देश में विकास लाने का दावा करने वाले राहुल का हुआ अमेठी में इतना बुरा हाल- सड़कों पर गड्ढे ही गड्ढे – क्या यह सच है?

False National Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

१३ फरवरी २०१९ को लाइवबवाल की वेबसाइट द्वारा किये गए पोस्ट को फेसबुक पर काफ़ी लाईकस मिली व इस पोस्ट को काफ़ी तेजी से साझा भी किया जा रहा है। उक्त खबर की हैडलाइन मे यह लिखा गया है कि “देश में विकास लाने का दावा करने वाले राहुल का हुआ अमेठी में इतना बुरा हाल- सड़कों पर गड्ढे ही गड्ढे” । आगे यह भी कहा गया है की राहुल गाँधी के संसदीय क्षेत्र का इतना बुरा हाल है की वो खुद परेशान है | आधा किलोमीटर पैदल  चलने के बाद गाड़ी में बैठते ही उन्होंने गाड़ी घुमा लेने का आदेश दिया ।
आर्काइवलिंक

LiveNews | आर्काइव लिंक

LiveBihar | आर्काइव लिंक

देखते है कि क्या वास्तव में राहुल गाँधी के अपने ही संसदीय क्षेत्र की सड़कों का इतना बुरा हाल है?
जी नहीं । हमारे द्वारा तथ्यों कि जांच करने पर हमने पाया कि लाइव बवाल द्वारा अपलोड किया गए उपरोक्त चित्र असल मे तीन अलग अलग छवियों को मिलाकर बनाया गया है व यह दावा किया गया है की पृष्ठभूमि में दिखाई गयी छवि अमेठी, उत्तर प्रदेश की है। 
क्या वास्तव मे नीचे दिखाई गयी जगह अमेठी है?
नहीं, नीचे हम पहली छवि का वास्तविक और नकली संस्करण देख सकते हैं।

उपरोक्त छावी की जांच करने पर हमने पाया कि बाई तरफ दिए गए छवि पे यह दावा किया गया है की यह छवि अमेठी के किसी सड़क की है व राहुल गाँधी की छवी को आधा देखा जा सकता है । जांच पश्चात  हमने पाया कि मूल छवी नेशनल हाईवे ८० भागलपुर, बिहार की है जो की दायीं तरफ देखी जा सकती है । अभिषेक प्रियदर्शी ने यह फोटो ट्विटर पर २४ दिसम्बर २०१६ में अपलोड किया था।

आर्काइव लिंक

नीचे हम दूसरी छवि का वास्तविक और नकली संस्करण देख सकते हैं।

उपरोक्त छवी की जांच करने पर हमने पाया कि बाई तरफ दी गई छवि अमेठी की है परंतु राहुल गांधी की छवि इस तस्वीर के ऊपर अलग से लगाई गयी है । दाई तरफ हम मूल छवि देख सकते है जो वास्तव में अमेठी बाईपास का है जब ५ जुलाई २०१८ को राहुल गांधी वहाँ दो दिन निरीक्षण के लिए गए थे । यह चित्र ५ जुलाई २०१८ को न्यूज़ १८ के वेबसाइट द्वारा अपलोड किया गया था ।

News18 आर्काइव लिंक

नीचे हम तीसरी छवि का वास्तविक और नकली संस्करण देख सकते हैं।

उपरोक्त छवि, राहुल गांधी जी के किसी झोपड़ी से बाहर निकलते वक्त ली गई है, जब इस फोटो को हमने गूगल रिवर्स पर डाल कर ढूंढा, तब हमें अनेक मीडिया संस्थानों के भिन्न भिन्न लेखों मे इस चित्र का इस्तमाल किया हुआ पाया।

निष्कर्ष:
तथ्यों की जांच के बाद हमने पाया
पहला चित्र NH-80 भागलपुर का है
दूसरा चित्र अमेठी के बाईपास का है
तीसरा चित्र राहुल गांधी जी के एक झोपड़े से बाहर आने का है

हमने उपरोक्त छवि को गलत पाया है क्योंकि किसी ने इन तीनो चित्रों को फोटोशोप कर एक चित्र के रूप में पेश किया है|

False Title: देश में विकास लाने का दावा करने वाले राहुल का हुआ अमेठी में इतना बुरा हाल- सड़कों पर गड्ढे ही गड्ढे – क्या यह सच है?
Fact Check By: Drabanti Ghosh 
Result: False

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •