अलग- अलग मामलों से जुड़ी तस्वीरों को बैकुंठपुर में दूसरे चरण के चुनाव से जोड़कर गलत दावों के साथ वायरल किया जा रहा है।

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

बिहार में चल रहे चुनाव के चलते सोशल मंचो पर राजनेताओं के बारे में कई गलत व भ्रामक खबरें वायरल होती चली आ रही है। पिछले दिनों एक भाजपा नेता व रा.ज.द नेता तेजस्वी यादव के बारे में चुनाव के दौरान लोगों में पैसे बाँटने की खबर वायरल हुई थी जो कि गलत थी, वर्तमान में बिहार में दूसरे चरण के चुनाव को लेकर सोशल मंचो पर दो तस्वीरें वायरल हो रहीं हैं, इन तस्वीरों के साथ दावा किया जा रहा है कि बैकुंठपुर के दूसरे चरण के चुनावों से पूर्व एक रा.ज.द नेता की गाडी को पुलिस ने पकड़ लिया है, गाड़ी में भरी मात्रा में पैसे मिले हैं जिन्हें बैकुंठपुर के मतदाताओं में बाँटने के लिए ले जाया जा रहा था । 

वायरल हो रही पहली तस्वीर में आप कुछ लोगों को गाड़ी में बैठे हुए कुछ दस्तावेज़ो का निरीक्षण करते हुए देख सकते है व दूसरी तस्वीर में आप पुलिस को एक मेज़ पर रखी हुई कुछ चीज़ो का निरीक्षण करते हुए देख सकते है।

वायरल हो रही तस्वीरों के शीर्षक में लिखा है, “अभी अभी ताज़ा खबर आरजेडी नेता का पैसों से भरा गाड़ी और पैसा बरामद! जा रहा था बैकुंठपुर के मतदाताओं को बांटने के लिए! दूसरे चरण का चुनाव है कल बैकुंठपुर में!”

C:\Users\Lenovo\Desktop\FC\Baikunthpur1.png

फेसबुक | आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान पाया कि वायरल हो रही दोनों तस्वीरें अलग- अलग मामलों से है। इन तस्वीरों का बैकुंठपुर में हो रहे दूसरे चरण के चुनाव से कोई संबन्ध नहीं है।

जाँच की शुरुवात सबसे पहले हमने कीवर्ड सर्च के माध्यम से इस बात की जाँच करने से की कि क्या सच में दूसरे चरण के मतदान से पूर्व रा.ज.द नेता की पैसों से भरी गाड़ी जो बैकुंठपुर जा रही थी, उसे पुलिस ने पकड़ लिया है। हमें इस विषय पर इंटरनेट पर कोई भी समाचार लेख नहीं मिला। उसके पश्चात हमने इन तस्वीरों का गूगल रीवर्स इमेज के ज़रिये एक-एक कर अनुसंधान किया। 

  1.  पहली तस्वीर 
C:\Users\Lenovo\Desktop\FC\Baikunthpur2.png

उपरोक्त तस्वीर की जाँच के दौरान हमें कई समाचार लेख मिले जिनमें जानकारी दी गयी है कि इस वर्ष अक्टूबर में बिहार के पटना के कांग्रेस के मुख्यालय पर आयकर विभाग ने छापा मारा था और वहाँ से करीब 8.5 लाख रूपये बरामद किये गये थे। समाचार लेखों में लिखा है कि,

C:\Users\Lenovo\Desktop\FC\Baikunthpur4.png

आर्काइव लिंक

  1. दूसरी तस्वीर
C:\Users\Lenovo\Desktop\FC\Baikunthpur3.png

दूसरी तस्वीर की जाँच के दौरान भी हमें कई समाचार लेख मिले जिनमें यह जानकारी दी गयी है कि बिहार के चुनाव से पहले किशनगंज जिले में पुलिस ने दो वाहनों से 65 लाख रुपये से अधिक राशि जब्त की है।

समाचार लेखों में लिखा है कि, “बिहार विधानसभा चुनाव से पहले, किशनगंज जिले में पुलिस ने देर शाम बिहार-बंगाल सीमा के पास दो वाहनों से 65 लाख रुपये से अधिक की नकदी जब्त की। पुलिस का कहना है कि कथित रूप से ये रकम मतदाताओं को प्रभावित करने के लिए उपयोग की जाने वाली थी।

राज्य निर्वाचन आयोग (एस.ई.सी) के अनुसार, 25 सितंबर 2020 से विभिन्न कानून-लागू करने वाली एजेंसियों द्वारा राज्य भर में 12.65 करोड़ रुपये से अधिक नकद जब्त किए गए हैं।

किशनगंज के पुलिस अधीक्षक के अनुसार, राष्ट्रीय राजमार्ग 31 पर रामपुर चेक पोस्ट पर रूटीन नियमित जाँच के दौरान संदिग्ध आरोपियो में से एक वाहन को रोक दिया गया और उस वाहन के बूट में 60.26 लाख रुपये नगद मिले। 

पूछताछ के दौरान वाहन में बैठे शख्स ने कहा कि कैश सैमसंग टी एस्टेट, न्यू जलपाईगुड़ी के मजदूरों के बीच वितरण के लिए था, लेकिन वह कोई वैध दस्तावेज नहीं दे सका। इस मामले में जाँच अभी जारी है।

पुलिस अधिकारी ने एक और वाहन से पैसे जब्त करने की बात कही, उन्होंने कहा कि सिलीगुड़ी के आ रहे एक वाहन से 5 लाख रुपये की राशि जब्त की गयी थी।“

C:\Users\Lenovo\Desktop\FC\Baikunthpur6.png

आर्काइव लिंक

तदनंतर हमने बिहार के गोपालगंज के पुलिस अधिक्षक मनोज कुमार तिवारी से संपर्क किया। हमने उनसे इस बात की जानकारी लेनी चाही कि क्या गोपालगंज के बैकुंठपुर में चुनाव के दूसरे चरण से पहले कोई पैसों से भरी गाड़ी जब्त कि है, इसके जवाब में उन्होंने कहा, 

“वायरल हो रही तस्वीरें गोपालगंज की नहीं है और बिहार चुनाव के दूसरे चरण से पहले पैसो से भरे किसी भी वाहन को हमने जब्त नहीं किया है। सोशल मंचो पर लोग किसी भी विषय में वायरल फेक खबर फैलाते और उनपर हमें भरोसा नहीं करना चाहिए।“

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया है कि उपरोक्त दावा गलत पाया है। वायरल हो रही दोनों तस्वीरें अलग- अलग मामले की है। इन तस्वीरों का बैकुंठपुर में हो रहे दूसरे चरण के चुनाव से कोई संबन्ध नहीं है।

Avatar

Title:अलग- अलग मामलों से जुड़ी तस्वीरों को बैकुंठपुर में दूसरे चरण के चुनाव से जोड़कर गलत दावों के साथ वायरल किया जा रहा है।

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •