राहुल गाँधी ने पाकिस्तान को चेताया, २०१९ में कांग्रेस आ रही है, हद में रहो वर्ना नक़्शे पर भी नहीं रहोगे | क्या यह सच है?

False Headline National
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२३ जनवरी २०१९ को पहली बार फेसबुक पर साझा की गई न्यूज़ एक्सप्रेस की यह खबर फिर से साझा की जा रही है | हाल ही में हुए पुलवामा हमले के बाद यह पोस्ट काफी चर्चा में है | हैडलाइन में यह कहा गया है कि राहुल गाँधी ने पाकिस्तान को चेताया की २०१९ में कांग्रेस आ रही है, हद में रहो वर्ना नक़्शे पर भी नहीं रहोगे | हमने इसकी सच्चाई जानने की कोशिश की |  

ARCHIVE NEWS EXPRESS


देखते है फेसबुक पर किसने और कितनी बार इस न्यूज़ को पोस्ट किया है | BJP मुक्त भारत ने जो पोस्ट की है उसपर ६५ कमेंट्स है तथा १६९४ बार शेयर की गई है |

ARCHIVE BJP मुक्त भारत

I SUPPORT RAHUL GANDHI की फेसबुक पोस्ट : ९७ शेअर

ARCHIVE I SUPPORT RAHUL GANDHI

किरण यादव की फेसबुक पोस्ट : ४२ शेअर

ARCHIVE KIRAN YADAV

हाल ही में जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में हुए आतंकी हमले के बाद राहुल गाँधी द्वारा प्रेस कांफ्रेंस में एक बयान दिया गया | वह बयान भी सुना जा सकता है |

ARCHIVE VIDEO

अब देखते है स्टोरी में क्या है…

पूरी खबर पढने व प्रेस कांफ्रेंस के विडियो का आंकलन करने के पश्चात यह पता चलता है कि राहुल गाँधी ने मीडिया से बात करते हुए वह बात बिलकुल नहीं कही जैसा की हैडलाइन में कहा गया है | असल में राहुल ने कहा कि वह चाहते है की पाकिस्तान के साथ भी बेहतर सम्बन्ध प्रस्थापित हो | पाकिस्तान अपनी हरकते सुधार ले | उन्हें सहिष्णुता बरतनी होगी | सो वास्तविक खबर में वह कहीं भी नहीं कहा गया जो कि हैडलाइन में कहा गया है की राहुल गाँधी ने पाकिस्तान को चेताया की २०१९ में कांग्रेस आ रही है, हद में रहो वर्ना नक़्शे पर भी नहीं रहोगे |

जांच का परिणाम :  इससे ये स्पष्ट होता है कि वास्तव में मीडिया से बात करते हुए राहुल गाँधी ने वह सब बातें नहीं की जो की खबर की हैडलाइन में कहा गया है | हैडलाइन में किया गया दावा गलत साबित होता है | अतः इस खबर का हैडलाइन गलत है |

False Headline Title: राहुल गाँधी ने पाकिस्तान को चेताया, २०१९ में कांग्रेस आ रही है, हद में रहो वर्ना नक़्शे पर भी नहीं रहोगे | क्या यह सच है?
Fact Check By: Rajesh Pillewar 
Result: False Headline (यह शीर्षक गलत है)

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •