बुर्केधारी आदमी का वीडियो शाहीन बाग़ से नही है बल्कि २०१९ का गोवा से है |

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) का विरोध भारत के कई हिस्सों में व्यापक रूप से हो रहा है, और इन विरोधों का केंद्रबिंदु दिल्ली का शाहीनबाग़  बन चूका है | इसीके चलते सोशल मीडिया पर आये दिन शाहीनबाग़ को लेकर कई भ्रामक दावे किये जाते रहें हैं और इसी श्रृंखला में अब सोशल मंचो पर एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमें दावा किया गया है कि कुछ पुरुष बुर्का पहन के शाहीनबाग के विरोध प्रदर्शनो में हिस्सा ले रहे हैं, वीडियो में देखा जा सकता है कि एक व्यक्ति को कुछ लोग पीट रहे हैं, यहाँ यह दावा किया जा रहा है कि घटना शाहीन बाग में हुई थी जब इस व्यक्ति को वहाँ पर पकड़ा गया तब ये बुर्का पहन अपने को महिला बता वहाँ हो रहे प्रदर्शन में हिस्सा ले रहा था |

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि “गिरी हुई औकात जिहादी के, शाहीनबाग में सिर्फ औरते बुर्का नही पहनकर बैठी है इनके, मुल्ले भी बुर्का पहन कर protest कर रहे है, ये जाहिल लोग अब बेचारी मुस्लिम औरतों के बुर्का पर भी कब्जा करना चाहते है |”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

यह वीडियो फेसबुक पर काफी तेजी से साझा किया जा रहा है |

अनुसंधान से पता चलता है कि…

इस वीडियो में हम भीड़ में लोगो को मराठी में बात करते हुए सुन सकते है | वीडियो के शुरुवात में हम एक आदमी को “उपमन्यु बस स्टैंड पंजिम” कहते हुए सुन सकते है | गूगल पर “बुर्काधारी आदमी बस स्टैंड पर पकड़ा गया” जैसे कीवर्ड्स के माध्यम से हमने इस वीडियो से संबंधित ख़बरें ढूँढने की कोशिश की, परिणाम में हम १७ फरवरी २०१९ को ANI द्वारा प्रकाशित एक खबर मिली | इस खबर के अनुसार यह घटना गोवा में पणजी बस स्टैंड की है | 

रिपोर्ट के अनुसार वर्जिल फर्नांडिस नाम का एक शख्स बुर्का पहने बस स्टैंड के महिला शौचालय में घुस गया था | शौचालय के अंदर कुछ महिलाओं को उनकी गतिविधियों को देखकर संदेह हुआ और उन्होंने अलार्म बजाया | खुद को पकड़े और घिरता हुआ देखकर, आदमी ने मौके से भागने की कोशिश की लेकिन पास में मौजूद कुछ लोगों ने उसे दबोच लिया | उसके बाद उसकी पिटाई की गई | उसके खिलाफ पुलिस केस भी दर्ज किया गया था |

आर्काइव लिंक
इस खबर को अन्य मीडिया संगठनों ने भी साझा किया है | 

टाइम्स ऑफ़ इंडियाआर्काइव लिंक
दैनिक भास्करआर्काइव लिंक
द न्यूज़ इंडियन एक्सप्रेसआर्काइव लिंक
हिंदुस्तान टाइमआर्काइव लिंक

अवेक गोअंस न्यूज़ नामक एक यूट्यूब चैनल ने १६ फरवरी, २०१९ को यूट्यूब पर वीडियो के शीर्षक में लिखा गया है कि “बुर्काधारी आदमी वर्जिल फर्नांडिस को पंजिम पुलिस ने कथित तौर पर मुस्लिम महिला के रूप में वेश बदलकर घुमने के लिए किया गिरफ्तार |”

इसके बाद हमने गूगल मैप्स पर “उपमन्यु बस स्टैंड पंजिम” को ढूँढा जिसके परिणाम में हमें पणजी बस स्टैंड का स्ट्रीट व्यू दिखा | वीडियो में दिखाए गये बैकग्राउंड और गूगल स्ट्रीट व्यू में उपलब्ध तस्वीरें समान है | इससे हम स्पष्ट है की यह घटना गोवा से ही है | निचे आप वायरल वीडियो का स्क्रीन्ग्राब और गूगल स्ट्रीट व्यू में दिखाए गये तस्वीरों की समानतायें देख सकते है | 

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | यह वीडियो दिल्ली के शाहीन बाग़ से नही है बल्कि गोवा से है | इस वीडियो के साथ वर्तमान में चल रहे CAA और NRC से कोई संबंध नही है | यह घटना फ़रवरी २०१९ की है जब गोवा में एक आदमी बुर्का पहनकर मुस्लिम महिला बन घूम रहा था | 

Avatar

Title:बुर्केधारी आदमी का वीडियो शाहीन बाग़ से नही है बल्कि २०१९ का गोवा से है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply