हरियाणा में दो ग्रामीणों पर हमले के वीडियो को भाजपा विधायक पर हमले के रूप में फैलाया जा रहा है |

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सोशल मीडिया पर कुछ लोगों के बीच मारपीट का एक वीडियो काफी तेजी से वायरल हो रहा है | इस वीडियो के माध्यम से दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो हरियाणा से है जहाँ लोग भा.ज.पा के विधायक को पीट रहे है |

९० सेकंड लंबी की ये वायरल क्लिप असल में एक सीसीटीवी फुटेज है, जिसमे पुरुषों के एक समूह को एक कमरे में प्रवेश करते दिखाया गया है जहां दो आदमी पहले से ही बैठे एक अधिकारी के साथ बातचीत कर रहे हैं | लोगों के इस समूह ने कमरे में प्रवेश करते ही अधिकारी के सामने बैठे दो लोगों पर क्रूर हमला शुरू कर दिया | वीडियो में कुछ समय बाद अधिकारी कमरे से बाहर निकल जाता है और पुरुषों का समूह मारपीट जारी रखता हैं |

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि 

हरियाणा में BJP MLA की धुलाई, अब भक्तों की बारी हो सकती है धीरे-धीरे लोगों में जागरूकता आ रही है |”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि….

जाँच की शुरुवात हमने इस वीडियो को इन्विड टूल के मदद से गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने से की, जिसके परिणाम से हमें २३ जुलाई २०१० को यूट्यूब पर इंडिया टीवी द्वारा प्रसारित एक वीडियो प्राप्त हुआ | वीडियो  के शीर्षक में लिखा गया है कि “‘हरियाणा के मुनक में एसडीओ ऑफिस में गुंडों द्वारा २ लोगों को बेरहमी से पीटा गया |” रिपोर्ट में उल्लेख किया गया है कि यह घटना हरियाणा के मुनक गांव में उप-मंडल अधिकारी (एसडीओ) के कार्यालय में हुई थी | इंडिया टीवी की रिपोर्ट में एक पुलिस अधिकारी की बाइट भी शामिल है, जिसमें उन्हें यह कहते हुए सुना जा सकता है कि तीनों आरोपी पकड़े गए हैं | उनके अनुसार पांच लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है, जिनमें से तीन को गिरफ्तार किया गया है, और दो अन्य लोगों की भागीदारी की जांच कर की जा रही है |

तद्पश्चात फैक्ट क्रेसेंडो ने मुनक पुलिस स्टेशन के एस.एच.ओ कुलदीप सिंह से संपर्क किया जिन्होंने हमें बताया कि 

इस घटना के साथ किसी भी राजनैतिक दल का कोई संबंध नहीं है और ना ही वीडियो में कोई विधायक है | यह घटना दो गुटों के आपसी झगड़ों के कारण हुई है | यह सब एक ही गावं के रहने वाले है जिनमे से ३ लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जो इस हमले से जुड़े हुए हैं | यह घटना मुनक के इलेक्ट्रिसिटी डिपार्टमेंट के एस.डी.ओ ऑफिस में हुई थी | कुछ गावं वाले खेत के ऊपर से इलेक्ट्रिक तार लगाने की समस्या को लेकर एस.डी.ओ में बात करने गये जिसके चलते कुछ लोग अंदर आकर मारपीट करने लगे |”

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात् हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | हरियाणा के एक स्थानीय सरकारी कार्यालय के अंदर दो गुटों के बीच आपसी झगडे को लेकर हुए पिटाई के सीसीटीवी फुटेज को सोशल मीडिया पर यह दावा करते हुये फैलाया जा रहा है कि, जिन लोगों पर हमला किया जा रहा है उनमें से एक भारतीय जनता पार्टी का विधायक है, जो की सरासर गलत है|

Avatar

Title:हरियाणा में दो ग्रामीणों पर हमले के वीडियो को भाजपा विधायक पर हमले के रूप में फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •