महाराष्ट्र में शिवसेना द्वारा केंद्र सरकार के खिलाफ़ किये विरोध प्रदर्शन को बजरंग दल और किसान आंदोलन से जोड़ उत्तर प्रदेश का बताया जा रहा है।

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

वर्तमान में ईंधन के दामों में हुई बढ़ोतरी के पश्चात महाराष्ट्र में जगह जगह शिवसेना द्वारा विरोध प्रद्रर्शन किया जा रहा है। इसी विरोध प्रदर्शन का एक वीडियो सोशल मंचों पर गलत सन्दर्भ के साथ भी साझा किया जा रहा है, वायरल वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि, उत्तर प्रदेश में बजरंग दल के कार्यकर्ता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे है।

वायरल हो रहे वीडियो के शीर्षक में लिखा है,

“गई भेंस पानी में बजरंग दाल वाले भी मोदी हाय हाय चिल्लाने लगे,”

और वीडियो में दी गयी जानकारी में लिखा है,

उत्तर प्रदेश में बजरंग दल ने किसान विरोधी काले कानून के खिलाफ विरोध किया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चोर बोला अब उनको सच्चाई पता चल गयी है, यह चौकिदार नहीं चोर है।”

C:\Users\Fact3\Desktop\FC\Shivsena Petrol price hike protest.png

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान पाया कि वायरल हो रहा दावा गलत है। यह वीडियो महाराष्ट्र के हिंगोली जिले में शिवसेना कार्यकर्ताओं द्वारा केंद्र सरकार के खिलाफ़ किये गए विरोध प्रदर्शन का है।

जाँच की शुरुवात हमने उपरोक्त दावे को कीवर्ड सर्च कर की, परिणाम में हमें ऐसा कोई समाचार लेख नहीं मिला जिसमें ऐसा लिखा गया हो कि बजरंग दल के कार्यकर्ता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे है। तत्पश्चात हमने वीडियो को बारीकी से देखा तो हमने सुना की वीडियो में दिख रहे लोग पेट्रोल और डिजल के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कर रहे हैं। 

इसके बाद हमने वायरल हो रहे वीडियो को इनवीड-वी वैरिफाइ टूल के माध्यम से छोटे कीफ्रेम्स में काटकर गूगल रिवर्स इमेज सर्च के ज़रिये जाँच की। नतीजन हमें गोर कल्चर न्यूज़ नामक एक यूट्यूब चैनल मिला जिसमें वायरल हो रहा यह वीडियो इस वर्ष 5 फरवरी को प्रसारित किया गया था। इस वीडियो के शीर्षक में लिखा है,

 “हिंगोली जिले के शिवसेना के विधायक संतोष बांगर ने रास्ते पर मोदी सरकार चोर है के नारे लगाये।”

आर्काइव लिंक

इसके पश्चात हमने उपरोक्त जानकारी को ध्यान में रखकर हमने विधायक संतोष बांगर से संपर्क किया तो उन्होंने हमें बताया कि, “वायरल हो रहा वीडियो ईंधन के बढ़ते दामों के खिलाफ हिंगोली में हुए विरोध प्रदर्शन का है। ये रैली इस वर्ष 5 फरवरी को हुई थी। वीडियो में आप मुझे नारे लगाते हुए देख सकतें है। ये रैली हिंगोली के गांधी चौक से कलेक्टर ऑफिस तक की गयी थी। वीडियो में दिख रहे लोग शिवसेना के कार्यकर्ता है, ये बजरंग दल के लोग नहीं है।

आपको बता दें कि संतोष बांगर हिंगोली में स्थित कलम्नुरी से विधायक हैं।  

तदनंतर संतोष बांगर ने हमें 5 फरवरी को हुए विरोध प्रदर्शन के कुछ और भी वीडियो भेजे।

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है| यह वीडियो महाराष्ट्र के हिंगोली जिले में शिवसेना कार्यकर्ताओं द्वारा ईंधन के बढ़ते दामों के खिलाफ किये गये विरोध प्रदर्शन की है।

Avatar

Title:महाराष्ट्र में शिवसेना द्वारा केंद्र सरकार के खिलाफ़ किये विरोध प्रदर्शन को बजरंग दल और किसान आंदोलन से जोड़ उत्तर प्रदेश का बताया जा रहा है।

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •