिचालक, ७ लोग गिरफ्तार |” साथ ही लिखा गया है कि जिला मुख्यालय कुल्लू के अखाड़ा बाजार से सटे रामशिल्रा में लोगों ने एक ट्रक परिचालक की बच्चा चोर समझ कर पिटाई कर दी | पुलिस की टीम समय रहते मौके पर न पहुंचती तो अनहोनी हो सकती थी | पुलिस ने पिटाई करने वाले लोगों के विरुद्ध मामला दर्ज कर ७ लोगों को गिरफ्तार कर लिया है | 

आर्काइव लिंक 

इसके पश्चात हमने कुल्लू के डीएसपी आशीष शर्मा से संपर्क किया, उन्होंने हमें बताया कि “यह घटना रविवार सुबह का है जब गैमन पुल के पास कुछ लोग एक अनजान व्यक्ति को बच्चा चोर समझ कर पीट रहे थे, पूछताछ में पता चला है कि उक्त व्यक्ति बिलासपुर का रहने वाला है, जिसका नाम राकेश कुमार है और एक बस का कंडक्टर है | वह पानी की टंकी से पानी पीने गया था, जहां एक बच्चा भी मौजूद था | उसने उस बच्चे से हंसकर नमस्ते कहा और पानी की टंकी के बारे में पूछा, जिस पर वह बच्चा डर गया और रोने लगा | इसी के चलते लोगों को उसपर शक हुआ जिसके कारण लोग उसे बच्चा चोर समझकर पीटने लगे | बच्चे से पूछने पर पता चला कि वह इसलिए चिल्लाया क्‍योंकि उसे उसके माता-पिता ने बताया था कि आजकल यहां बच्चा चोर घूम रहे हैं | वहां मौजूद व्यक्तियों ने उस व्यक्ति की तलाशी भी ली और उसके पास से इत्र की एक शीशी मिली, इत्र की शीशी को बेहोशी की दवा बता कर लोगों ने उस कंडक्टर के साथ मारपीट की | इस घटना को गलत तरीके से फैलाया जा रहा है, तस्वीर में दर्शाया गया व्यक्ति कोई बच्चा चोर नही है |”

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | तस्वीर में दर्शाए गये व्यक्ति कोई बच्चा चोर नही है बल्कि बच्ची की मदद करने की मंशा से इसने इस बच्ची से बात की पर बच्ची डरकर रोने लगी |

बच्चा चोरी पर अन्य फैक्टचेक – 

1. इस मानसिक रूप से अस्वस्थ व्यक्ति का विडियो बच्चा चोर के नाम से सोशल मीडिया पर फैलाया जा रहा है |

2चंदा इकट्टा करने वालें दो बहरूपिये की तस्वीर को बच्चा चोर के नाम से फैलाया जा रहा है |

3. कानपूर में दो बुज़ुर्ग भिखारियों को बच्चा चोर होने के आरोप में पीटा गया |

Avatar

Title:कुल्लू में बस कंडक्टर को बच्चा चोर समझते हुए पीट डाला |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •