मुनव्वर राना: सहरा पे बुरा वक़्त मिरे यार पड़ा है, दीवाना कई रोज़ से बीमार पड़ा है….

Fake News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

यह चित्र हमने कविशाला की वेबसाइट से प्रतिनिधित्व के हेतु लिया है । इस चित्र का निचे दिए लेख के साथ कोई सम्बन्ध नहीं है ।

मुनव्वर राना जी साहित्य जगत में एक ऐसा नाम है जिन्हें हिंदी व उर्दू जगत से जुड़े हर साहित्यप्रेमी भली भांति जनता है, उर्दू भाषा के क्षेत्र में उनके अभूतपूर्ण योगदान के लिए  उनको २०१४ में भारतीय सरकार ने साहित्य अकादेमी पुरस्कार से नवाज़ा था, इस लखनऊ के रहिवासी व आधुनिक उर्दू कवी को आजकल सोशल मीडिया पर, उनके इंतेकाल की खबर से काफ़ी प्रचलित किया जा रहा है |

उनके चाहनेवालों ने राना जी की शायरियों को साझा करते हुए उनको याद किया |

मुनव्वर जी हाल फ़िलहाल में अस्वस्थ चल रहे थे, राना जी को सीने में दर्द की शिकायत के बाद लखनऊ के संजय गांधी पीजीआई में भर्ती कराया गया था, उनकी नासाज़  तबियत व अस्पताल में भर्ती कि खबरों को काफ़ी मिडिया संगठनो ने प्रेषित किया |

PrabhatKhabar | AmarJwala | Navbharat Times | Dainik Bhaskar

सोशल मीडिया पर विविध कथन :

राना जी के चाहनेवालों ने सोशल मीडिया पर दुख जाहिर कर उनकी शायरियों साझा की |

सोशल मीडिया पर लोगो ने राना जी के ना रहने कि बात को भी शेयर किया |

कुछ लोगो ने इस बात के विरोध मे यह भी कहा है कि यह खबर झूठ व गलत है |


हमारे द्वारा किये गए तथ्यों के जांच का परिणाम:

हमारे तथ्यों कि जांच करने के बाद हम यह कह सकते है कि राना जी के इंतेकाल की खबर गलत है |

४ फेब्रुअरी को वे अस्पताल मे भर्ती हुए थे और इलाज के बाद अब वे स्वस्थ है |

५ फेब्रुअरी को मुनव्वर राना जी ने अपने ट्वीटर अकाउंट से एक ट्वीट करते हुए उनके जल्दी स्वस्थ होने के लिए अपने शुभचिंतको से, दुवाओं की गुज़ारिश की है व सेहत ठीक ना रहने कि बात को एक शायरी द्वारा बताते है | उस संदेश के साथ हम एक चित्र भी देख सकते है जिसमे राना जी अस्पताल मे बैठे है |

जब सोशल मीडिया पर यह बात प्रचलित हुई कि उनका इंतेकाल हो गया है, उसी दिन ५ फेब्रुअरी को राना जी ने अपने जीवित रहने कि बात की पुष्टि की | उन्होंने ट्वीटर पर यह कहा कि “आप सभी चाहनेवालो कि मोहब्बत और दुआओं कि बदौलत हमारी सेहत मे काफ़ी सुधर है | अभी अफ़सोस करने कि कोई ज़रूरत नहीं है….मैं अभी जिंदा हु | मजीद दुआओं कि दरख्वास्त | फकीर – मुनव्वर राना”

हैदराबाद डेक्कन द्वारा अपलोड किये गए विडियो मे हम मुनव्वर जी को देख सकते है, जहाँ वे यह कहते है कि उनके बीमार होने कि बात को मृत्यु का रूप दे दिया गया है, जिससे लोगो के बीच काफ़ी परेशानी पैदा हुई है | उन्होंने सबको शुक्रिया अदा किया और उनके जिंदा रहने कि बात की पुष्टि कि |

फैक्ट क्रेस्सन्डो ने मुनव्वर जी के बेहद करीबी और अज़ीज़ मित्र श्री नज़र बिजनौरी जी से टेलीफोन पर संपर्क कर बात कि, नज़र बिजनौरी जी ने हमे बताया कि मुनव्वर जी बिलकुल स्वस्थ है, और हो सकता है कि आज शाम या देर रात तक उन्हें पीजीआई लखनऊ से डिस्चार्ज कर दिया जायेगा |

निष्कर्ष:
मुनव्वर जी कि मृत्यु की जो अफ़वाह है वो सरासर झूठी है, जिसकी पुष्टि उनके करीबी मित्र नज़र बिजनौरी जी व स्वयं मुनव्वर जी ने अपने ट्वीट और विडियो के द्वारा की | फैक्ट क्रेस्सन्डो मुनव्वर राना जी को जल्दी स्वस्थ होने व उनकी लम्बी उम्र कि कामना करते है |

MFake Title: मुनव्वर राना: सहरा पे बुरा वक़्त मिरे यार पड़ा है, दीवाना कई रोज़ से बीमार पड़ा है….”
Fact Check By: Drabanti Ghosh 
Result: Fake

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply