साउदी अरब के पुराने वीडियो को चक्रवाती तूफान तौकते से ट्राइडेंट हॉटेल को हुई क्षति का बता वायरल किया जा रहा है।

False Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

वर्तमान में कई राज्यों में आये चक्रवाती तूफान तौकते के चलते सोशल मंचों पर कई वीडियो व तस्वीरें साझा की जा रही हैं जिसमें आप जगह-जगह पर इस तूफान की वजह से हुई तबाही के दृश्य देख सकते है। ऐसा ही एक वीडियो इंटरनेट पर काफी तेज़ी से वायरल हो रहा है जिसमें आप कुछ पार्क गाड़ियों देख सकते है और अचानक से उनपर एक इमारत का छज्जा आ गिरता है। इस वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि यह मुंबई के ट्राइडेंट हॉटेल का है। आपको बता दें कि ये एक सी.सी.टी.वी फूटेज है।

वायरल हो रहे पोस्ट के शीर्षक में लिखा है

“नरीमन पॉइंट पर स्थित ट्राइडेंट हॉटल का आज का दृश्य।“

फेसबुक | आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान पाया कि वायरल हो रहा वीडियो वर्ष 2020 का है जब साउदी अरब में घमासान बरसात व तेज़ हवा के कारण एक इमारत से उसके छज्जे का कुछ हिस्सा गिरा था। इस वीडियो चक्रवाती तूफान तौकते से कोई सम्बंध नहीं है।

जाँच की शुरुवात हमने वायरल हो रहे वीडियो को इनवीड-वी वैरिफाइ टूल के माध्यम से उसको छोटे कीफ्रेम्स में काटकर गूगल रीवर्स इमेज सर्च कर किया, परिणाम में हमें अलजज़िरा द्वारा 1 अगस्त 2020 को प्रकाशित किया हुआ एक समाचार लेख मिला, जिसमें वायरल हो रहा वीडियो प्रसारित किया हुआ है। समाचार लेख के मुताबिक पिछले वर्ष साउदी अरब के मदीना में हुई मुसलाधार बरसात से हुये नुकसान के चलते काफी निजी संपत्तियों को नुकसान पहुंचा था व कई रोशनी के खंबे सड़क पर गिर गये थे। मदीना के एक क्षेत्र में एक इमारत का एक हिस्सा गिरने की वजह से उसके नीचे खड़ी गाडियाँ कुचलीं गयी थीं।

आर्काइव लिंक

वायरल हो रहे वीडियो के बारे में अधिक जानकारी पाने के लिये आप अरेबिक आर.टी, अल-मरसद, अनाहर.कॉम द्वारा प्रकाशित किये गये लेख भी पढ़ सकते है।

आर्काइव लिंक | आर्काइव लिंक | आर्काइव लिंक

इसके पश्चात हमने यूट्यूब पर कीवर्ड सर्च कर हमने वीडियो के बारे में अधिक जानकारी हासिल करने की कोशिश की, परिणाम में हमें यह वीडियो एक उपभोक्ता द्वारा 31 जुलाई 2020 को प्रसारित किया हुआ मिला व उसके शिर्षक में लिखा है, “मदीना में तेज हवाओं और बारिश के कारण कई कारों पर दीवार गिरने के बाद एक आदमी के जीवित रहने का क्षण देखें।

आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि उपरोक्त दावा गलत है। वायरल हो रहा वीडियो वर्ष 2020 में साउदी अरब में घमासान बरसात व तेज़ हवा के कारण एक इमारत से गिरे छज्जे का है। इस वीडियो का चक्रवाती तूफान तौकते से कोई सम्बंध नहीं है।

फैक्ट क्रेसेंडो द्वारा किये गये अन्य फैक्ट चेक पढ़ने के लिए क्लिक करें :

१. स्पेन के समुद्री तूफ़ान के पुराने वीडियो को भारत में आये चक्रवात तौकते का बता फैलाया जा रहा है।

२. फरीदकोट (पंजाब) के जी.जी.एम.सी अस्पताल के स्टोर में रखे बिगड़े हुये वेंटिलेटरों की तस्वीर को गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

३. पुराने व असम्बंधित वीडियो के संकलन को वर्तमान पश्चिम बंगाल में हिन्दुओं के पलटवार का बता भ्रामकता फैलाई जा रही है।

Avatar

Title:साउदी अरब के पुराने वीडियो को चक्रवाती तूफान तौकते से ट्राइडेंट हॉटेल को हुई क्षति का बता वायरल किया जा रहा है।

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •