झंडा वंदन के बाद वाय.एस.आर कांग्रेस के दो नेताओं की बीच हुई मारपीट के वीडियो को गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

इंटरनेट पर अकसर राजनीतिक दलों व राजनेताओं को लेकर गलत व भ्रामक दावों के साथ उनके कई वीडियो व तस्वीरें वायरल होती रहती है। फैक्ट क्रेसेंडो ने पूर्व में भी ऐसे कई दावों, वीडियो व तस्वीरों का अनुसंधान कर उनकी प्रमाणिकता अपने पाठकों तक पहुंचाई है। वर्तमान में ऐसा ही एक वीडियो इंटरनेट पर काफी तेज़ी से साझा किया जा रहा है। उस वीडियो में आप कुछ पुरुषों को व एक महिला को झंडा वंदन करते हुये देख सकते है, फिर कुछ देर बाद वो महिला व वीडियो में दिख रहे अन्य पुरुष एक शख्स को चप्पल से पीटने लगते है। वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि आंध्रा प्रदेश के करीमनगर में कांग्रेस कार्यालय में मुख्य अतिथि के साथ छेड़छाड़ करने पर एक शख्स की पिटाई की गयी।

वायरल हो रहे पोस्ट के शीर्षक में लिखा है

आंध्रा के करीमनगर कांग्रेस कार्यालय में पहले ध्वजारोहण, फिर मुख्य अतिथि की छेड़छाड़ करने पर चप्पल वितरण।“

फेसबुक 

आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान पाया कि वीडियो में दिख रहे लोग वाई.एस.आर कांग्रेस पार्टी के नेता है। उन दोनों में पार्टी के अंदरूनी मुद्दों को लेकर झड़प हुई थी।

जाँच की शुरुवात हमने वायरल हो रहे वीडियो को इनवीड-वी वैरिफाइ टूल के माध्यम से छोटे कीफ्रेम्स में काटकर गूगल पर रीवर्स इमेज सर्च करने से किया, परिणाम में हमें ए.बी.पी न्यूज़ द्वारा 15 अगस्त 2014 को प्रसारित किया हुआ एक वीडियो मिला। वीडियो के शीर्षक में लिखा है, “हैदराबाद: वाई.एस.आर कांग्रेस की महिला नेत्री ने जिलाध्यक्ष से की मारपीट,” इसके नीचे दी गयी जानकारी में लिखा है, स्वतंत्रता दिवस समारोह के लिए आमंत्रित नहीं किए जाने से नाराज वाई.एस.आर कांग्रेस की महिला  नेत्री सुशीला ने वाई.एस.आर कांग्रेस नेता एस. भास्कर रेड्डी से बदसलूकी की। बाद में तेलंगाना के करीमनगर जिले में राष्ट्रीय ध्वज फहराने के बाद सुशीला ने रेड्डी को पीटा

आर्काइव लिंक

इसके बाद इस सन्दर्भ में और जानकारी पाने के लिये हमने गूगल पर इससे सम्बंधित कीवर्ड सर्च किया, हमें 15 अगस्त 2014 को एन.डी.टी.वी द्वारा प्रकाशित किया गया एक समाचार लेख मिला। उस लेख में आप वायरल हो रहे वीडियो में दिख रहे दृश्य की कुछ तस्वीरों को प्रकाशित किये हुये देख सकते है। इस लेख में दी गयी जानकारी के मुताबिक तेलंगाना के करीमनगर जिले में वाय.एस.आर कांग्रेस पार्टी के कार्यालय में स्वतंत्रता दिवस पर झंडा फहराने के एक समारोह के बाद आंध्रा प्रदेश के नेता जगन रेड्डी की वाई.एस.आर कांग्रेस पार्टी के दो नेता के बीच झड़प हो गयी। इस वीडियो में पार्टी के महिला समूह की नेता सुशीला को जिला प्रमुख भास्कर रेड्डी को चप्पलों से पीटते हुए देखा गया है। पार्टी नेता सुशीला ने कथित तौर पर भास्कर रेड्डी पर पार्टी की घटनाओं के बारे में सूचित नहीं करने और उन्हें जिला महिला विंग प्रमुख के पद से वंचित करने के लिए नाराज थीं। और इसलिये उन दोनों में झड़प हो गयी। लेख के अनुसार वाई.एस.आर कांग्रेस के सूत्रों ने इस घटना को अंतर-पार्टी प्रतिद्वंद्विता का मामूली मामला बताते हुए खारिज कर दिया था।

आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल हो रहे वीडियो के साथ किया गया दावा गलत है। वीडियो पुराना है व वीडियो में दिख रहे लोग वाई.एस.आर कांग्रेस पार्टी के नेता है। उन दोनों में पार्टी के अंदरूनी मुद्दों को लेकर झड़प हुई थी।

फैक्ट क्रेसेंडो द्वारा किये गये अन्य फैक्ट चेक पढ़ने के लिए क्लिक करें :

१. पूर्व न्यायाधीश रंजन गोगोई ने नाम से फिरसे बना फर्जी अकाउंट जिससे सांप्रदायिक ट्वीट किये गये|

२. २०१४ में ISIS द्वारा इराक में एक मस्जिद को बम से उड़ाने की तस्वीर को वर्तमान में तालिबान द्वारा पाकिस्तान में एक मस्जिद को हमला कर उसे ध्वस्त करने के नाम से फैलाया जा रहा है|

३. बिहार के कटिहार में मुर्हरम जुलूस के दौरान घटी मारपीट की घटना को हिन्दू-मुस्लिम कोण दे सांप्रदायिकता से जोड़ साझा किया जा रहा है|

Avatar

Title:झंडा वंदन के बाद वाय.एस.आर कांग्रेस के दो नेताओं की बीच हुई मारपीट के वीडियो को गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •