क्या कल तक एक मिस्त्री का काम करने वाला सुमित विश्वकर्मा बन गया IAS ऑफिसर ? जानिये सच |

False National Social
  • 9
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    9
    Shares

सोशल मीडिया पर एक पोस्ट काफ़ी साझा की जा रही है जिसमे कहा जा रहा है कि ‘एक मिस्त्री का काम करने वाले सुमित कुमार ने भारतीय प्रशासनिक सेवा में ५३वी रैंक हासिल की है |’ कई न्यूज़ चैनल ने भी इस ख़बर को प्रसारित किया है | कितनी सच्चाई है इस दावे में, आइये देखते हैं |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:  

FacebookPost | ArchivedLink

तथ्यों की जांच:

हमने जांच की शुरुआत उपरोक्त पोस्ट मे दिए गए चित्र को गूगल मे ढूंढकर की |

हमें ‘Sakshi’ नामक एक वेबसाइट पर इस बारे मे एक प्रकाशन मिला |

C:\Users\Fact5\Desktop\Carpenter became IAS\1.14.jpg

SakshiPost | ArchivedLink

इस प्रकाशन मे IAS की परीक्षा मे ५३ वी रैंक लेने वाले युवक का पूरा नाम सुमित विश्वकर्मा बताया गया है | गूगल मे सुमित विश्वकर्मा नाम को ढूंढने पर हमें और भी प्रकाशन मिले, जिसमे भी यह कहा गया है कि कल तक एक मिस्त्री का काम करने वाला व्यक्ति आज एक IAS ऑफिसर बन गया | सभी ख़बरें पढने के लिए नीचे दिए गए लिंक्स पर क्लिक करें |

LivehindustanPost | ArchivedLinkUdaybulletinPost | ArchivedLinkSamacharnamaPost | ArchivedLink

UPSC के रिजल्ट के लिस्ट मे जब हमने सुमित विश्वकर्मा का नाम ढूँढा तो हमें सुमित विश्वकर्मा नाम  नहीं मिला | बल्कि ५३ वी रैंक पर सुमित कुमार का नाम था | नीचे की स्क्रीन शॉट से आप भी इस बात की पुष्टि कर सकते है |

इसके बाद हमने गूगल पर सुमित कुमार के नाम से ढूँढा तो हमें अलग अलग वर्णन मिले |

Jagran नामक एक वेबसाइट ने सुमित कुमार के IAS बनने तक का पूरा सफ़र लिखा है |

JagranPost | ArchivedLink

C:\Users\Fact5\Desktop\Carpenter became IAS\1.20.jpg

इस प्रकाशन मे दर्शाये गए सुमित कुमार का चेहरा उपरोक्त पोस्ट में साझा फोटो के चेहरे से ना मिलने के कारण हमने फिर सुमित कुमार को फेसबुक और ट्विटर मे ढूँढा और हमें जागरण के प्रकाशन मे दर्शाया गया सुमित कुमार मिला |
FacebookA/C | TwitterA/C

इन अकाउंट मे हमें सुमित कुमार द्वारा जारी पोस्ट और ट्वीट मिले, जिसमे उन्होंने लिखा है कि न्यूज़ मे ग़लत सुमित कुमार को दर्शाया गया है |

C:\Users\Fact5\Desktop\Carpenter became IAS\1.10.jpg

सुमित कुमार ने ११ अप्रैल २०१९ को किये फेसबुक पोस्ट में ALTNEWS का एक आर्टिकल साझा किया है, जो पढने पर यह बात साफ़ हो जाती है कि किस तरह समान नाम होने के कारण हर कोई ग़लतफ़हमी का शिकार हो जाता है |
ALTNEWSPost | ArchivedLink

इस बात पर हमें TOI द्वारा प्रकाशित ख़बर भी मिली, जिसमे उन्होंने इस ग़लतफ़हमी  का खुलासा भी किया है |
TOIPost | ArchivedLink

निष्कर्ष : ग़लत

तथ्यों की जांच से इस बात की पुष्टि होती है कि उपरोक्त पोस्ट मे किया गया दावा ‘एक मिस्त्री का काम करने वाले सुमित कुमार ने भारतीय प्रशासनिक सेवा में ५३वी रैंक हासिल की है!’ ग़लत है | UPSC मे ५३ वी रैंक हासिल करने वाला सुमित कुमार उपरोक्त पोस्ट मे दर्शाये जाने वाला सुमित कुमार नहीं, बल्कि दूसरी व्यक्ति है |

Avatar

Title:क्या कल तक एक मिस्त्री का काम करने वाला सुमित विश्वकर्मा बन गया IAS ऑफिसर ? जानिये सच |

Fact Check By: Nita Rao 

Result: False


  • 9
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    9
    Shares

Leave a Reply