क्या प्रियंका गांधी अमेठी में बच्चों को नरेन्द्र मोदी के लिए आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल करना सिखा रही है?

False National Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

३० अप्रैल २०१९ को नंदकुमार जेठानी नमक एक फेसबुक यूजर ने एक विडियो पोस्ट किया | विडियो के शीर्षक में लिखा गया है कि “इन मासूम बच्चों को कांग्रेस क्या सिखा रही है? यह बहुत नीच स्तर पॉलिटिक्स है प्रियंका गांधी के द्वारा | गटर के टुकड़े कांग्रेस वंशवाद सोच भी नहीं सकते और न ही कोई अच्छा कर सकते हैं | कांग्रेस सस्तेपन की किसी भी गहराई तक जा सकती है |” विडियो के ऊपर लिखा गया है कि “बच्चों को कैसी भाषा सिखा रही कांग्रेस | मोदी से नफरत में बच्चों को तोह मत बर्बाद करो |” यह विडियो १२ सेकंड का है | विडियो अमेठी की है जहाँ हम प्रियंका गांधी को कुछ बच्चों के नारे सुनकर हँसते हुए देख सकते है | विडियो में प्रियंका गांधी के सामने बच्चे “चौकीदार चोर है” के नारे लगा रहे है | जिसके पश्चात विडियो में बच्चे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बारे में आपत्तिजनक नारे भी लगाते है, जो सुनकर प्रियंका गांधी चौंक जाती है | इस विडियो को लेकर प्रियंका गांधी के खिलाफ सोशल मीडिया में कैंपेन चल रहा है | विडियो के माध्यम से यह दावा किया जा रहा है कि प्रियंका गांधी मोदी के बारे में इन आपत्तिजनक शब्दों को इस्तेमाल करना सिखा रही है | यह विडियो काफ़ी चर्चा में है | इस विडियो को लेकर कई राजनेताओं ने प्रियंका गांधी पर टिप्पणी की है | फैक्ट चेक किये जाने तक इस विडियो को ५००० से ज्यादा व्यूज मिल चुकी थी |

आर्काइव लिंक

क्या वास्तव में प्रियंका गांधी ने बच्चों को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बारे में आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल करना सिखाया? क्या है इस विडियो का सच? इसीलिए हमने सच्चाई जानने की कोशिश की |

संशोधन से पता चला कि..

जांच की शुरुआत हमने इस विडियो को अलग अलग कीवर्ड्स के माध्यम से ट्विटर व यू-ट्यूब पर ढूँढने से की | ३० अप्रैल २०१९ को ऑल इंडिया महिला कांग्रेस के अधिकारिक अकाउंट से एक विडियो ट्वीट की गई थी | शीर्षक में लिखा गया है कि “फर्क देखिए @priyankagandhi ने मोदीजी के लिए आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल करते हुए बच्चों को यह कहते हुए रोक दिया कि “ये नहीं, अच्छा नहीं लग रहा” | मुझे उम्मीद है @narendramodi प्रियंका जी से सबक लेंगे जब वह “जर्सी गाय”, “विधवा” और “१०० करोड़ की प्रेमिका” जैसी शब्दों का उपयोग करता है |” इसके साथ एक विडियो संलग्न किया गया है | यह विडियो २८ सेकंड का है जहा पीएम् के खिलाफ जब बच्चों ने आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल किया तो प्रियंका गांधी ने उन्हें रोका और कहा कि

“यह वाला नहीं, यह वाला नहीं अच्छा नहीं लगता | अच्छे बच्चे वालें, ठीक है |”

यह सुनने के बाद बच्चे “राहुल गांधी जिंदाबाद” कहकर नारे लगाते है |

आर्काइव लिंक

इस विडियो को कांग्रेस के राष्ट्रीय संयोजक सरल पटेल ने अपने अधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए कहा कि “जब उनके उत्साह में बच्चे पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करते हैं, @priyankagandhi जी इस तरह के नारे लगाने के खिलाफ उन्हें हतोत्साहित करते हैं और कहते हैं “आचे बचो बानो”!”

आर्काइव लिंक

इस विडियो को ३० अप्रैल २०१९ को दैनिक भास्कर हिंदी ने यू-ट्यूब पर अपलोड किया था | शीर्षक में लिखा गया है कि “प्रियंका के सामने बच्चों ने लगाए PM मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक नारे, कांग्रेस महासचिव ने मना किया” |

तथ्यों से हमने पाया कि सच यह है कि प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिए आपत्तिजनक शब्द सुनते ही बच्चों को ऐसा करने से मना किया था, लेकिन वायरल विडियो में वो हिस्सा हटा दिया गया जहाँ प्रियंका गांधी बच्चों को गलत नारे लगाने से मना कर रही है | और इस २८ सेकंड के विडियो से ११ सेकंड का ही विडियो मिश्रित रूप से साझा किया गया | नीचे आप दोनों विडियो का तुलना देख सकते है |

ऑल्ट न्यूज़ द्वारा इस विडियो का एक दूसरा एंगल हमें मिला जहाँ हम पप्रियंका गांधी को बच्चों को पीएम् के खिलाफ आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल करने से रोकती है |

निष्कर्ष: तथ्यों की जांच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | वायरल विडियो में से वो हिस्सा हटा दिया गया जहाँ प्रियंका गांधी बच्चों को गलत नारे लगाने से मना कर रही है | इस विडियो को भ्रामक रूप से साझा किया जा रहा है |

Avatar

Title:क्या प्रियंका गांधी अमेठी में बच्चों को नरेन्द्र मोदी के लिए आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल करना सिखा रही है?

Fact Check By: Drabanti Ghosh 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •