• 10
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    10
    Shares

११ मार्च २०१९ को पहली बार फेसबुक पर साझा की गई मनीष आजाद क्रांतिकारी नेता  नामक यूजर की यह पोस्ट चर्चा में है | पोस्ट में एक मुस्लिम लड़की है जो अपने हाथ में एक पोस्टर लेकर मुस्कुराते हुए खड़ी है | पोस्टर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के गुणगान में कुछ लाइने लिखी है- MODI को अपना घर भरना होता तो वह १३ साल गुजरात का CM रह कर भर लेता | उसे कुर्सी से नहीं सिर्फ अपने देश से प्रेम है | १००% सत्य | फोटो के एकदम ऊपर लिखा है ‘मोहतरमा बात तो सौ टके की है’ | दाई ओर ‘आजाद’ लिखा है, और बाएँ नीचे की ओर भारतीय जनता पार्टी का चुनाव चिन्ह कमल की तरफ इशारा करता एक और हाथ है | फोटो को बारीकी से देखने पर यह संदेह होता है कि शायद किसी मूल फोटो को फोटोशॉप में छेड़छाड़ कर यह फोटो बनाया हो | आइये जानते है इसकी सच्चाई |

ARCHIVE POST

देखते है यह खबर फ़ेसबुक पर कितना असर जमा रही है | फैक्ट चेक किये जाने तक इस पोस्ट को डेढ़ सौ से ज्यादा प्रतिक्रियाएं मिल चुकी थी |  

संशोधन से पता चलता है कि…
सबसे पहले हमने फोटो की स्क्रीन शॉट लेकर गूगल रिवर्स इमेज में सर्च किया तो हमें मलेशिया की AL-QUR’AN AND SUNNAH की blogpost वेबसाइट पर एक पेज पर इसकी मूल फोटो मिली, जो ELIMINATE ISLAMIC ARABBISATION STIGMA इस हैडलाइन के तहत लिखे लेख में इस्तेमाल की गई है |

ARCHIVE LINK

अब मूल फोटो में हमने देखा की लड़की के हाथ में जो पोस्टर है उसपर don’t stereotype me UMW ISA campaign लिखा हुआ है | तो हमने इस कैंपेन के नाम से गूगल सर्च किया तो पता चला की इस कैंपेन में इस लड़की के अलावा कई और लोग शामिल हुए थे, जिसका रिजल्ट आप नीचे देख सकते है |

अब जान लीजिये क्या है यह कैंपेन…
Don’t stereotype me यह कैंपेन मैरी वाशिंगटन यूनिवर्सिटी में इस्लामिक स्टूडेंट्स एसोसिएशन के द्वारा कैंपस में मुस्लिम लड़के-लड़कियों के बारे में गलत धारणाओं के खिलाफ शुरू किया गया था, जैसा कि आप नीचे की स्क्रीन शॉट में पढ़ सकते है |

Thatsridicarus तथा lotterleben इन पेजेस पर आप इस बारे में अधिक जानकारी पा सकते है |

Archive Thatsridicarus | Archive lotterleben

यांडेक्स रिवर्स इमेज सर्च में भी हमें इसी तरह का रिजल्ट मिला, जो आप नीचे की स्क्रीन शॉट में देख सकते है | इस सर्च से यह भी स्पष्ट होता है कि इस लड़की का फोटो उसके हाथ का पोस्टर बदलकर कई जगह इस्तेमाल लिया गया है |

अब यह भी देख लीजिये किस तरह बनाया गया फोटोशॉप में मूल फोटो के साथ छेडछाड कर नया फोटो-

जांच का परिणाम :  इस संशोधन से यह स्पष्ट होता है की अमरिका कि एक यूनिवर्सिटी के लड़की द्वारा एक कैंपेन में भाग लिए जाने की मूल फोटो को फोटोशॉप में छेड़छाड़ कर उपरोक्त पोस्ट में दिया गया यह फोटो बनाया गया है | यह लड़की भारतीय मुस्लिम नहीं है  और न ही वह प्रधानमंत्री मोदी के बारे में लिखा पोस्टर पकड़कर खड़ी है | अतः यह फोटो व पोस्ट गलत (FALSE) है |  

Avatar

Title:क्या यह मुस्लिम लड़की मोदी का समर्थन कर रही है ? | क्या है इस तस्वीर का सच?

Fact Check By: Rajesh Pillewar 

Result: False


  • 10
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    10
    Shares