क्या त्रिपुरा के डी.एम शैलेश कुमार यादव को निलंबित किया गया है? जानिये सच…

False Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

वर्तमान में एक वीडियो इंटरनेट पर काफी सुर्खियों में है, उस वीडियो में आप पश्चिम त्रिपुरा के डी.एम शैलेश कुमार यादव को एक शादी समारोह को रोकते हुए व लोगों को बाहर निकालते हुए देखा जा सकता है। वीडियो में वह काफी क्रोधित नज़र आ रहे है। इस वीडियो के चलते सोशल मंचों पर एक दावा काफी तेज़ी से साझा किया जा रहा है, जिसके मुताबिक डी.एम शैलेश कुमार यादव को निलंबित किया गया है।

वायरल हो रहे पोस्ट के शीर्षक में लिखा है, 

सोशल मीडिया की ताकत, शादी में लट्ठ भांजने वाला अगरतला का घमण्डी कलेक्टर शैलेस यादव को निलंबित किया गया। #त्रिपुरा

फेसबुक | आर्काइव लिंक

आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान पाया कि वायरल हो रही खबर गलत है। पश्चिम त्रिपुरा के डी.एम शैलेश कुमार यादव को निलंबित नहीं किया गया है। इस मामले में जाँच अभी जारी है।

जाँच की शुरुवात हमने वायरल हो रहे दावे को गूगल पर कीवर्ड सर्च कर किया, परिणाम में हमें यू.एन.आई द्वारा इस वर्ष 28 अप्रैल को प्रकाशित किया हुआ एक समाचार लेख मिला, जिसमें लिखा है कि, त्रिपुरा के मुख्यमंत्री ने राज्य के प्रमुख शासन सचिव मनोज कुमार को इस मामले की जाँच करने व इसकी रिपोर्ट जमा करने का आदेश दिया है। इस मामने की जाँच के लिए दो अधिकारियों कि कमेटी बनायी गयी है व इस मामले की जाँच अभी जारी है। उस कमेटी में वरिष्ठ आई.ए.एस अधिकारी किरण गित्तेतनुश्री देब बरमा को नियुक्त किया गया है।

लेख में यह भी लिखा है कि, पश्चिम त्रिपुरा के डी.एम शैलेश कुमार यादव ने अपने बर्ताव के लिए माफी मांगी है व उन्होंने कहा कि उनका किसी भी शख्स की भावना को ठेस पहुंचाने का इरादा नहीं था व उन्होंने ये सब लोगों के हित के लिए ही किया है।

आपको बता दें कि यू.एन.आई के इस समाचार लेख में कहीं भी ऐसा नहीं लिखा गया है कि डी.एम शैलेश कुमार यादव को निलंबित किया गया है।

आर्काइव लिंक

इसके बाद हमने त्रिपुरा के मुख्यमंत्री के दफ्तर में प्रमुख सचिव लाहलिया दारलोंग से संपर्क किया तो उन्होंने इस दावे को गलत बताते हुए कहा कि, “वायरल हो रही खबर सरासर गलत है। डी.एम शैलेश कुमार यादव को निलंबित नहीं किया गया है। वर्तमान में मुख्यमंत्री जी ने प्रमुख शासन सचिव मनोज कुमार को इस मामले की रिपोर्ट जारी करने का आदेश दिया है व इसके दो अधिकारियों की कमेटी बनायी गयी है। इस मामले की अभी कोई सुनवाई नहीं हुई है।“

आखिर में हमने त्रिपुरा के प्रमुख शासन सचिव मनोज कुमार से संपर्क किया तो उन्होंने हमें बताया कि, “वायरल हो रही खबर सरासर गलत है, डी.एम शैलेश कुमार यादव को निलंबित नहीं किया गया है।“

आपको बता दें कि सोशल मंचों पर उपभोक्ता डी.एम शैलेश कुमार यादव को निलंबित करने की मांग कर रहें हैं।

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि उपरोक्त दावा गलत है। पश्चिम त्रिपुरा के डी.एम शैलेश कुमार यादव को निलंबित नहीं किया गया है। इस मामले में जाँच अभी जारी है।

फैक्ट क्रेसेंडो द्वारा किये गये अन्य फैक्ट चेक पढ़ने के लिए क्लिक करें :

१. राजस्थान सरकार के नाम से अंतिम संस्कार को लेकर जारी सर्कुलर फर्जी है।

२. CLIPPED VIDEO: तृणमूल कांग्रेस उम्मीदवार कौशानी मुख़र्जी के वीडियो को सन्दर्भ से बाहर फैलाया जा रहा है|

३. गुजरात के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में भारतीय राष्ट्रीय ध्वज पर प्रतिबंध वाली ख़बरें गलत व भ्रामक है|

Avatar

Title:क्या त्रिपुरा के डी.एम शैलेश कुमार यादव को निलंबित किया गया है? जानिये सच…

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply