डॉ. बाबासाहब अम्बेडकर की मूर्ति को वायनाड में नहीं, बल्कि तमिलनाडु के वेदारानयम में क्षति पहुंचाई गई |

False National Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

३ सितम्बर २०१९ को फेसबुक पर ‘Rani Arora’ नामक एक यूजर द्वारा एक पोस्ट साझा किया गया है जिसमें एक वीडियो दिया है | वीडियो में किसी जगह किसी महापुरुष की मूर्ति कुछ लोगों द्वारा क्षतिग्रस्त किये जाने की घटना का चित्रण है |     

पोस्ट के विवरण में लिखा गया है कि, 

#राहुल_गांधी के संसदीय क्षेत्र #वायनाड में शांतिदूतों ने #अंबेडकर की #मूर्ति को तोड़ कर भीम और मीम की एकता को तार तार कर दिया ।
नोट- निजी तौर पर हम ऐसे असंवैधानिक कृत्यों की कड़ी निंदा करते हैं ।

इस पोस्ट व्दारा किया यह दावा किया जा रहा है कि, राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र वायनाड में भारतरत्न डॉ. बाबासाहब अम्बेडकर की मूर्ति क्षतिग्रस्त की गई | लेकिन जब हम वीडियो को बारीकी से देखते है, तब घटनास्थल पर दुकानों के बोर्ड पर तमिल भाषा में लिखा हुआ पाते है | इससे इस वीडियो के वायनाड का होने पर संदेह होता है | तो आइये जानते है इस  वीडियो व दावे की सच्चाई |

मूल पोस्ट यहाँ देखें – ‘Rani Arora’  | ARCHIVE POST

अनुसन्धान से पता चलता है कि…

सबसे पहले हमने साझा वीडियो के की-फ्रेम्स को इन्विड टूल की मदद से रिवर्स इमेज सर्च किया, तो गूगल परिणाम से हमें यू-ट्यूब का एक लिंक मिला | ‘4-star news’ नामक यूजर द्वारा २६ अगस्त २०१९ को एक विडियो अपलोड किया गया है, जो पोस्ट में साझा विडियो से मिलता-जुलता है | लेकिन शीर्षक में लिखा है कि, Ambedkar statue damaged in Vedaranyam, अर्थात वेदारानयम में अम्बेडकर का पुतला तोडा | यह विडियो आप नीचे देख सकते है |

इसके बाद हमने Ambedkar statue damaged in Vedaranyam इन्ही की-वर्ड्स के साथ यू-ट्यूब पर सर्च किया तो परिणाम से हमें कई समाचार संस्थाओं के आधिकारिक चैनल पर यही वीडियो खबर के साथ अपलोड किया हुआ मिला | खबर में कहा गया है कि, यह घटना तमिलनाडु राज्य के नागापट्टिनम जिले में स्थित वेदारानयम शहर में घटित हुई थी | नीचे आप ‘फ्री प्रेस जर्नल’ द्वारा २६ अगस्त २०१९ को अपलोड समाचार एजेंसी ‘ANI’ का वीडियो देख सकते है | २५ अगस्त को यह घटना घटित हुई थी |

इसके अलावा हमें ‘BBC News Tamil’ तथा ‘Kanak News’ द्वारा भी यही वीडियो अपलोड किया गया है, तथा कहा गया है कि, यह घटना वेदारानयम शहर में घटित हुई थी |

इसके बाद हमने यू-ट्यूब पर तंजावुर क्षेत्र के DIG आईपीएस लोगानाथन द्वारा इस घटना पर दी गई जानकारी का एक वीडियो ढूंढा | TNPOLICE द्वारा यह विडियो २७ अगस्त २०१९ को अपलोड किया गया है | यह विडियो आप नीचे देख सकते है | इस विडियो में DIG आईपीएस लोगानाथन ने कहा है की, “दलित और सवर्ण समुदायों के बीच झड़प के बाद कुछ लोगों ने डॉ. बाबासाहब अम्बेडकर की मूर्ति को क्षति पहुंचाई | पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए दोनों गुटों के लोगों को गिरफ्तार किया | फ़िलहाल वेदारानयम में शांति बनी हुई है |”

इसके बाद हमने वेदारानयम पुलिस थाने के पुलिस निरीक्षक सुभाष चन्द्र बोस से इस सन्दर्भ में बात की | उन्होंने हमें बताया कि, “यह घटना वेदारानयम में ही घटित हुई है | यह मामला दलित और सवर्ण समुदायों के बीच का है | इस घटना में मुस्लिम समुदाय के किसी भी व्यक्ति को गिरफ्तार नहीं किया गया है |”

इससे यह बात स्पष्ट हो जाती है कि, यह वीडियो डॉ. बाबासाहब अम्बेडकर की मूर्ति को राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र वायनाड में क्षति पहुंचाए जाने का नहीं है | यह घटना तमिलनाडु राज्य के नागापट्टिनम जिले में स्थित वेदारानयम शहर में घटित हुई थी | साथ ही इस घटना में किसी मुस्लिम समुदाय के व्यक्ति की गिरफ़्तारी नहीं हुई है |

जांच का परिणाम :  इस संशोधन से यह स्पष्ट होता है कि, उपरोक्त पोस्ट में साझा वीडियो के साथ किया गया दावा कि, “राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र वायनाड में भारतरत्न डॉ. बाबासाहब अम्बेडकर की मूर्ति क्षतिग्रस्त की गई |” सरासर गलत है | डॉ. अम्बेडकर की मूर्ति को वायनाड में नहीं, बल्कि तमिलनाडु के वेदारानयम में क्षति पहुंचाई गई |

Avatar

Title:डॉ. बाबासाहब अम्बेडकर की मूर्ति को वायनाड में नहीं, बल्कि तमिलनाडु के वेदारानयम में क्षति पहुंचाई गई |

Fact Check By: R Pillai 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •