मंदिर में पानी पीने पर दलित लड़की को पीटने का दावा गलत…..

False Political

एक बच्ची को कुछ लोगों द्वारा क्रूरता से पीटने का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी शेयर किया जा रहा है। वायरल वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि यूपी में बिना अनुमति के मंदिर से पानी पीने पर दलित समाज की 8 वर्षीय बच्ची की ठाकुरों द्वारा पिटाई की गई। पोस्ट को शेयर करते हुए यूपी की योगी सरकार पर निशाना साधा जा रहा है।

वायरल वीडियो के साथ यूजर ने लिखा है- योगी के राज में लड़कियों की पूजा की जा रही है | बिना अनुमति के मंदिर से पानी पीने पर दलित समाज की 8 वर्षीय लड़की को ठाकुरों द्वारा पीटा जा रहा है और प्रताड़ित किया गया!। पता नहीं इस देश से यह भेद भाव कब खत्म होगा

फेसबुकआर्काइव 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

हमने पड़ताल की शुरुआत में वायरल वीडियो के बारे में जानने के लिए अलग अलग की-वर्ड का इस्तेमाल किया। परिणाम में वायरल वीडियो की खबर हमें एनडीटीवी (आर्काइव) मीडिया रिपोर्ट्स में मिलीं। इस खबर को 29 दिसंबर 2021 को प्रकाशित किया गया है। इसमें वायरल वीडियो मौजूद है। 

खबर के अनुसार यह घटना अमेठी के रायपुर फुलवारी गांव की है। जब गांव निवासी सूरज सोनी के दो मोबाइल फोन चोरी हो गए थे। इसके लिए सूरज ने आरोपी नाबालिग लड़की को बेरहमी से पीटा था।  

घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद पुलिस ने आरोपी सूरज सोनी और अन्य लोगों के खिलाफ मामला भी दर्ज किया था।

29 दिसंबर 2021 को टाइम्स नाउ (आर्काइव) की वेबसाइट पर छपी खबर में भी वायरल वीडियो के कीफ्रेम का इस्तेमाल किया गया है। खबर के अनुसार, मामला अमेठी के रायपुर फुलवारी गांव का है। 

वहां से एक लड़की से मारपीट का वीडियो सामने आया है। आरोप है कि सीसीटीवी फुटेज में लड़की को मोबाइल चुराते हुए पकड़ा गया था, जिसके बाद सूरज सोनी और उसका दोस्त लड़की को पकड़कर घर ले आए और वहां उसे बुरी तरह पीटा। 

इसके अलावा इस खबर को यहां, यहां और यहां पर भी देखा जा सकता है। रिपोर्टस के मुताबिक अमेठी में मोबाइल चोरी के शक में दलित लड़की से पिटाई के मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया। 

सीओ सिटी अर्पित कपूर का कहना है कि 27 दिसंबर 2021 को लड़की के पिता ने पुलिस को शिकायत दी, जिसके बाद केस दर्ज कर तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था। 

लड़की के पिता ने पुलिस को सूचित किया कि उनकी बेटी मानसिक रूप से अस्थिर है और रास्ता भटकने के बाद आरोपी के घर में घुस गई। आरोपी ने उसे चोर समझा और उसकी पिटाई कर दी।

 आरोपियों पर POCSO और SC/ST एक्ट की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया । तीनों आरोपियों शुभम गुप्ता, राहुल सोनी और सूरज सोनी को गिरफ्तार कर लिया गया था। निम्न में खबर देखें। 

आगे पड़ताल में हमें अमेठी पुलिस के एक्स हैंडल पर वायरल वीडियो को लेकर सीओ अर्पित कपूर का बयान मिला। 29 दिसंबर 2021 के इस पोस्ट में वह कह रहे हैं कि वीडियो सामने आने के बाद केस दर्ज कर एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि बाकी की तलाश की जा रही है। वहीं अन्य एक ट्वीट में जानकारी दी गई कि लड़की से मारपीट के तीनों आरोपियों को पुलिस (आर्काइव) ने गिरफ्तार कर लिया है।

निष्कर्ष- 

तथ्य-जांच के बाद हमने पाया कि, मंदिर में पानी पीने पर दलित लड़की को पीटने का दावा गलत है। यह घटना तीन साल पुरानी है, जिसमें लड़की को मोबाइल चोरी के शक में पीटा गया था। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ कारवाई की है।

Avatar

Title:यूपी में बिना अनुमति के मंदिर से पानी पीने पर दलित समाज की 8 वर्षीय बच्ची की ठाकुरों द्वारा पिटाई की गई।

Written By: Saritadevi Samal 

Result: False