२०१८ के मुहर्रम जलूस में हुई मारपीट का वीडियो कश्मीर की वर्तमान स्थिति के नाम से फैलाया जा रहा है |

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२ सितम्बर २०१९ को “Khadim Raza” नामक एक फेसबुक यूजर ने एक वीडियो पोस्ट किया था, जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “कश्मीर मैं मोदी सरकार आजादारी को नेस्त नाबुत कर रही हैं आज ये कश्मीर मैं हो रहा हैं कल यहा भी होगा | खादिम रज़ा |” इस विडियो को सोशल मीडिया पर काफी तेजी से साझा किया जा रहा है साथ ही यह दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो कश्मीर की वर्तमान स्थिति को दर्शाता है, जिसमे हम पुलिस बल को कश्मीरियों पर लाठी चार्ज करते हुए देख सकते है | फैक्ट चेक किये जाने तक यह वीडियो ३८०० प्रतिक्रियाएं प्राप्त कर चुका था|

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव वीडियो 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जाँच की शुरुआत इस वीडियो इन्विड टूल का इस्तेमाल करते हुए छोटे कीफ्रेम्स में तोडा व गूगल रिवर्स इमेज सर्च किया, परिणाम से हमें २१ अक्टूबर २०१८ को DBTV द्वारा प्रसारित एक वीडियो मिला, जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “भारतीय सेना ने कश्मीर के जिला कुलगाम में ८ कश्मीरीयों को मार गिराया है |” इस वीडियो में हम वायरल वीडियो के कुछ दृश्य देख सकते है | इससे ये तो स्पष्ट हो जाता है कि ये वीडीओ वर्तमान का नही है बल्कि पुराना है | 

वीडियो को बारीकी से देखा जाये तो हमें वीडीओ में AP लिखा नज़र आता है, इसके पश्चात हमने यूट्यूब पर “AP Kashmir 2018” जैसे कीवर्ड्स का इस्तेमाल करते हुए इस वीडियो को ढूँढा | परिणाम से हमें २४ सितम्बर २०१८ को AP Archive द्वारा प्रसारित वीडियो मिला | इस वीडियो से शीर्षक में लिखा गया है कि “कश्मीर में पुलिस ने मुहर्रम के जुलूस को जबरदस्ती निकालने के कारण आंसू गैस के गोले दागे |” साथ ही लिखा गया है कि भारतीय नियंत्रित कश्मीर में पुलिस ने बुधवार को शिया मुस्लिमो द्वारा निकाले मुहर्रम के जलूस को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस छोड़ी क्योंकि उन्होंने सुरक्षा प्रतिबंधों की अवहेलना करते हुए मुहर्रम के जुलूस में भाग लिया था | 

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | यह वीडियो कश्मीर की वर्तमान स्थिति को नही दर्शाता है बल्कि यह २०१८ को मुहर्रम के जलूस के दौरान हुयी झड़प का  वीडियो है |

Avatar

Title:२०१८ के मुहर्रम जलूस में हुई मारपीट का वीडियो कश्मीर की वर्तमान स्थिति के नाम से फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •