क्या केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह मदरसे में चुनाव के लिए वोट मांगने गए?

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

७ मई २०१९ को कमलनाथ कांग्रेस नामक एक फेसबुक पेज पर एक तस्वीर साझा की गई | तस्वीर के शीर्षक में लिखा गया है कि ये वही लोग हैं जो कहते थे कि मदरसों में आतंकी पलते हैं, आज ये लोग वोट के लिए उन्ही मदरसों में ठूस ठूस कर खा रहे हैं ”| तस्वीर केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह की है जिसमें वह लोगों के एक समूह के साथ चाय और नाश्ता करते हुए नज़र आते है | यह तस्वीर  सोशल मीडिया पर काफ़ी चर्चा में है | उसके पीछे खड़ा आदमी नमाज़ की टोपी पहने हुए देखा जा सकता है | पोस्ट में दावा किया गया है कि राजनाथ सिंह मदरसे का दौरा कर रहे हैं और वोट प्राप्त करने की कोशिश कर रहे हैं | वायरल तस्वीर में गृहमंत्री राजनाथ सिंह, यूपी के उपमुख्यमंत्री डॉ। दिनेश शर्मा, भाजपा प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी को भी देखा जा सकता है | फैक्ट चेक किये जाने तक यह पोस्ट लगभग १००० प्रतिक्रियां प्राप्त कर चुकी थी |

आर्काइव लिंक

क्या वास्तव में केंद्रीय गृह मंत्री वोट मांगने के लिए मदरसा में चाय पीने गए? जानिए सच |

संशोधन से पता चलता है कि..

जांच की शुरुआत हमने इस तस्वीर का स्क्रीनशॉट लेकर गूगल और यानडेक्स रिवर्स इमेज सर्च करने से की | परिणाम से हमें उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा भाजपा के अधिकारिक अकाउंट द्वारा किया गया ट्वीट मिला | यह तस्वीर को २३ जनवरी २०१९ को प्रकाशित किया गया था | तस्वीर के शीर्षक में लिखा गया था कि “ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के अध्यक्ष मौलाना राबे हसन नदवी के छोटे भाई मौलाना वाजेह हसन नदवी के निधन पर मा० गृहमंत्री भारत सरकार श्री राजनाथ सिंह जी के साथ शोक संवेदना व्यक्त की |”

आर्काइव लिंक

उपरोक्त ट्वीट से हम स्पष्ट हो सकते है कि यह तस्वीर तबकी है जब राजनाथ सिंह ने ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के अध्यक्ष मौलाना राबे हसनी नदवी के भाई की मृत्यु पर शोक व्यक्त करने के लिए लखनऊ के नदवा कॉलेज का दौरा किया, तभी यह तस्वीर ली गई थी |

इसके पश्चात हमने इस खबर को गूगल सर्च किया | हमें २३ जनवरी २०१९ को livehindustan.com में प्रकाशित एक समाचार मिला | खबर के अनुसार, राजनाथ और शर्मा ने नदवा कॉलेज का दौरा किया और मौलाना राबे हसनी के साथ लगभग २० मिनट तक बैठक की | मौलाना वज़ेह हसनी का निधन इसीसाल (२०१९) १६ जनवरी को हुआ था |

आर्काइव लिंक

हमें २४ जनवरी २०१९ को अवध२४ द्वारा प्रकाशित इ-पेपर मिला | खबर में लिखा गया है कि राजनाथ सिंह मौलाना राबे हसन नदवी के छोटे भाई के निधन पर शोक व्यक्त करने के लिए नदवा कॉलेज पहुंचे थे |

१ मई २०१९ को इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट में कहा गया है कि राजनाथ सिंह को ३० अप्रैल को सेल्फी के लिए एक मदरसे के मुस्लिम छात्रों ने घेर लिया था, जब वह मौलाना राबे हसनानी नदवी से मिलने के लिए दारुल उलूम नदवातुल उलमा गए थे | रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि लखनऊ में, सिंह का लोकसभा क्षेत्र है जहां से वह चुनाव लड़ रहे हैं |  वहां बहस उस जगह की विकास और भाजपा “विशेष रूप से मुसलमानों के समर्थन की मांग करने |” पर चलती है |

आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों की जांच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | राजनाथ सिंह ने मदरसा में वोट मांगने के लिए नहीं, बल्कि ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के अध्यक्ष मौलाना राबे हसनी नदवी के भाई की मृत्यु पर शोक व्यक्त करने के लिए लखनऊ के नदवा कॉलेज का दौरा किया था | यह तस्वीर लोक सभा चुनाव २०१९ के साथ संबंधित नहीं है क्योंकि यह तस्वीर चुनाव के काफ़ी पहले ली गयी थी और इसे भ्रामक रूप से साझा किया जा रहा है |

Avatar

Title:क्या केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह मदरसे में चुनाव के लिए वोट मांगने गए?

Fact Check By: Drabanti Ghosh 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply