यू.पी के शिक्षक को कथित तौर पर छेड़छाड़ के लिए पीटने का वीडियो भाजपा विधायक अनिल उपाध्याय के नाम से हुआ वायरल |

False National Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

विधायक अनिल उपाध्याय सोशल मंच पर एक वो नाम है जिसे अलग अलग समयों पर अलग अलग राजनीतिक पार्टियों के साथ सुविधा अनुसार जोड़ भ्रामक दावे पेश किये जाते रहें हैं, हालाँकि विधायक अनिल उपाध्याय एक काल्पनिक पात्र हैं | आजकल सोशल मीडिया पर कल्पित पात्र विधायक अनिल उपाध्याय को अलग अलग असंबंधित घटनाओं के साथ जोड़ा जा रहा है |

ऐसा ही एक वीडियो जिसमे महिलाओं के एक समूह को एक पुरुष को पीटते हुये देखा जा सकता है को इस दावे के साथ वाईरल किया जा रहा है की पिटने वाला शख्स भारतीय जनता पार्टी (भा.ज.पा) के विधायक अनिल उपाध्याय है, हालाँकि इस घटना की सच्चाई कुछ और ही है, जो व्यक्ति वीडियो में पिट रहा है वो एक प्रथिमिक स्कूल का अध्यापक है जिसे छात्राओं के साथ छेड़छाड़ करने के आरोप में इन महिलाओं द्वारा पीटा गया, आइये जानते हैं इस पूरे प्रकरण की सच्चाई|

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जाँच की शुरुवात हमने इस वीडियो को इन्विड टूल की मदद से गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने से की, जिसके परिणाम में हमें २४ जनवरी २०२० को भास्कर द्वारा प्रकाशित एक खबर मिली | खबर के अनुसार उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले में एक प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक द्वारा छात्राओं के साथ छेड़खानी के मामले में छात्रों के परिजनों ने विद्यालय पहुंचकर शिक्षक को बंधक बना लिया और उसकी जमकर पिटाई की | सूचना पाकर पुलिस ने शिक्षक को गिरफ्तार कर लिया है | पीटते हुए व्यक्ति की पहचान सहायक शिक्षक शैलेंद्र दुबे के रूप में हुई है |

आर्काइव लिंक 

इसके आलावा हमें जौनपुर पुलिस के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर इस सम्बन्ध में जारी किया गया स्पष्टीकरण मिला, जिसमे एस.एस.पी जौनपुर(Rural), संजय राइ कहते है कि “हमें एक जानकारी मिली कि एक प्राथमिक विद्यालय के एक सहायक शिक्षक ने लड़कियों के साथ छेड़खानी की है, ये घटना तब प्रकाश में आई जब लड़कियों के पिता ने शिकायत दर्ज की | हम जानकारी इकट्ठा कर रहे हैं और हमने उस शख्स(शिक्षक) को हिरासत में ले लिया है | 

आर्काइव लिंक
ABP न्यूज़ ने भी इस खबर को प्रकाशित किया है | 

———————————————————————————————————————–
कौन है भाजपा विधायक अनिल उपाध्याय

———————————————————————————————————————–
अनिल उपाध्याय नामक भा.ज.पा विधायक के बारें में गूगल पर सर्च करने से हमें MyNeta.info की वेबसाइट का लिंक मिला | हमने MyNeta डेटाबेस पर खोजा तो पाया की अनिल उपाध्याय नाम का कोई भाजपा विधायक नहीं है | इसी नाम से दो व्यक्तियों का प्रोफाइल हमें मिला | पहला- जोधपुर के एक बीएसपी नेता डॉ अनिल उपाध्याय, जिन्होंने २०१८ में राजस्थान से चुनाव लड़ा | दूसरा प्रोफाइल लखनऊ से निर्दलीय उम्मीदवार अनिल कुमार उपाध्याय, जिन्होंने २००७ और २०१२ में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव लड़ा था |

आर्काइव लिंक | आर्काइव लिंक | आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | वीडियो में महिलाओं द्वारा पिटता व्यक्ति भाजपा विधायक अनिल उपाध्याय नही है, बल्कि वे उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले में एक प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक, शैलेंद्र दुबे है | उन्हें प्राथमिक विद्यालय की छात्राओं के साथ छेड़छाड़ करने के आरोप में पीटा गया था | विधायक अनिल उपाध्याय एक कल्पित पात्र है जिनका कोई अस्तित्व नही है |

Avatar

Title:यू.पी के शिक्षक को कथित तौर पर छेड़छाड़ के लिए पीटने का वीडियो भाजपा विधायक अनिल उपाध्याय के नाम से हुआ वायरल |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply