बुजुर्ग के साथ बच्ची के वायरल वीडियो की कहानी कुछ और है, इसका रेप जैसे संवेदनशील मामले से नहीं है कोई संबंध….

False International

ईरान के टीवी सीरीज के एक सीन को पाकिस्तान में 7 साल की नाबालिग लड़की के साथ दुष्कर्म के झूठे दावे से वायरल।

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमें एक जगह पर एक बुजुर्ग को एक बच्ची के साथ खेत में छुपते हुए दिखाया जा रहा है। दावा किया जा रहा है कि पाकिस्तान के जकोबाबाद में 86 साल के मोहम्मद मोईनुद्दीन ने नाबालिग लड़की के साथ दुष्कर्म करने की कोशिश की। वीडियो को इस कैप्शन के साथ शेयर किया जा रहा है…

पाकिस्तान के जकोबाबाद में 86 साल का दरिंदा मोहम्मद मोइनुद्दीन कैमरे में कैद, 7 साल की नाबालिग लड़की के साथ यौन उत्पीड़न करते पकड़ा गया।

फेसबुक पोस्टआर्काइव पोस्ट 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

हमने जांच की शुरुआत में वीडियो के कई कीफ्रेम निकाले और उन्हें  गूगल रिवर्स इमेज सर्च किया। हमें वायरल वीडियो का लंबा वर्जन जेवियर नाम के एक एक्स अकाउंट पर पोस्ट किया हुआ मिला, जो 20 जून 2024 का है। वहीं कैप्शन के मुताबिक, वायरल वीडियो साल 2004 में रिलीज हुई ईरानी टीवी सीरीज फिल्म जेहरा की नीली आंख का है, जब बुजुर्ग लड़की के साथ इजरायल की पुलिस से बचकर भाग रहा था। इसी दौरान वो खेतों में छुप गया था। 

आर्काइव 

मिली जानकारी के आधार पर हमने गूगल पर संबंधित कीवर्ड्स का इस्तेमाल किया। इससे हमें वायरल वीडियो का लंबा वर्जन तुर्किये के यूट्यूब चैनल नेटवर्क मूवी पर मिला। वीडियो को 26 जनवरी 2024 को अपलोड किया गया था। इसमें 2.32.05 पर वायरल वीडियो वाले सीन को देखा जा सकता है। वहीं मौजूद जानकारी के मुताबिक, यह वीडियो ईरानी टीवी सीरीज जेहरा की नीली आंख का है। जिसके एपिसोड 2004 से लेकर 2005 तक प्रसारित किए गए थे। यह शो एक इजरायली कमांडो, इसहाक ओवेन के बारे में है। जिसका बच्चा देख नहीं सकता था। इसलिए वो उसके लिए नई आंखें तलाश रहा था। इसी दौरान वो फिलिस्तीनी शरणार्थी शिविर में जेहरा नाम की एक लड़की से मिलता है। लड़की की आंखें उसे पसंद आती है और वो उन्हें लेने के पीछे पड़ता है। वहीं वायरल वीडियो में नजर आ रहे शख्स जेहरा के दादा का किरदार निभा रहे थें , जो कि उसे इजरायली कमांडो से बचाने की कोशिश करते हैं। इसी दौरान वो जेहरा को लेकर खेतों में छुप जाते हैं। इसी सीन के वीडियो क्लिप को सोशल मीडिया पर गलत व भ्रामक तरीके से वायरल किया जा रहा है।

आर्काइव

मिडिल ईस्ट की खबरें प्रकाशित करने वाली वेबसाइट memri टीवी पर वायरल वीडियो से जुड़ी जानकारी देखें जा सकते हैं। यहां पर भी यहीं पुष्टि होती है कि जेहरा की नीली आंखें एक ईरानी शो था, जो कि साल 2004 में शुरू हुआ था।

आर्काइव

एक अन्य वेबसाइट पर भी इस सीरीज के बारे में मौजूद जानकारी को देख सकते हैं। 

आर्काइव

निष्कर्ष 

तथ्यों के जांच से यह पता चलता है कि एक पुराने ईरानी शो के दृश्य को गलत तरीके से, पाकिस्तान में मुस्लिम व्यक्ति द्वारा नाबालिग से छेड़छाड़ के रूप में शेयर किया जा रहा है। 

Avatar

Title:बुजुर्ग के साथ बच्ची के वायरल वीडियो की कहानी कुछ और है, इसका रेप जैसे संवेदनशील मामले से नहीं है कोई संबंध….

Fact Check By: Priyanka Sinha 

Result: False

Leave a Reply