FactCheck- जोधपुर में एक हिन्दू परिवार के बीच हुये आपसी मारपीट के वीडियो को सांप्रदायिक रंग देते हए फैलाया जा रहा है

Communal False

सोशल मीडिया पर दो व्यक्तियों के बीच हो रही मारपीट के एक विचलित कर देने वाले वीडियो को फैलाते हुए यह दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो राजस्थान से है और पीड़ित को मारने वाला व्यक्ति मुस्लिम है | 

इस वीडियो में हम कुछ लोगों को एक खून से लथपथ व्यक्ति को सड़क पर पीटते हुए देख सकते है | इस मारपीट में हम हमलवारों को सड़क पर बैठी एक बुज़ुर्ग महिला को भी लाठी से पीटते हुए देख सकते है | हम हमलावरों को तलवारों से भी वार करते हुए देख सकते है |

पोस्ट के कैप्शन में लिखा गया है कि 

“मुल्लों को कोई डर नहीं क्योंकि राजस्थान में इनकी कांग्रेस सरकार है, जय हो गहलोत अभी तक ५ दिन हो गए एक भी गिरफ़्तारी नहीं क्योंकि मारने वाले मुस्लिम हैं”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान पाया कि उपरोक्त खबर के साथ किया दावा गलत व भ्रामक है। यह वीडियो राजस्थान के जोधपुर से है | इस मामले के साथ संप्रदायिकता का कोई संबंध नही है | यह मामला एक ही परिवार का जो कि हिन्दू है | इस मामले से संबंधित आरोपी और पीड़ित दोनों ही हिन्दू है | 

जाँच की शुरुवात हमने इस वीडियो को इन्विड वी वेरीफाई टूल की मदद से छोटे की फ्रेम्स में तोड़कर व गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च करने से किया, जिसके परिणाम में हमें यह वीडियो पत्रिका द्वारा प्रकाशित एक खबर में रिपोर्ट किया हुआ मिला | इस खबर के अनुसार यह घटना राजस्थान के जोधपुर की है | यह मामला पारिवारिक रंजिश को लेकर हुआ था, जहाँ एक ही परिवार के दो गुटों ने धारदार हथियारों के साथ आपस में हमला किया था | यह मामला १९ सितंबर रविवार को खटीकों के मोहल्ले में हुआ था | 

नवभारत टाइम्स द्वारा प्रकाशित खबर के अनुसार यह मामला महामंदिर थाना क्षेत्र के अंतर्गत है | खबर में लिखा गया है कि इस मोहल्ले में आसपास ही निवास करने वाले रिश्तेदारों में किसी बात को लेकर विवाद हो गया। इस मामले के चलते एक युवक ने धारदार हथियार से घर की महिलाओं और अन्य लोगों पर हमला कर दिया।

इस मामले में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए फैक्ट क्रेसेंडो ने महामंदिर थाने के एसएचओ लेखराज सिहाग से संपर्क किया, जिन्होंने हमें बताया कि इस मामले के साथ संप्रदायिकता का कोई संबंध नही है | उन्होंने हमें बताया कि इस मामले से संबंधित कोई भी व्यक्ति मुस्लिम नही है | इस मामले में घायल हुए पीड़ित और आरोपी दोनों ही हिन्दू है और खटिक समुदाय से है | यह मामला भी खटिकों के मोहल्ले में हुआ था | उन्होंने हमें बताया कि अनंत चतुर्दशी के पूर्व रात्रि जागरण के दौरान परिवार के दोनों पक्षों के बीच विवाद हुआ | यह मामला असल में एक ही परिवार के दो गुटों बीच का था | इस मामले का विवरण देते हुए उन्होंने हमें बताया कि पीड़ित पक्ष ने विरोधी पक्ष को जागरण के लिए नही बुलाया था, जिसके चलते दोनों पक्षों के बीच कहासुनी हो गयी और मामला इतना बिगड़ गया कि सब आपस में हाथापाई पर उतर आये | इस मामले के चलते वीडियो में दिख रहे खून से लथपथ व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती कराया गया है | इस घटना में १० लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज हुई है और ६ लोगों की गिरफ़्तारी हो चुकी है | उन्होंने हमें यह भी बताया कि इन लोगों को शांति भंग करने के आरोप से गिरफ्तार किया गया है | उनके द्वारा हमें कुछ आरोपियों का नाम भी साझा किया, जो कि – रविन्द्र और मनोहरलाल खटिक, विकास, संतोष, घनश्याम, भरत, विशाल और पुखराज है | इस मामले की जाँच अभी भी जारी है परंतु यह बात स्पष्ट है कि इस मामले के साथ संप्रदायिकता का कोई संबंध नही है और ना ही कोई भी आरोपी मुस्लिम है |

निष्कर्ष:

तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट के माध्यम से किये गये दावे को गलत पाया है | सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो के साथ संप्रदायिकता से कोई संबंध नही है | वीडियो में दिख रहे हमलावर मुस्लिम नहीं है | इस मामले से संबंधित कोई भी व्यक्ति मुस्लिम नहीं है, बल्कि यह मामला एक ही हिन्दू परिवार के दो गुटों के बीच का है | इस वीडियो को सांप्रदायिक रंग देते हुए लोगों के बीच भ्रम फैलाया जा रहा है |

Avatar

Title:जोधपुर में एक हिन्दू परिवार के बीच हुये आपसी मारपीट के वीडियो को सांप्रदायिक रंग देते हए फैलाया जा रहा है

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •