२०१६ के फ़्लैश मॉब की घटना को CAA का बता किया वाईरल |

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२०१६ का एक वीडियो वर्तमान में सोशल मीडिया पर काफी चर्चा में है | इस वीडियो में हम एक महिला को एक लड़की को थप्पड़ मारते हुए देख सकते है | इस वीडियो को साझा करते हुए दावा किया जा रहा है कि ये लड़की CAA के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में हिस्सा ले रही थी और उनकी माँ ने जब उसे सड़क पर प्रदर्शन करते देखा तो उसे थप्पड़ मार दिया | 

इस वीडियो के शीर्षक में लिखा गया है कि “जब एंटी #CAA प्रोटेस्टर उसकी माँ से मिलता है |”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जाँच की शुरुवात हमने इन्विड टूल के मदद से गूगल रिवर्स इमेज सर्च किया, जिसके परिणाम में हमें टॉप न्यूज़ करेला द्वारा अपलोड किया गया यूट्यूब वीडियो प्राप्त हुआ | २८ मार्च २०१६ को अपलोड किये गये इस वीडियो के शीर्षक में “गुस्से में महिला ने एक लड़की को थप्पड़ मारा जो फ्लैश मॉब कन्नूर, पयन्नूर में भाग ले रही थी |”

इस वीडियो के विवरण में लिखा गया है की केरल के कन्नूर में एक निजी कॉलेज के छात्रों ने पयन्नूर बस स्टैंड पर एक फ्लैश मॉब का आयोजन किया था | फ्लैश मॉब के चलते ट्रैफिक जाम हो गया और गुस्साई यात्री महिला ने फ्लैश मॉब की टीम में से एक लड़की को थप्पड़ मार दिया | 

इस वीडियो के साथ दिए गये विवरण को जब हमने गूगल पर कीवर्ड्स के माध्यम से ढूँढा तो हमें इस सम्बंध में मनोरमा ऑनलाइन और इंडियन एक्सप्रेस की खबरें मिली | खबर के अनुसार यह घटना केरल के कन्नूर जिले के पय्यानूर बस अड्डे पर हुई थी | मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, महिला जो कि उस लड़की की मां थी, उन्होंने गुस्से में आकर अपनी बेटी को कॉलेज बंक कर क्लास करने के बजाय सड़क पर अपने दोस्तों के साथ डांस करने के लिये चाँटा मारा था| 

आर्काइव लिंक | आर्काइव लिंक

इस वीडियो २७ मार्च २०१६ को Jamsheed Keerikkandy नामक एक फेसबुक यूजर ने अपलोड किया था, जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “फ़्लैश मॉब ट्रैफिक को रोकती है- स्कैंडल |”

फेसबुक पोस्ट

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | यह वीडियो २०१६ को केरल में घटित घटना का है और इस वीडियो का CAA विरोध से कोई संबंध नही है | इस वीडियो में लड़की की माँ उसे इस वजह से मारती है क्योंकि वो कॉलेज में पढाई करने के बजाय सड़क पर फ़्लैश मॉब में हिस्सा ले रही थी |

इस वीडियो को फैक्ट क्रेस्सन्डो ओडिया ने १६ जनवरी २०२० को फैक्ट चेक किया था जिसे आप ओडिया भाषा में नीचे पढ़ सकते है |

  1. କ’ଣ CAA ବିରୋଧରେ ପ୍ରଦର୍ଶନ କରୁଥିବାରୁ ମାଁ ଝଅକୁ ପିଟିଲେ? ଜାଣନ୍ତୁ ସତ।
Avatar

Title:२०१६ के फ़्लैश मॉब की घटना को CAA का बता किया वाईरल |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •