पुलिस द्वारा आंसूगैस के गोले दागने का वायरल वीडियो कश्मीर का नहीं बल्कि जकार्ता का है |

False International Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

६ अक्टूबर २०१९ को “बीबीसी न्यूज़ कश्मीर” नामक फेसबुक पेज पर एक वीडियो पोस्ट किया था, जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “पुलिस ने छात्रों के विरोध को दूर करने के लिए आंसूगैस का इस्तेमाल किया ……। #kashmirnews #आजादी #newskashmir” | हाल ही में छात्रों पर पुलिस द्वारा आंसू गैस के गोले दागने का एक वीडियो सोशल मीडिया पर इस दावे के साथ वायरल हो रहा है कि यह घटना कश्मीर से सम्बंधित है | वायरल वीडियो के दाएं कोने पर “बीबीसी न्यूज़ कश्मीर” लिखा हुआ एक लाल और सफेद रंग को LOGO मौजूद है जिससे यह वीडियो सत्य प्रतीत होता है | फैक्ट चेक किये जाने तक यह पोस्ट १७०० प्रतिक्रियाएं प्राप्त कर चुकी थी |

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसन्धान से पता चलता है कि…

जाँच की शुरुआत हमने इस वीडियो को बारीकी से देखने से की इसमें हमें कई चीज़े ऐसी मिली जो इस वीडियो की सत्यता पर संदेह उत्पन्न करती है | ३ मिनट से अधिक लम्बे वीडियो के पहली फ्रेम में हम सुरक्षाकर्मियों को एक पर्दर्शन को रोकने के लिये तैयार होते हुए देख सकते हैं, गौर करने की बात यह है कि पुलिसकर्मी के सुरक्षा कवच के ऊपर “पोलिसी” लिखा हुआ देखा जा सकता है | गूगल ट्रांसलेटर के मदद से हमें पता चला कि इन्डोनेशियाई भाषा में पुलिस को “पालिसी” कहते है | 

इसके पश्चात वीडियो को आगे दखने पर हमें झड़प के बीच में एक आदमी के पास लाल व सफ़ेद रंग का झंडा नज़र आता है | गूगल सर्च करने पर हमने पाया कि यह झंडा इंडोनेशिया का राष्ट्रीय झंडा है |

इसके पश्चात हमने यूट्यूब पर “police use teargas to disperse student in Indonesia” कीवर्ड्स का इस्तेमाल करते हुए हमने इस वीडियो को ढूँढा, परिणामस्वरूप हमें एक वीडियो मिला जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “इंडोनेशिया में छात्र विरोध के विरुद्ध पुलिस ने आंसूगैस का इस्तेमाल किया” | इस वीडियो के विवरण के अनुसार जकार्ता में पुलिस के साथ प्रदर्शनकारियों की झड़प हुई क्योंकि हजारों इंडोनेशियाई छात्रों ने एक नए कानून के खिलाफ अपने प्रदर्शनों को फिर से शुरू किया, जिसमें उन्होंने उन कानूनों के सन्दर्भ में कहा है कि इन नये कानूनों ने देश की भ्रष्टाचार विरोधी एजेंसी को अपंग कर दिया है |

इस वीडियो को देखने पर हमें यह पता चला कि “BBC News Kashmir” का लोगो इस वीडियो पर फोटोशोप के माध्यम से जोड़ा गया है | BBC की अधिकारिक वेबसाइट पर हमें उनका कोई अलग सेगमेंट नही मिला जो यह स्थापित करे की BBC का कश्मीर के जोड़कर “बीबीसी न्यूज़ कश्मीर” नामक कोई अलग चैनल या वेबसाइट है |

अंतर्राष्ट्रीय मीडिया ने इंडोनेशिया में नए भ्रष्टाचार कानून और प्रस्तावित आपराधिक कोड जिसमें शादी से बाहर यौन संबंध भी मौजूद है, के खिलाफ हाल ही में हुए अशांति के बारे में व्यापक रूप से रिपोर्ट की है | १ अक्टूबर २०१९ को, प्रदर्शनकारियों ने जकार्ता में पुलिस के साथ जड़प की, जहां पुलिस को आंसू गैस के गोले का सहारा लेना पड़ा | इस रिपोर्ट को बीबीसी समाचार द्वारा यहां भी देखा जा सकता है |

आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | यह वीडियो कश्मीर का नहीं बल्कि इंडोनेशिया के जकार्ता का है | वीडियो में दिखाए गये लोगो “बीबीसी न्यूज़ कश्मीर” को फोटोशोप के माध्यम से जोड़ा गया है |

Avatar

Title:पुलिस द्वारा आंसूगैस के गोले दागने का वायरल वीडियो कश्मीर का नहीं बल्कि जकार्ता का है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •