यह वीडियो एक वाहन मालिक द्वारा अपने ड्राईवर पर किये गए अत्याचार का है, और साथ ही भाजपा विधायक अनिल उपाध्याय एक काल्पनिक चरित्र हैं,इनका कोई वास्तविक अस्तित्व नहीं है |

False National Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२४ सितम्बर २०१९ को फेसबुक पर ‘Lanka Ka Rawan द्वारा किये गये पोस्ट में एक वीडियो साझा किया गया है, जिसमें कुछ लोग एक व्यक्ति को उल्टा टांग कर उसे मार रहें हैं | पोस्ट के विवरण में लिखा है कि, “B.j.p. विधायक अनिल उपाध्याय की इस हरकत पर क्या कहेगे मोदी जी, इस video को इतना वायरल करो की ये पूरा हिन्दुस्तान देख सके.. |” इस पोस्ट में यह दावा किया जा रहा है कि – ‘यह वीडियो बीजेपी के विधायक अनिल उपध्याय द्वारा की गई बर्बरता का है |’ क्या सच में ऐसा है ? आइये जानते है इस पोस्ट के दावे की सच्चाई |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:

FacebookPost | ArchivedLink

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रिसेंडो की मलयालम टीम ने उपरोक्त वीडियो से सम्बंधित २७ सितम्बर २०१९ को फैक्ट-चेक किया गया था | 

Malayalam Fact Check

इस फैक्ट-चेक के अनुसार यह वीडियो जुलाई २०१९ को महाराष्ट्र में स्थित नागपुर के एक ट्रांसपोर्ट कंपनी का है | अखिल पोहनकर (३०) इस कंपनी के मालिक है और उपरोक्त वीडियो में दिखने वाला पीड़ित विक्की अग्लावे (२३) है | अखिल ने विक्की को एक कांच के सामान से लदा हुआ ट्रक तिरुवनंतपुरम ले जाने का काम दिया और उसके लिए ३०,००० रुपये दिए थे | विक्की ने यह रक़म शराब, कपड़े व दावत में खर्च कर दी | इसके बाद अखिल द्वारा लगातार कॉल करने पर भी वह ना ही फ़ोन उठा रहा था और ना ही वह ऑफिस गया |

फिर पुलिस द्वारा बुलाये जाने पर जब विक्की वहाँ पहुंचा, तब अखिल ने उसके कपड़े उतारकर, उसके हाथ पैर बांधकर, उसे उल्टा लटकाकर अत्याचार किया | इस घटना के लिए अखिल पर कार्रवाही भी चल रही है | इस घटना से सम्बंधित ख़बरों को पढने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें |

TOI Post | ArchivedLinkANInewsPost | ArchivedLinkNewsstatePost | ArchivedLink

इसके अलावा फैक्ट क्रिसेंडो की हिंदी टीम ने बीजेपी विधायक अनिल उपाध्याय से सम्बंधित कई फैक्ट-चेक किये हैं, जिनके परिणाम में बीजेपी विधायक अनिल उपाध्याय को सिर्फ़ एक काल्पनिक चरित्र पाया गया है | यह चरित्र २०१९ के चुनाव के दौरान प्रसिद्ध किया गया था | मगर वास्तविकता में नाम से कोई भाजपा विधायक नहीं है |

इस अनुसंधान से यह बात स्पष्ट होती है कि उपरोक्त पोस्ट में साझा वीडियो महाराष्ट्र के नागपुर की घटना है और इस वीडियो का किसी भी राजनितिक दल से कोई संबंध नहीं है | कथित बीजेपी विधायक एक काल्पनिक चरित्र है | यह वीडियो गलत विवरण के साथ लोगों को भ्रमित करने के उद्देश्य से फैलाया जा रहा है |

जांच का परिणाम :  उपरोक्त पोस्ट मे किया गया दावा “यह वीडियो बीजेपी के विधायक अनिल उपध्याय द्वारा की गई बर्बरता का है |” ग़लत है |

Avatar

Title:यह वीडियो एक वाहन मालिक द्वारा अपने ड्राईवर पर किये गए अत्याचार का है, और साथ ही भाजपा विधायक अनिल उपाध्याय एक काल्पनिक चरित्र हैं,इनका कोई वास्तविक अस्तित्व नहीं है |

Fact Check By: Natasha Vivian 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •