पंजाब में ‘आप’ पार्टी के सदस्यों ने आरटीओ अफसर की पीटाई नहीं की; जानिए वीडियो की सच्चाई

False Political

वीडियो में जिसकी पीटाई हो रहीं है वह आदमी ना आरटीओ अधिकारी है और ना ही यह भीड़ आप पार्टी से संबंधित है।

पंजाब विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) की जीत के बाद हिंसा के वीडियो वायरल हो रहे है। ऐसे ही एक वीडियो में एक शक्स को भीड़ द्वारा पीटते हुए देखा जा सकता है। इस वीडियो क बारे में दावा किया जा रहा है कि पंजाब में ‘आप’की सरकार आते ही पार्टी के गुंडों ने एक आरटीओ अधिकारी को ऐसे पीटा।

वायरल हो रहे वीडियो के साथ लिखा हुआ है, “पंजाब मे गुंडाराज शुरू हो गया है। अभी तो यह शुरुआत है RTO ऑफिसर के साथ केजरीवाल, भगवंत मान के गुंडों ने खूनी खेल खेला। यह आज की वीडियो है पंजाब की। अभी तो शपथ भी नही ली शराबी भगवंत मान ने तो यह हाल कर रहे है पंजाब का।“

फेसबुक

आर्काइव लिंक


Read Also: FACT CHECK: क्या ‘द कश्मीर फाइल्स’ फिल्म देखने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रो पड़े?


अनुसंधान से पता चलता है कि…

इस वीडियो की जानकारी लेने के लिए हमने सबसे पहले इसे पंजाब के कुछ पत्रकारों को भेजा। होशियारपुर के पत्रकार एस. परमिंदर सिंह बरियाना ने हमें बताया कि “यह वीडियो होशियारपुर में स्थित हाजीपुर का है। यह घटना शायद 15- 20 दिन पहले हुई थी। वहाँ माइनिंग कंपनी का एक रेत का ठेका है और उसका जो कॉन्ट्रैक्टर है ये उसका आदमी है। ये शख्स गाड़ियों से कलेक्शन कर रहा था। यह कोई आरटीओ अधिकारी नहीं है। और जो लोग इसे पीट रहे है वे आम आदमी पार्टी से नहीं है।“

इसके बाद हमने होशियारपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कुलवंत सिंह हीर से संपर्क। उन्होंने हमें बताया कि “यह घटना 7 मार्च को कुलिया-लुबाना रोड हाजीपुर पर हुई थी। जिस शख्स की पिटाई हुई थी उसका नाम सुरिंदर सिंह है। वह उत्तर में बिजनौर के चांदपुर का रहने वाला है। वह प्राइम विजन इंडस्ट्री प्राइवेट लिमिटेड नामक एक माइनिंग कंपनी में काम करता है। वह रास्ते से जाने वाली गाड़ियों से 50 रुपये का चार्ज ले रहा था। उस बीच उसकी कुछ ड्राइवरों के साथ झड़प हो गयी व उन्होंने उसे पीट दिया। 10 मार्च को हाजीपुर पुलिस स्टेशन में उन ड्राइवरों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। इनमें से किसी का भी आम आदमी पार्टी से कोई संबन्ध नहीं है और जिसकी पिटाई हुई है वह आरटीओ अधिकारी नहीं है।“ 

आपको बता दें कि पंजाब में हुये विधानसभा चुनाव के नतीजे 10 मार्च को आये थे और ये घटना 7 मार्च को हुई थी। इससे ये साफ हो जाता है कि यह घटना आम आदमी पार्टी की जीत के पहले की है।


Read Also: क्या राहुल गांधी ने चुनाव में हारने के बाद बैडमिंटन खेला? जानिये सच… 


निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल हो रहे वीडियो के साथ किया गया दावा गलत है। यह घटना पंजाब के हाजिपुर में दो गुटों के बीच लड़ाई हुई थी। इस घटना में किसी आरटीओ अधिकारी की पीटाई नहीं हो रही है। ये पंजाब चुनाव के परिणाम आने के पहले की घटना है और इसका ‘आप’ से कोई संबन्ध नहीं है।

Avatar

Title:पंजाब में ‘आप’ पार्टी के सदस्यों ने आरटीओ अफसर की पीटाई नहीं की; जानिए वीडियो की सच्चाई

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: False