दो साल पहले पटना के गैस गोदाम में लगी आग के वीडियो को गलत दावे के साथ फैलाया जा रहा है |

Partly False Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सोशल मीडिया पर एक वीडियो काफी तेजी से फैलाया जा रहा है जिसमें हम एक कुछ ब्लास्ट की आवाजें सुन सकते हैं व साथ ही आग की लपटें व उसके साथ धुएं को इन ब्लास्टों के साथ उठते हुये देख सकतें हैं, जिसके पश्चात हम ब्लास्ट की जगह के आस पास मृत व घायल व्यक्तियों को देख सकतें हैं | इस वीडियो को सोशल मीडिया पर यह दावा करते हुए फैलाया जा रहा है कि मैंगलोर में एक मिठाई की दुकान पर रखे १० सिलेंडरों में विस्फोट होने से २४ लोग मारे गए और ३० से ४० अन्य व्यक्ति घायल हुए हैं |

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि 

“मंगलौर की रूरकी में मिठाई के दूकान में फटे १० गैस सिलिंडर, २४ लोगों की हुई मौत और ३० से ४० लोग हुए ज़ख़्मी |”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसन्धान से पता चलता है कि…

1.दावे के साथ दिया गया वीडियो असंबंधित है, वीडियो पटना से है व दो साल पुराना है  
2.मौत का व घायलों का आंकड़ा गलत है 
3.रुड़की में हुये हादसे में केवल एक व्यक्ति की मृत्यु हुई है

जाँच की शुरुवात हमने इस वीडियो इन्विड वी वेरीफाई टूल के मदद से छोटे कीफ्रेम्स में तोड़कर गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने से किया जिसके परिणाम से हमें इंडिया टुडे सोशल के आधिकारिक यूट्यूब अकाउंट पर ९ जून २०१८ को अपलोड किया गया एक सदृश्य वीडियो मिला | इस वीडियो के शीर्षक में लिखा गया है कि 

पटना के गैस गोदाम में लगी आग |” 

वीडियो में हम वायरल वीडियो में दिखाये गये दृश्यों को देख सकते है जिससे यह स्पष्ट हो जाता है कि वायरल वीडियो वर्तमान का नहीं है और ना ही उत्तराखंड से है | 

हमने कर्नाटक के कई सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं को वायरल दावों के तहत कमेंट करते हुए पाया कि कर्नाटक के मैंगलोर में ऐसी कोई घटना नहीं हुई | इसके अलावा, हमें शहर में सिलेंडर विस्फोट की कोई हालिया रिपोर्ट नहीं मिली |

यहाँ ये ज्ञात रहे कि मंगलौर नाम का एक छोटा सा क़स्बा उत्तराखंड के रुड़की जिले के अंतर्गत भी आता है|

उपरोक्त शोध से ये तो स्पष्ट होता है कि सोशल मंचों पर वायरल वीडियो लिखे गए दावे से असंबंधित है|

क्या उत्तराखंड के रुड़की जिले के मंगलौर में हाल ही में कोई गैस सिलेंडर फटने का हादसा हुआ है ..

इस बारे में हमें टीवी९ भारतवर्ष के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर रुड़की से सम्बंधित गैस सिलेंडर ब्लास्ट की एक ख़बर मिली जो वर्तमान की है | 

वीडियो के शीर्षक में लिखा गया है कि

“Dehradun : रुड़की में मिठाई की दुकान में फटा गैस सिलेंडर , 11 लोग घायल |” खबर के अनुसार रुड़की में एक मिठाई की दुकान में गैस सिलेंडर फटा, हादसे में 11 लोग हुए घायल हुये जिनमें से 3 की हालत गंभीर है, घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है |

इसी वीडियो से सम्बंधित कीवर्ड सर्च करने पर हमें ७ नवंबर को उत्तराखंड स्थित रुड़की के पास मंगलौर में एक मिठाई की दुकान पर सिलेंडर विस्फोट की खबर मिली |

फैक्ट क्रेसेंडो ने मंगलौर के सर्किल ऑफिसर अभय प्रताप सिंह से संपर्क किया जिन्होंने हमें बताया कि “यह घटना ७-८ दिन पहले की है | यह घटना मंगलौर मार्किट में श्री बालाजी स्वीट्स के यहाँ हुई थी | उन्होंने उनके दुकान के दूसरी मंजिल पर अनुमति से ज्यादा गैस सिलिंडर लाकर मिठाई बनाने की कोशिश कर रहे थे | इसी बीच गैस का वक्युम बना जिसके चलते यह ब्लास्ट हुआ | इस घटना के चलते कुल मिलकर २१ लोग घायल हुए थे जिसमें से केवल १ व्यक्ति की मौत हुई | ७ लोग अभी भी हॉस्पिटल में है परन्तु खतरे के बाहर है साथ ही बाकी जितने लोग थे उन सबको उसी दिन हॉस्पिटल से डिस्चार्ज कर दिया गया था | सोशल मीडिया पर चल रहे दावे गलत है | साथ ही यह वीडियो श्री बालाजी स्वीट्स में हुए विस्फोट का नही है |”

उपरोक्त वायरल दावे व वीडियो में क्या गलत है 

  • दावे के साथ दिया गया वीडियो असंबंधित है व दो वर्ष पुराना है
  • मौत का व घायलों का आंकड़ा गलत है 
  • रुड़की में हुये हादसे में केवल एक व्यक्ति की मृत्यु हुई है

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात् हमने उपरोक्त पोस्ट को आंशिक रूप से गलत पाया है | सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो २ साल पुराना है और वर्तमान उत्तराखंड के रुड़की में हुये गैस सिलिंडर ब्लास्ट से वीडियो का कोई सम्बन्ध नहीं है | 

Avatar

Title:दो साल पहले पटना के गैस गोदाम में लगी आग के वीडियो को गलत दावे के साथ फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: Partly False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply