अभिनेता अक्षय कुमार की वर्ष 2018 की तस्वीर को गत वर्ष दिल्ली के जे.एन.यू कैंपस में हुये हमले के समर्थन का बता वायरल किया जा रहा है।

False Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

गत वर्ष दिल्ली के जे.एन.यू में हॉस्टेल की बढ़ती फीस को लेकर वहाँ हो रहे छात्र आंदोलनों के दौरान  कुछ नकाबपोश लोगों ने उनपर व उनके होस्टलों पर हमला किया था, जिसके चलते 30 लोग घायल हो गये थे। इस सन्दर्भ में सोशल मंचों पर अलग अलग वीडियो व तस्वीरों को भ्रामक दावों के साथ जोड़ वायरल किया जाता रहा है, वर्तमान में अभिनेता अक्षय कुमार को इस प्रकरण से जोड़ उनकी एक तस्वीर को वायरल किया जा रहा है, तस्वीर में हम बॉलीवूड अभिनेता अक्षय कुमार को उनके हाथ में ए.बी.वी.पी का झंडा लिये देख सकतें हैं, वायरल हो रही तस्वीर के शीर्षक में लिखा है,

दोस्तो शेयर करे। आप भी समर्थन करे। JNU मे हुऐ हिंसा abvp का समर्थन करते बॉलीवुड के सुपर स्टार करोडो हिन्दुओं की शान अक्षय कुमार जी। आप पर गर्व हैं, सर जी।“

C:\Users\Lenovo\Desktop\FC\Akshay Kumar in Delhi for Padman promotions.png

फेसबुक | आर्काइव लिंक

इस पोस्ट को सोशल मंचो पर काफी वायरल किया जा रहा है। 

C:\Users\Lenovo\Desktop\FC\Akshay Kumar in Delhi for Padman promotions1.png

इस तस्वीर को वर्तमान में दिल्ली के सिंघू बोर्डर पर हो रहे किसान आंदोलन से जोड़कर भी वायरल किया जा रहा है।

आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान पाया कि वायरल हो रही तस्वीर वर्ष 2018 की है, जब बॉलीबूड अभिनेता अक्षय कुमार उनकी फिल्म पैडमैन के प्रोमोशन के लिए दिल्ली गये थे। इस तस्वीर का जे.एन.यू में हुए हमले से कोई संबन्ध नहीं है

जाँच की शुरुवात हमने वायरल हो रही खबर को गूगल पर कीवर्ड सर्च कर की, परिणाम में हमें ऐसे कोई भी समाचार लेख नहीं मिला जो इस बात की पुष्टि करता हो कि अभिनेता अक्षय कुमार ए.बी.वी.पी के समर्थन में दिल्ली गये है। इसके पश्चात हमने वायरल हो रही तस्वीर को गूगल रीवर्स इमेज सर्च किया तो हमें यह तस्वीर कई समाचार लेख में प्रकाशित की हुई मिली। न्यूज़लॉन्डरी नामक एक समाचार संस्था के लेख में इस तस्वीर को 23 जनवरी 2018 को प्रकाशित  किया गया था।

C:\Users\Lenovo\Desktop\FC\Akshay Kumar in Delhi for Padman promotions2.png

इस समाचार लेख के अनुसार यह तस्वीर एक मैरेथॉन के उद्घाटन की है। इस मैरेथॉन का नाम “रन फोर वूमन्ज़ एमपावरमेंट एंड टैक्स-फ्री विंग्स” था जो सैनिटरी पैड पर लगाये गये जि.एस.टी के विरोध में आयोजित की गयी थी। यह मैरेथॉन नेशनल स्टूडेंट यूनियन ऑफ इंडिया (NSUI)और ए.बी.वी.पी द्वारा आयोजित की गयी थी।

C:\Users\Lenovo\Desktop\FC\Akshay Kumar in Delhi for Padman promotions3.png

आर्काइव लिंक

उपरोक्त समाचार में दी गयी जानकारी को ध्यान में रखते हुए हमने यूट्यूब पर कीवर्ड सर्च किया तो हमें बॉलीवूड स्पाई हिंदी नामक एक यूट्यूब चैनल के आधिकारिक चैनल पर दिल्ली में हुई इस मैराथन की कुछ तस्वीरें देखने को मिली। यह वीडियो 3 फरवरी 2018 को प्रसारित किया गया था।

आर्काइव लिंक

इसके पश्चात हमने अक्षय कुमार के आधिकारिक ट्वीटर हैंडलफेसबुक अकाउंट को खंगाला तो हमें दोनो ही जगहो पर 22 जनवरी 2018 को इस मैराथन की तस्वीरें प्रकाशित की हुई मिली। 

आर्काइव लिंक

C:\Users\Lenovo\Desktop\FC\Akshay Kumar in Delhi for Padman promotions4.png

फेसबुक | आर्काइव लिंक

तत्पश्चात हमने ए.बी.वी.पी दिल्ली के आधिकारिक फेसबुक अकाउंट को खंगाला तो हमें वहाँ 4 मार्च 2018 को दिल्ली में 22 जनवरी 2018 को हुई महिलाओं के मैरेथॉन की कुछ तस्वीरें देखने को मिली। इसमें वायरल हो रही तस्वीर भी प्रकाशित की गयी थी।

C:\Users\Lenovo\Desktop\FC\Akshay Kumar in Delhi for Padman promotions5.png

फेसबुक | आर्काइव लिंक        

तदनंतर अधिक जाँच करने पर हमें ए.बी.वी.पी दिल्ली के आधिकारिक ट्वीटर हैंडल पर भी वायरल हो रही तस्वीर प्रकाशित की हुई मिली। यह तस्वीर 21 जुलाई 2018 को प्रकाशित की गयी थी।

आर्काइव लिंक                                                                     

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया है कि उपरोक्त तस्वीर के साथ किया जा रहा दावा गलत है। वायरल हो रही तस्वीर वर्ष 2018 की है, जब बॉलीबूड अभिनेता अक्षय कुमार उनकी फिल्म पैडमैन के प्रोमोशन के लिए दिल्ली गये थे। इस तस्वीर का जे.एन.यू में हुई हिंसा से कोई संबन्ध नहीं है।

फैक्ट क्रेसेंडो द्वारा किये गये अन्य फैक्ट चेक पढ़ने के लिए क्लिक करें :

१. भाजपा विधायक अनिल उपाध्याय एक काल्पनिक चरित्र हैं और इनका कोई वास्तविक अस्तित्व नहीं है!

२. वाइस एडमिरल गिरीश लूथरा के वीडियो को कैप्टेन दीपक वी साठे का बता फैलाया जा रहा है |

३. क्या अमिताभ बच्चन कोरोनावायरस संक्रमण से मुक्त होने के बाद दरगाह गये थे ? जानिये सत्य..

Avatar

Title:अभिनेता अक्षय कुमार की वर्ष 2018 की तस्वीर को गत वर्ष दिल्ली के जे.एन.यू कैंपस में हुये हमले के समर्थन का बता वायरल किया जा रहा है।

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply