शांतिनिकेतन में रवीन्द्र भवन की विजिटर बुक में हस्ताक्षर करते हुये गृहमंत्री की तस्वीर को भ्रामक दावे के साथ किया वायरल किया गया है |

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

हाल ही में गृह मंत्री अमित शाह के बंगाल दौरे के बाद से ही उनके इस दौरे को लेकर सोशल मीडिया  पर कई गलत व भ्रामक ख़बरें वायरल होतीं चली आ रही हैं | इसी संदर्भ में उनकी एक तस्वीर वायरल होती दिख रही  है, जिसमें गृह मंत्री अमित शाह एक जगह पर बैठे हुए बड़ी-सी किताब में कुछ लिखते हुए नज़र रहे हैं। इस तस्वीर को सोशल मीडिया पर तेजी से फैलाते हुए दावा किया जा रहा है कि रवीन्द्रनाथ टैगोर के बाद इस स्थान पर आजतक कोई नहीं बैठा, अमित शाह पहले ऐसे शख्स हैं जो वहां पर बैठे हुए हैं |

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि

 “गुरूदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर के बाद इस पवित्र स्थान पर आजतक कोई नहीं बैठा। दुनिया के तमाम विशिष्ट अतिथि यहां आते रहते हैं और इस आसन को श्रृद्धा अर्पण करते हैं। ये अशिक्षित तड़ीपार ने इस आसान को पिछले दिनों शांतिनिकेतन आकर कलंकित कर गया।”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने पाया कि रवीन्द्रनाथ टैगोर के शांतिनिकेतन स्थित रवीन्द्र भवन में जिस स्थान पर अमित शाह बैठे हुए हैं वहां पहले भी काफी सारे प्रतिष्ठित व्यक्तियों ने बैठकर अपना अनुभव उस पुस्तक में दर्ज किया है।

जाँच की शुरुवात हमने इस तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने से की, जिसके परिणाम से हमें अमित शाह के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर २० दिसंबर २०२० को किए गये कुछ ट्वीट मिले | हमें  ट्वीट में अमित शाह की वह तस्वीर भी नज़र आयी, जिसे वायरल किया जा रहा है। ट्वीट के कैप्शन में लिखा गया है कि,

 “शांतिनिकेतन में रवीन्द्र भवन में भारत के सबसे महान विचारकों में से एक, गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर को श्रद्धांजलि दी। भारत के स्वतंत्रता आंदोलन में गुरुदेव के योगदान को हमेशा याद किया जाएगा और उनके विचार हमारी आने वाली पीढ़ियों को प्रेरित करते रहेंगे |”

आर्काइव लिंक

अमित शाह की यह तस्वीर हमें दुसरे न्यूज़ रिपोर्ट्स में भी मिली जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि 

“गृह मंत्री ने शांतिनिकेतन के रवीन्द्र भवन में विज़िटर बुक में हस्ताक्षर किये |”

आर्काइव लिंक 

तद्पश्चात हमने गूगल पर कीवर्ड सर्च के माध्यम से यह जानने की कोशिश की कि क्या अबतक रवीन्द्र भवन में उस जगह कोई नहीं बैठा जहाँ अमित शाह बैठे हुए है | इस सर्च के परिणाम से हमें pmindia.gov.in पर बांग्लादेश की प्रधानमंत्री हसीना शेख की तस्वीर मिली | इस तस्वीर में वह ठीक उसी जगह बैठी हुई किताब पर कुछ लिखती हुई नज़र आईं। तस्वीर के कैप्शन में लिखा है कि, 

” बांग्लादेश की प्रधानमंत्री, शेख हसीना २५  मई, २०१८ को पश्चिम बंगाल में शांति निकेतन में विजिटर बुक पर हस्ताक्षर करती हुई।”

इसके आलावा हमें विश्व भारती ट्विटर प्रोफाइल पर हमें पीएम मोदी की भी उसी जगह पर बैठकर हस्ताक्षर करते समय की तस्वीर मिली। २५ मई २०१८ को किये गए इस ट्वीट में लिखा है, 

“विश्वभारती के विसिटर्स बुक पर हस्ताक्षर करते हुए पीएम मोदी |”

आर्काइव लिंक

फैक्ट क्रेसेंडो ने विश्व भारती के रजिस्ट्रार अशोक कुमार महतो से संपर्क किया जिन्होंने हमें बताया कि 

तस्वीर में दिख रही यह जगह विजिटर बुक पर लिखने का स्थान है, जब कोई भी वी.आई.पी शांतिनिकेतन स्थित रवींद्र भवन आता है तो वहीं बैठ कर अपना अनुभव लिखता है और उसके बाद इस बुक में अपना हस्ताक्षर करतें है | अमित शाह के पहले भी कई सारे गणमान्य व्यक्तित्वों ने इसी जगह पर बैठकर अपना अनुभव इस पुस्तिका में दर्ज कर अपने हस्ताक्षर किये हैं |”  

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | रवीन्द्रनाथ टैगोर के शांतिनिकेतन स्थित रवीन्द्र भवन में जिस जगह पर अमित शाह बैठे हुए हैं वहां पहले भी काफी सारे गणमान्य व्यक्तित्वों ने बैठकर अपने अनुभव पुस्तक में दर्ज किये हैं |

Avatar

Title:शांतिनिकेतन में रवीन्द्र भवन की विजिटर बुक में हस्ताक्षर करते हुये गृहमंत्री की तस्वीर को भ्रामक दावे के साथ किया वायरल किया गया है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •