दिल्ली में शराब की दुकान पर भीड़ का ये वीडियो लॉकडाउन से पहले का है |

Coronavirus False
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कोरोना संक्रमण को रोकने के लिये जारी देशव्यापी लॉकडाउन के बीच सरकार द्वारा शराब की दुकानों को खोल देने के फैसले के बाद से सोशल मीडिया पर कई पुराने वीडियो फर्जी दावों के साथ वायरल हो रहे हैं | ऐसा ही एक वीडियो सोशल मीडिया पर फैलाते हुए दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो दिल्ली से है जहाँ लोगों ने सामाजिक दूरी के नियमों का उल्लंघन करते हुये शराब की दुकान पर भीड़ कर शराब खरीदी| कहा जा रहा है कि यह वीडियो लॉकडाउन के दौरान मिली छूट के वक़्त का है |

पोस्ट में लिखा गया है कि “मुझे आज अंधभक्तों से अपने सवाल का जवाब चाहिए, यह निजामुद्दीन मरकज नहीं है, बल्कि दिल्ली में एक शराब की दुकान के बाहर की भीड़ है | सोशल डिस्टैंसिंग किधर है? एक-दो के चेहरे पर छोड़ बाकी लोग के चेहरे पर मास्क किधर है? लॉकडाउन कहां है? मीडिया नाराज क्यों नहीं है? पहले से ही भारत में 40,000 मामले और सरकार गंभीर क्यों नहीं हैं?”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जाँच की शुरुवात हमने इस वीडियो को ध्यान से देखने से की, जिसके परिणाम में हमें स्वेटर और मफलर पहने लोगों को देख सकते है जिससे हमें यह आभास हुआ है कि यह वीडियो वर्तमान का नही हो सकता है, लोगों के पहनावों से यह वीडियो सर्दी के मौसम का प्रतीत होता है | इसके बाद हमें शुरुवात में ही वीडियो के एक फ्रेम में होटल अमन इन लिखा हुआ नजर आया | इसके पश्चात हमने दिल्ली के इस होटल को इंटरनेट पर ढूँढना शुरु किया, गूगल पर इस होटल को सर्च करने पर हमें होटल अमन इन की कई तस्‍वीरें मिलीं | इसके पश्चात हमें यात्रा डॉट कॉम पर मौजूद तस्‍वीर में होटल के दाईं तरफ वाइन शॉप भी नजर आई, जबकि होटल के बाईं तरफ सेंट्रल बैंक आफ इंडिया की ब्रांच थी, वीडियो में दिख रही जगह और तस्वीरों में दिखाई गयी जगह समदर्शीय थी, यह होटल और वाइन शॉप दिल्ली के पहाड़गंज में स्थित है|

इसके पश्चात हमने होटल अमन इन के मैनेजर, अखिलेश सिंह से संपर्क किया, उन्होंने हमें बताया कि “यह वीडियो उनके होटल के पास स्थित वाइन शॉप का है | यह वीडियो दिल्‍ली चुनाव के समय का है क्योंकि तब लिकर की दुकाने कुछ समय के लिये बंध होने वालीं थी | दिल्ली चुनावों के वक़्त भी यह वीडियो काफी ज्‍यादा वायरल हुआ था | फिलहाल लॉकडाउन के बाद से यह दुकान अभी तक बंद है |” 

फैक्ट क्रेसेंडो से पहाड़गंज के एस.एच.ओ सुनील चौहान से संपर्क किया, उन्होंने हमें बताया कि “यह वीडियो काफी पुराना है, और इस वीडियो का लॉकडाउन के साथ कोई संबंध नही है | यह शराब की दुकान प्राइवेट है और फिलहाल केवल सरकारी शराब की दुकानों को खोलने की अनुमति है | यह दूकान अभी भी बंद है |”

शराब की दुकान के पास स्थित पर्ल होटल के मालिक विनीत ने फैक्ट क्रेसेंडो से बात करते हुये इस बात की पुष्टि की कि शराब की दुकान वास्तव में पहाड़गंज में अमन इन के बगल में है और यह वीडियो पुराना है | साथ ही उन्होंने भी हमें बताया कि यह दुकान अभी बंद है |

क्या है प्राइवेट और सरकरी शराब की दूकान?

किसी भी शराब की दुकान को खोलने से पहले सरकार से लाइसेंस पाना ज़रूरी होता है | इन लाइसेंस के बावजूद भी दो तरह की शराब के दुकानें होतीं है, पहली प्राइवेट और दूसरा सरकारी | प्राइवेट वाइन शॉप में दुकान का मालिक या कर्मचारी लाइसेंस से साथ शराब बेच सकते है परंतु सरकारी दुकान में आबकारी विभाग के कर्मचारियों की उपस्तिथि होती है जो शराब पर आबकारी टैक्स डायरेक्ट वसूल करतें हैं |

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो लॉकडाउन के चलते सामाजिक दुरी के नियमों का उल्लंघन को नहीं दर्शाता है | यह वीडियो राष्ट्रव्यापी तालाबंदी से पहले का है और शराब की ये दुकान वर्तमान में भी बंद है |

Avatar

Title:दिल्ली में शराब की दुकान पर भीड़ का ये वीडियो लॉकडाउन से पहले का है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •