क्या पंजाब सरकार ने नर्सरी से पीएचडी तक बालिकाओं की पढ़ाई को मुफ्त कर दिया है ?

Partly False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

फोटो क्रेडिट- विकिपीडिया

२५ नवंबर २०१९ को “Humara Himachal” नामक फेसबुक यूजर ने एक पोस्ट में तस्वीर साझा कर उसके शीर्षक में लिखा गया है कि “#पंजाब के मुख्यमंत्री #कैप्टन_अमरिंदर_सिंह_जी का एक और सराहनीय कार्य. हमारा #हिमाचल का परिवार हिमाचल प्रदेश के #मुख्यमंत्री श्री #जयराम_ठाकुर जी से विनती करता है कि आप भी #बेटियों को मुफ्त #शिक्षा प्रदान करें ।।परंतु #पटवारी परीक्षा के दौरान जो हुआ उस तरह का नहीं हो कि पहले बेटियों को किसी भी पेपर की फीस नहीं ली जाएगी परंतु पटवारी पेपर के लिए उनसे फीस ली गई धन्यवाद। #बेटी_बचाओ_बेटी_पढ़ाओ ।”

पोस्ट में दी गई तस्वीर में लिखा गया है कि “पंजाब सरकार नर्सरी से लेकर पी.एच.डी तक सभी लड़कियों के लिए मुफ्त शिक्षा की घोषणा करती है |”

इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर फैलाते हुए दावा किया जा रहा है कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने पंजाब में सभी लड़कियों को मुफ्त में शिक्षा देने की घोषणा किया है | फैक्ट क्रेस्सन्डो ने इस पोस्ट की सच्चाई जानने की कोशिश की | 

फेसबुक पोस्ट 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जाँच की शुरुवात हमने उपरोक्त दावे से संबंधित खबरों को ढूँढने से की, जिसके परिणाम से हमें २१ जुलाई २०१७ को जनसत्ता द्वारा प्रकाशित खबर मिली, जिसके अनुसार २०१७ में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने यह घोषणा की थी कि पंजाब सरकार आगामी शैक्षणिक सत्र से नर्सरी से पी.एच.डी तक लड़कियों को मुफ्त शिक्षा प्रदान करने वाली है | पूरी खबर को आप नीचे पढ़ सकते हैं | 

आर्काइव लिंक

यह खबर अन्य मीडिया संगठनों द्वारा भी प्रकाशित की गई थी |

Firstpost | Archive | Punjabkesari | Archive

इसके आलावा  हमें टाइम्स ऑफ इंडिया द्वारा १४ मार्च, २०१९ को प्रकाशित एक खबर मिली | इस खबर में यह स्पष्ट रूप से सूचित किया गया था कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा नर्सरी से पीएचडी तक की लड़कियों की मुफ्त शिक्षा के लिए घोषणा के २१ महीने बाद भी इसे लागू नहीं किया गया है | इस खबर को आप नीचे देख सकते हैं |

आर्काइव लिंक

फैक्ट क्रेस्सन्डो ने पंजाब शिक्षा विभाग के अतिरिक्त निदेशक गुरदर्शन जी से बात की, उन्होंने हमें बताया, “पंजाब में लड़कियों को पी.एच.डी तक मुफ्त शिक्षा प्राप्त करने की जानकारी गलत है |हालाँकि ८ तक सभी छात्रों को मुफ्त व उसके बाद १२ वीं कक्षा तक के छात्रों को कुछ प्रावधानों के तह्त मुफ्त शिक्षा दी जाती है | जबकि स्नातक और स्नातकोत्तर स्तर पर ट्यूशन फीस माफ की जाती है | परंतु वर्तमान में पीएचडी के लिए ऐसी कोई योजना उपलब्ध नहीं है |” 

इसके पश्चात फैक्ट क्रेस्सन्डो पंजाब सरकार में शिक्षा विभाग के पीआरओ राजिंदर सिंह को संपर्क कर इस सन्दर्भ में बात की, उन्होंने हमें बताया कि, “पंजाब में पीएचडी तक मुफ्त शिक्षा के बारे में जानकारी गलत है | वर्तमान में, सभी छात्रों को कक्षा ८ तक मुफ्त शिक्षा दी जा रही है | इसके अलावा, क्लास ९ से क्लास १२ तक के छात्रों के लिए कुछ प्रावधानों और नीति नियमों को निर्धारित किया गया है | उदाहरण के लिए, सरकार द्वारा अनाथ, बीपीएल लाभार्थी और शिक्षा में सर्वोच्च योग्यता रखने वाले छात्रों को मुफ्त शिक्षा देने का प्रावधान किया गया है |”  इसके अलावा, उन्होंने हमें यह भी बताया कि लड़कों और लड़कियों के लिए अलग-अलग प्रावधान किए गए हैं |

इसके अलावा, राजिंदर सिंह ने हमें पंजाब सरकार द्वारा १२ वीं कक्षा की शिक्षा के लिए राज्य सरकार द्वारा २०१३-१४ को जारी किये गये परिपत्र की एक प्रति भेजी | जिसे आप नीचे देख सकते हैं |

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को आंशिक रूप से गलत पाया है | पंजाब सरकार ने लड़कियों के लिए नर्सरी से पीएचडी तक मुफ्त शिक्षा की घोषणा की थी, लेकिन इसे अभी लागू नहीं किया है | वर्तमान में, सभी छात्रों को कक्षा ८ तक मुफ्त शिक्षा दी जा रही है | इसके अलावा, क्लास ९ से क्लास १२ तक के छात्रों के लिए कुछ प्रावधानों और नीति नियमों के तहत मुफ्त शिक्षा का प्रावधान किया गया है |

Avatar

Title:क्या पंजाब सरकार ने नर्सरी से पीएचडी तक बालिकाओं की पढ़ाई को मुफ्त कर दिया है ?

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: Partly False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •