पाकिस्तान स्थित कघान घाटी में गाड़ियों की लम्बी कतारों के वीडियो को हिमांचल प्रदेश का बता वायरल किया जा रहा है।

False Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

हालही में हिमांचल प्रदेश के किन्नौर में आये भूस्खलन के चलते सोशल मंचों पर कई वीडियो व तस्वीरें साझा की जा रही है। इसी संबद्ध में एक वीडियो इंटरनेट पर काफी वायरल हो रहा है, उस वीडियो में हम एक पहाड़ी क्षेत्र में गाड़ियों की लम्बी कतारें देख सकते है, इस वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि हिमांचल प्रदेश के किन्नौर में हुये भूस्खलन के चलते वहाँ से पर्यटक वापस जा रहे हैं और इसलिये इतना ट्रैफिक जाम हो गया है।

वायरल हो रहे वीडियो के शीर्षक में लिखा है,

 हिमांचल प्रदेश से पर्यटक वापिस लौट रहे हैं ,खुद के आनंद के लिये गये थे दूसरों को भी परेशान कर वापिस लौट रहे हैं।“

फेसबुक | आर्काइव लिंक

आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान पाया कि वायरल हो रहे वीडियो में दिख रहा दृश्य पाकिस्तान में  स्थित कघान घाटी में हुये ट्रैफिक जाम का है। इस वीडियो का हिमांचल प्रदेश, उसके पर्यटक व किन्नौर में हुये भूस्खलन से कोई सम्बन्ध नहीं है।

जाँच की शुरुवात हमने वायरल हो रहे वीडियो को इनवीड-वी वैरिफाइ टूल के माध्यम से छोटे कीफ्रेम्स में काटकर गूगल पर रीवर्स इमेज सर्च कर किया, परिणाम में हमें 24 डिजिटल नामक वेबसाइट पर एक समाचार लेख इस वर्ष 25 जुलाई को प्रकाशित किया हुआ मिला। इस लेख में वायरल हो रहे वीडियो में दिख रहे दृश्य की तस्वीर प्रकाशित की गयी है व इसमें लिखा है कि, “कघान घाटी में पर्यटक रास्ते पर फंस गये है और ट्रैफिक जाम के कारण हजारों लोग गहरे संकट में है।“

आर्काइव लिंक

कघान घाटी में हुये ट्रैफिक जाम के बारे में अधिक जानकारी पाने के लिये आप डेली टाइम्स द्वारा प्रकाशित ये समाचार लेख भी पढ़ सकते है। इस लेख के मुताबिक ईद की छुट्टियों के कारण हज़ारों की तादाद में पर्यटक कघान घाटी गये थे व इस वजह से वहाँ इतना ट्रैफिक जाम हो गया था।

इसके बाद अधिक जाँच करने पर हमें 24 डिजिटल के आधिकारिक व वैरिफाइड यूट्यूब चैनल 24 न्यूज़ एच.डी पर इस वर्ष 26 जुलाई को वायरल हो रहे वीडियो का विस्तारित संस्करण प्रसारित किया हुआ मिला। वीडियो के शीर्षक में लिखा है, “पाकिस्तान के उत्तरी क्षेत्रों की यात्रा से पहले वीडियो अवश्य देखें।“  

आर्काइव लिंक

उपरोक्त वीडियो में दी गयी जानकारी से हमें समझ आया कि वायरल हो रहा वीडियो पाकिस्तान में स्थित कघान घाटी का है।

इसके बाद फैक्ट क्रेसेंडो ने पाकिस्तान में स्थित इजहारुल्लाह नामक एक पत्रकार से संपर्क किया तो उन्होंने वायरल हो रहे दावे को गलत बताते हुये कहा कि, “वायरल हो रहा दावा गलत है। यह वीडियो भारत के हिमांचल प्रदेश का नहीं है बल्कि पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा के मनसेहरा जिले में स्थित कघान घाटी का है। हालही में ईद के मौके पर कई लोग कघान घाटी घूमने के लिये गये थे। कघान घाटी पाकिस्तान में लोगों के लिये दर्शनीय स्थलों में से एक है।

आपको बता दें कि इजहारुल्लाह द इंडिपेंडेंट के इंडिपेंडेंट उर्दू में एक पत्रकार है।  

तत्पश्चात गूगल पर अधिक कीवर्ड सर्च करने पर हमें हिमांचल प्रदेश पुलिस के आधिकारिक फेसबुक पेज पर इस वर्ष 26 जुलाई को यही वीडियो प्रसारित किया हुआ मिला। वीडियो के शीर्षक में हिमांचल प्रदेश पुलिस ने स्पष्टीकरण दिया है वायरल हो रहा वीडियो हिमांचल प्रदेश का नहीं है व वायरल हो रहा दावा गलत है। उन्होंने लिखा है, “सोशल मीडिया में एक फर्जी पोस्ट चल रही है जिसमें वीडियो और तस्वीरें एचपी में भारी ट्रैफिक जाम दिखाते हुए प्रसारित की जा रही हैं। तथ्यों की जांच और सत्यापन किया गया है। इनमें से कोई भी तस्वीर और वीडियो हिमांचल प्रदेश से संबंधित नहीं है। यातायात सुचारू रूप से चल रहा है। फेक न्यूज फैलाने से पहले सूचित करें। यह कानूनी कार्रवाई को आकर्षित करेगा।“

फेसबुक | आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल हो रहे वीडियो के साथ किया गया दावा गलत है। यह वीडियो पाकिस्तान में  स्थित कघान घाटी में हुये ट्रैफिक जाम का है। इस वीडियो का हिमांचल प्रदेश, उसके पर्यटक व किन्नौर में हुये भूस्खलन से कोई सम्बन्ध नहीं है।

फैक्ट क्रेसेंडो द्वारा किये गये अन्य फैक्ट चेक पढ़ने के लिए क्लिक करें :

१. आम आदमी पार्टी (गुजरात) के बिल बोर्ड को डिजीटली एडिट कर उमसे सांप्रदायिक संदेश जोड़, भ्रामक सन्देश के साथ वायरल किया जा रहा है|

२. कांग्रेस विधायक रामकेश मीणा के एक पुराने वीडियो को उनके हालिया विवादित ध्वज प्रकरण के पश्चात लोगों द्वारा उन्हें पीटने का बता फैलाया जा रहा है।

३. समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव द्वारा राम मंदिर पर किया कथित विवादित ट्वीट का स्क्रीनशॉट ट्वीट फर्ज़ी है।

Avatar

Title:पाकिस्तान स्थित कघान घाटी में गाड़ियों की लम्बी कतारों के वीडियो को हिमांचल प्रदेश का बता वायरल किया जा रहा है।

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •